Home समाचार विपक्षियों पर भारी बीजेपी का बूथ मैनेजमेंट, मोदी सरकार को मिलेंगी 2014...

विपक्षियों पर भारी बीजेपी का बूथ मैनेजमेंट, मोदी सरकार को मिलेंगी 2014 से ज्यादा सीटें

621
SHARE

लोकसभा चुनाव के लिए छठे चरण में 2014 के मुकाबले करीब आधी फीसदी कम वोटिंग हुई है। 2014 में इन 59 सीटों पर 2009 की तुलना में 9.24 फीसदी ज्यादा वोटिंग हुई थी और बीजेपी को जबरदस्त फायदा हुआ था। पिछली बार ज्यादा वोटिंग का स्पष्ट मतलब था कि आम लोग उस समय की व्यवस्था से संतुष्ट नहीं थे। 2019 में हालात बदले हुए हैं और लोग केंद्र सरकार के कामकाज से खुश हैं। वहीं, इसका एक दूसरा पहलू यह भी है कि विपक्षी पार्टियों के कार्यकर्ताओं में उत्साह की कमी है। जहां बीजेपी ने सबसे ज्यादा ध्यान बूथ मैनेजमेंट पर दिया है, वहीं विपक्षी पार्टियां अपने स्टार प्रचारकों के भरोसे रहीं। इसका नतीजा यह हुआ कि बीजेपी समर्थक वोटर तो बूथ पर पहुंच गए, लेकिन दूसरी पार्टियां इसमें पीछे रह गईं। जिन 59 सीटों पर छठे चरण में वोटिंग हुई है, 2014 में बीजेपी ने उनमें से 44 सीटें जीती थीं। इस बार यह आंकड़ा 50 से भी ज्यादा हो सकती है। यह भी तय है कि 23 मई को नतीजे आने के बाद नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही अगली सरकार बनेगी। देखना केवल यह है कि बीजेपी अपने दम पर 325 से ज्यादा सीटें ला पाती है या नहीं।

अलग-अलग राज्यों में वोटिंग पैटर्न
राज्य         2014          2019
हरियाणा     65%         71.44%
दिल्ली        56.11%    65.10%
यूपी          53.37%    54.49%
प. बंगाल    80.16%    84.96% 
बिहार        59.29%    57.11% 
झारखंड     64.46%     64.53% 
मध्य प्रदेश   60.40%    56.83%

बिहार में भाजपा प्रत्याशी पर हमला
बिहार के पश्चिम चंपारण सीट से भाजपा प्रत्याशी संजय जायसवाल पर नरकटिया स्थित बूथ पर भीड़ ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। निजी सुरक्षाकर्मियों ने हवाई फायरिंग कर संजय को बचाया। इस दौरान कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट भी हुई।

यह भी पढ़ेंः पांचवें फेज की वोटिंग के बाद विपक्षियों ने भी माना, आएगा तो मोदी ही

बंगाल में लगातार 6वें चरण में हिंसा
पश्चिम बंगाल में 6वें चरण में भी हिंसा की खबरें मिलीं। यहां के घाटल से भाजपा प्रत्याशी पूर्व आईपीएस अफसर भारती घोष के काफिले पर हमला किया गया। उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। केशपुर मतदान केंद्र के बाहर कथित तौर पर उनके साथ मारपीट और धक्का-मुक्की की गई। हमलावरों से बचने के लिए उन्होंने मंदिर में शरण ली। यहां से वे मंदिर की दीवार फांदकर पुलिस स्टेशन पहुंचीं। भाजपा ने इस घटना के लिए तृणमूल कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है। चुनाव आयोग ने इस मामले में जिला चुनाव अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है।

शिवहर में बूथकर्मी की मौत
बिहार के शिवहर स्थित एक बूथ पर होमगार्ड जवान से गलती से गोली चल गई, जिससे पोलिंग बूथ पर तैनात एक कर्मचारी की मौत हो गई। उधर, मध्यप्रदेश के भिंड में जैतपुरागुढ़ा गांव में बूथ कैप्चरिंग की कोशिश की गई। कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिसकर्मियों को पीटने का आरोप है।

यह भी पढ़ेंः तीसरे चरण की वोटिंग के बाद विपक्षी पार्टियां हताश, बीजेपी प्रचंड जीत की ओर

राष्ट्रपति समेत बड़े नेताओं ने डाला वोट
6वें चरण के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन कॉम्प्लेक्स में स्थित बूथ पर वोट डाला। वहीं, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी ने दिल्ली में मतदान किया। इनके अलावा राहुल गांधी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस उम्मीदवार शीला दीक्षित, विराट कोहली, भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर, गौतम गंभीर ने भी अपने-अपने बूथों पर वोट डाले।

Leave a Reply