Home समाचार मेरी नीयत, मेरा परिश्रम और आपका आशीर्वाद ही मेरी ताकतः पीएम मोदी

मेरी नीयत, मेरा परिश्रम और आपका आशीर्वाद ही मेरी ताकतः पीएम मोदी

188
SHARE

पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज हरियाणा के रोहतक में चुनावी रैली को संबोधित किया। अपने भाषण की शुरुआत में आने में हुई देरी के लिए माफी मांगते हुए पीएम मोदी ने कहा, “2014 में जब आपके बीच में आया था तो मैंने कहा था कि आप मुझे अवसर दीजिए। मैं देश को झुकने नहीं दूंगा। तब मैंने कहा था हरियाणा कि धरती ने मुझे पाला, पोसा, बड़ा किया। हरियाणा की धरती ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है और तब मैंने कहा था कि आपने जो मुझे सिखाया है, उसका राष्ट्रीय रीति-नीति में भरपूर फायदा उठाउंगा। आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि मैंने आपकी शिक्षा का पूरा मान-सम्मान रखा है।“

पीएम ने आगे कहा कि आज पूरी दुनिया में सबसे तेजी से विकसित होती बड़ी अर्थव्यवस्था भारत की है। 2014 में आर्थिंक ताकत के रूप में भारत 11वें नंबर पर था, आज छठे नंबर पर पहुंच गया है और पांचवें नंबर के दरवाजे पर दस्तक दे रहा है। देश की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत हो या आपके हाथ में मोबाइल फोन, आज ये सब कुछ भारत में ही बन रहा है। रेलवे हो, हाईवे हो, एयरवे हो, इन्फॉर्मेशन वे हो, सभी क्षेत्रों में पहले से ज्यादा तेज गति से काम हुआ है। सबसे बड़ी बात आज भारत ने जल, थल, नभ के अलावा अंतरिक्ष में भी सर्जिकल स्ट्राइक करने की क्षमता विकसित की है। पीएम ने कहा कि पिछले पांच साल में भारत ने जो कुछ भी हासिल किया, वो आप लोगों के एक वोट ने किया।  

यह भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल में मां अपनी संतानों की सुरक्षा के लिए परेशान है, माटी निर्दोषों के खून से रंगी है, मानुष डर के साये में जी रहा है- प्रधानमंत्री मोदी

पीएम ने कहा “मेरी नीयत, मेरा परिश्रम और आपका आशीर्वाद ही मेरी ताकत है। इसी नीयत पर देश के 130 करोड़ वासियों का विश्वास मुझे मिला है। इसी नेक नीयत और पुख्ता नीति के साथ भारत को विकसित बनाने का लक्ष्य लेकर आपका आशीर्वाद लेने के लिए फिर एक बार ये चौकीदार हरियाणा के दरवाजे पर आया है।“

पीएम ने कहा कि इन सबके बीच कांग्रेस और उसके साथियों से सावधान रहने की जरूरत है। कांग्रेस ने 70 साल तक देश कैसे चलाया है, उनका दिमाग कैसे काम करता है, उनकी खोपड़ी में कितना अहंकार भरा हुआ है, ये कल सिर्फ तीन शब्दों में खुद ही समेट दिया है। देश पर सबसे ज्यादा समय तक शासन करने वाली कांग्रेस कितनी असंवेदनशील रही है, उसका प्रतीक हैं कल बोले गए तीन शब्द। ये शब्द कांग्रेस का असली चरित्र है, कांग्रेस की मानसिकता है, कांग्रेस के इरादे हैं। वो तीन शब्द थे हुआ तो हुआ। 1984 में देशभर में हजारों सिख भाई-बहनों का कत्लेआम हुआ, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है हुआ तो हुआ। देशभर में सिखों को निशाना बनाया गया और इसका नेतृत्व कांग्रेस नेताओं ने किया। ये पाप कांग्रेस के छोटे-बड़े हर व्यक्ति ने किया और आज कांग्रेस कह रही है हुआ तो हुआ। कांग्रेस ने इसी अहंकार से देश को चलाया है। कांग्रेस के नामदारों के सिर्फ एक कर्म का लेखाजोखा है। ऐसे ही कर्मों की वजह से आज 21वीं सदी का भारत कांग्रेस को 44 सीटों पर लाकर खड़ा कर दिया और इस बार इतनी सीटें जीतने के लिए भी देश उनकी मदद करने को तैयार नहीं है।

पीएम ने कहा कि सिर्फ एक परिवार को आगे बढ़ाने के लिए कांग्रेस में सक्षम लोगों का अपमान किया जाता है। उन्होंने भाखरा-नांगल बांध की चर्चा करते हुए कहा कि इसकी सोच सर छोटूराम की थी लेकिन उनको कभी इसका क्रेडिट ही नहीं दिया गया। यह ऐसा परिवार है जहां भ्रष्टाचार ही संस्कार है और हरियाणा तो इसका भुक्तभोगी रहा है।

पीएम ने कहा कि कांग्रेस के नामदार के रिश्तेदार ने हरियाणा के पूर्व सीएम के साथ मिलकर क्या-क्या गुल खिलाए हैं, ये भी पूरा देश जानता है। किसान की जमान कौड़ियों के दाम पर हड़प ली और फिर उस पर भ्रष्टाचार की खेती की गई है। आज जितने भी नामदार हैं, सबके सब बेल पर हैं, जमानत पर हैं। आपने मुझे पांच साल का मौका दिया, वो दरवाजे तक पहुंच गए हैं। दूसरे पांच साल का मौका दीजिए, देश को लूटने वाले जेल के अंदर होंगे।

यह भी पढ़ेंः NBT Exclusive Interview: मैंने तो राजीव गांधी पर एक फैक्ट ही बताया, कांग्रेस आपा क्यों खो रही- प्रधानमंत्री मोदी

पीएम ने आगे कहा कि 2004 से 2014 तक पाकिस्तान के आतंकी भारत में हमले करते रहे और कांग्रेस की कमजोर सरकार रोती रही। आपके इस चौकीदार ने इस नीति को बदला है। आज हमारे सपूतों को हमने खुली छूट दे रखी है। हम पर हमला होगा तो दोगुनी ताकत से जवाब देंगे। आप गोली चलाओगे तो चौकीदार गोला चलाएगा। आप अगर आतंकवादियों को एक्सपोर्ट करोगे तो हम घर में घुसकर मारेंगे। पीएम ने कहा कि आज पाकिस्तान अकेला पड़ गया है क्योंकि हमारी कूटनीति भी मजबूत हुई है। देश जब समर्थ होता है, सक्षम होता है तभी दुनिया बात सुनती है।

Leave a Reply