Home समाचार टूरिज्म की ताकत समझें कश्मीरी नौजवान- प्रधानमंत्री

टूरिज्म की ताकत समझें कश्मीरी नौजवान- प्रधानमंत्री

327
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर 9 किलोमीटर लंबी चनैनी-नाशरी टनल का उद्घाटन किया। इसके बाद उन्होंने उधमपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विकास हमारा मंत्र है और जनभागीदारी हमारा रास्ता। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के नौजवानों के सामने दो रास्ते हैं, एक टेररिज्म का और दूसरा टूरिज्म का, नौजवानों को टूरिज्म की ताकत समझनी होगी। उन्होंने कहा कि ये सुरंग जम्मू कश्मीर के लिए विकास की लंबी छलांग है। ये सुरंग जम्मू और कश्मीर घाटी के बीच न सिर्फ 31 किलोमीटर दूरी कम करेगी, बल्कि ये कश्मीर घाटी की भाग्य रेखा होगी जो हर मौसम में कश्मीर घाटी को जम्मू से जोड़े रखेगी।

कश्मीरी युवाओं के पास दो रास्ते
मोदी ने कश्मीरी युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि एक तरफ कुछ भटके हुए नौजवान पत्थर मारने में लगे हैं दूसरी तरफ उसी कश्मीर के नौजवान पत्थर को काट करके कश्मीर का भाग्य बनाने में लगे हैं। ये कश्मीर घाटी की भाग्य रेखा होगी। पीएम ने कहा कि कश्मीर के युवाओं के पास दो रास्ते हैं एक ओर टूरिज्म है दूसरी तरफ टेररिज्म है। पीएम ने कहा कि नौजवानों को टूरिज्म की ताकत समझनी होगी।

कश्मीर आने में हुई सहूलियत
श्री मोदी ने कहा कि ये सुरंग कश्मीर घाटी के टूरिज्म का नया इतिहास रचने के लिए है। टूरिस्ट असुविधाओं की खबरों से परेशान हो जाते थे। टूरिस्ट यहां आने से कतराते थे। लेकिन अब इस सुरंग के कारण कश्मीर घाटी में यात्री के रूप में देश के कोने कोने से जो लोग आना चाहते हैं उनको संकटों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पर्यावरणविदों के लिए नई आशा है ये सुरंग
पीएम मोदी ने कहा इस सुरंग में जम्मू-कश्मीर के युवाओं के पसीने की महक है। इस सुरंग की चर्चा पूरे विश्व में होगी। उन्होंने कहा कि हिमालय की गोद में सुरंग बनाकर हमने पर्यावरण की रक्षा का काम किया है। उन्होंने कहा, मुझे विश्वास है कि दुनिया के जितने पर्यावरणवादी हैं क्लाइमेट चेंज की चिंता जताते हैं उनके लिए इस सुरंग का निर्माण एक बहुत बडी खबर है, ये नई आशा है।

9 सुरंगों का होगा निर्माण
प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास हमारा मंत्र है और जन भागीदारी हमारा रास्ता है और यही घाटी में टूरिज्म को बढ़ावा दे सकता है। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी 9 और सुरंग बनाने की योजना है जिससे पूरे हिंदुस्तान के साथ जुड़ाव हो जाएगा। उन्होंने कहा कि ये रास्तों का नेटवर्क नहीं होगा ये दिलों का नेटवर्क होगा। विकास की इस यात्रा को हम आगे बढ़ाएंगे।

LEAVE A REPLY