Home विचार केजरीवाल सरकार के मंत्री की 33 करोड़ की संपत्ति जब्त

केजरीवाल सरकार के मंत्री की 33 करोड़ की संपत्ति जब्त

851
SHARE

सत्ता के खिलाफ लड़ाई में देश से भ्रष्टाचार मिटाने का दंभ भरने वाले आम आदमी पार्टी के ज्यादातर नेता जेल का मुंह देख चुके हैं। कई नेताओं के खिलाफ जांच चल रही है। ताजा मामला केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन का है। आयकर अधिकारियों ने दिल्ली में एक सौ बीघा से भी ज्यादा जमीन और कई कंपनियों के शेयरों के कागजात जब्त किए हैं। बताया जा रहा है कि ये सभी कथित तौर पर सत्येंद्र जैन के हैं।

खबर है कि यह कार्रवाई बेनामी संपत्ति के खिलाफ बनाए गए कानून के तहत की गई है। बताया जा रहा है कि जब्त की गई जमीन की कीमत 17 करोड़ जबकि शेयरों की कीमत 16 करोड़ रुपए है। कुल मिलाकर 33 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है। हालांकि इनकी बाजार कीमत काफी ज्यादा है।

जो अंधेरे को रोशन कर दे – वो हैं नरेंद्र दामोदरदास मोदी

इस बारे में 27 फरवरी को चार कंपनियों को नोटिस जारी किया गया है। इंडो मेटलिमपेक्स, अकिंचन डिवेलपर, प्रयास इन्फोसोल्यूशन और मंगलायतन प्रॉजेक्ट को जारी किए गए नोटिसों में अधिकारियों ने बेनामी संपत्ति ट्रांजैक्शन ऐक्ट के तहत सत्येंद्र जैन पर कंपनियों से नकद भुगतान के लिए गलत जानकारी देकर शेयर हासिल करने का दोषी ठहराया है।

आयकर विभाग के रडार पर
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के करीबी सत्येंद्र जैन काफी पहले से इनकम टैक्स के रडार पर हैं। बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास केजरीवाल के विश्वासपात्र माने जाने वाले स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन के खिलाफ हवाला कारोबियों से संबंधों के सबूत है। जैन और उनकी पत्नी के मालिकाना हक वाली चार कंपनियों ने 2010 से 2016 के बीच 56 कागजी कंपनियों के जरिए गैरकानूनी ढंग से 16.39 करोड़ रुपए दूसरी जगह ट्रांसफर किए। जैन हवाला कारोबारियों के माध्यम से तकरीबन 17 करोड़ रुपए की उलटफेर के मामले में भी आयकर विभाग की नजरों में हैं।

अखिलेश यादव, ये रहा झूठ का सबूत

LEAVE A REPLY