Home समाचार प्रधानमंत्री श्रमयोगी मान-धन योजना की शुरुआत, असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को मिलेगी...

प्रधानमंत्री श्रमयोगी मान-धन योजना की शुरुआत, असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को मिलेगी 3,000 रुपये मासिक पेंशन

343
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अंतरिम बजट में असंगठित क्षेत्र के कामगारों को प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (PMSYM) योजना के रूप में एक बड़ा तोहफा दिया था। अब इस योजना की शुरूआत हो चुकी है। इस योजना का लाभ लेने के लिए देशभर के 3.13 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) में रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। इस योजना के तहत 60 साल की उम्र के बाद हर कामगार को 3,000 रुपए महीने पेंशन दी जाएगी।15,000 रुपये तक की मासिक आय वाले कामगारों को मिलेगा लाभ

अंतरिम बजट 2019-20 को पेश करते हुए वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने इस महत्वाकांक्षी सामाजिक सुरक्षा योजना की घोषणा की थी। इसका क्रियान्वयन श्रम मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है। इस योजना का लाभ 15,000 रुपये तक की मासिक आय वाले असंगठित क्षेत्र के वे कामगार उठा सकते हैं, जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच है। 

5 साल में असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ श्रमिकों को जोड़ने का लक्ष्य

योजना के तहत पांच साल में असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ श्रमिकों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। सरकार ने देशभर में लाभार्थियों को जोड़ने और उनके रजिस्ट्रेशन के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत काम करने वाले विशेष निकाय CSC ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लि. की सेवाएं ली हैं। कंपनी ने PMSYM के लिए आवेदन फॉर्म तैयार किया है और वह इसका संचालन भी करेगी ताकि पूरी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया और आंकड़ा संग्रहण सुगम तरीके से हो सके। इसके अलावा वह योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कराने वालों को विशिष्ट आईडी नंबर भी जारी करेगी। 

बैंक में जाने की जरूरत नहीं
CSC दूरदराज और ग्रामीण इलाकों में बैंकों के प्रतिनिधि के रूप में भी काम करते हैं। ये केंद्र PMSYM के तहत रजिस्ट्रेशन के इच्छुक लोगों को CSC में बैंक खाता खोलने में भी मदद करेंगे और इसके लिए लोगों को बैंक शाखा जाने की जरूरत नहीं होगी। अधिकारियों के मुताबिक बाद के चरण में मंत्रालय PMSYM वेब पोर्टल या मोबाइल एप के जरिये भी नामांकन कर सकता है।

रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए इन चीजों की होगी जरूरत

अधिकारियों के मुताबिक SPV नेटवर्क के तहत देशभर में 3.13 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) आते हैं। इनमें से 2.13 लाख CSC ग्राम पंचायत के स्तर पर हैं। योजना के तहत नामांकन सभी CSC की तरफ से किया जाएगा। असंगठित क्षेत्र के कामगार अपने नजदीकी CSC जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके लिए आधार कार्ड और बचत खाता  या जनधन खाते की पासबुक लेकर जाना होगा। पहले महीने का अंशदान उन्हें नकद में देना होगा।55 से 200 रुपये तक होगा कामगारों का मासिक अंशदान

इस योजना में 18 साल की उम्र में जुड़ने वाले श्रमिकों को 55 रुपए हर महीने जमा करने होंगे। योजना से 29 साल की उम्र में जुड़ने वालों को 100 रुपए और 40 साल की उम्र में जुड़ने वालों को 200 रुपए का हर महीने देने होंगे।

 

Leave a Reply