Home समाचार हमनें 20 साल का काम 4 साल में करके दिखाया है- प्रधानमंत्री...

हमनें 20 साल का काम 4 साल में करके दिखाया है- प्रधानमंत्री मोदी

205
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को मध्य प्रदेश में जिन शहरी योजनाओं का लोकार्पण किया उनमें एक लाख गरीब परिवारों को पक्के मकानों का आवंटन शामिल है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आवास योजनाएं पहले भी बनी थीं, लेकिन उन्हें कैसे चलाया जाता था ये बच्चे-बच्चे को पता है। उन्होंने स्वच्छता सम्मान के लिए चुने गए देशभर के शहरों को सम्मानित भी किया। उन्होंने कहा कि पहले कचरा लोगों को तो परेशान करता था, लेकिन तब की सरकार को नहीं करता था। क्योंकि, उनके पास ठोस नीति और विजन ही नहीं था। उन्होंने इंदौर और भोपाल को स्वच्छ रैंकिंग में पहले और दूसरे स्थान पर आने के लिए बधाई दी। उनके शब्दों में “स्वच्छता एक दिन में नहीं आती है। अचानक नहीं आती है। सभी नागरिक चौबीसों घंटे जागरूकतापूर्वक इस मकसद को प्राप्त करने का प्रयास करते हैं, तब यह सिद्धि प्राप्त होती है, जो इंदौर को प्राप्त हुई है। जो मध्यप्रदेश को प्राप्त हुई है।”

एक दिन में 1 लाख परिवारों का गृह प्रवेश
प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत आज मध्य प्रदेश के 1 लाख परिवारों को उनके पक्के मकान दिए गए। इंदौर में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने खुशी जताते हुए कहा कि उन्होंने लाभार्थियों की खुशियों को टीवी पर देखा है, जो कि पूरे हिंदुस्तान के लिए बहुत बड़ा अवसर है। एक साथ एक लाख परिवारों को गृह प्रवेश का अवसर मिलना बहुत बड़ी बात है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के जमाने की आवास योजना हमेशा विवादों में ही रहती थी। लेकिन, अब वोट बैंक की राजनीति से काम करने की कांग्रेसी परंपरा अब खत्म हो रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत फंडिंग, ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग की तकनीक पारदर्शी बनाई गई है। इससे मकान बनाने में गति भी आई है और क्वालिटी भी सुधरी है। पहले मकान बनाने के लिए 18 महीने का समय तय था। अब 1 वर्ष के भीतर निर्माण कार्य पूरा किया जा रहा है। बीते 4 वर्षों में गांव हो या शहर लगभग 1.15 करोड़ मकानों का निर्माण हो चुका है। पुरानी सरकार के लटके हुए प्रोजेक्ट भी पूरे किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्षों में यूपीए की 10 वर्षों की तुलना में तीन गुना से अधिक मकान स्वीकृत किए गए हैं। पहले की रफ्तार में काम करते तो जो काम हुआ है, उसे पूरा करने में 20 साल लग जाते। प्रधामंत्री ने कहा कि आने वाले 3-4 वर्षों में 2 करोड़ से अधिक मकानों का निर्माण होना है।

स्वच्छ भारत का सपना अब बहुत दूर नहीं है- प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कांग्रेस के इतने वर्षों के शासन ने हमारे शहरों को पहचान के रूप में पेयजल की कमी, बिजली मे अवव्यवस्था, लीक करते सीवेज सिस्टम, सड़क पर जाम ही जाम और हर जगह गंदगी का अंबार ही दिया था। लेकिन उनकी सरकार ने शहरी इंफ्रास्ट्रक्चर को 21वीं सदी के मुताबिक बनाने का बीड़ा उठाया है। इसके लिए 4 वर्षों में 2 लाख 30 हजार करोड़ रुपये से अधिक स्वीकृत किया गया है। जबकि कांग्रेस सरकार ने पूरे 10 वर्षों में सिर्फ 95 हजार करोड़ रुपये ही दिए थे। उन्होंने कहा स्वच्छ भारत का सपना अब बहुत दूर नहीं है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के नौजवान अपने बड़े-बुजुर्गों से पूछें कि कांग्रेस ने शहरों का कैसा हाल बना के रखा था। उन्होंने कहा कि जो सोचते हैं कि बदलाव नहीं हो सकता, जो लोग स्वच्छ भारत का मजाक उड़ाते हैं, उन्हें इंदौर ने दिखा दिया है कि बदलने का मतलब क्या है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सवा सौ करोड़ देशवासियों के हाथों-हाथ लेने से 18 राज्यों के 2300 से ज्यादा शहर खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं, 4 वर्षों में 8.30 करोड़ से ज्यादा शौचालयों का निर्माण हुआ है। अकेले मध्य प्रदेश में 65 लाख से ज्यादा शौचालय बने और राज्य के सभी शहर खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुके हैं। उनके शब्दों में “स्वच्छ भारत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का वह सपना है, जिसे पूरा करने का संकल्प सवा सौ करोड़ भारतीयों ने लिया है। यह हर हिंदुस्तानी की जिद है। यह हर देशवासी का लक्ष्य है कि भारत स्वच्छ होकर के ही रहेगा।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि 4 वर्षों में उनकी सरकार की योजनाओं का परिणाम है कि देश में आज लाखों टन कचरे से बिजली बनाने का काम,कंपोस्ट बनाने का काम तेज गति से आगे बढ़ रहा है। कचरा का बोझ कम होने के साथ रोजगार के नए साधन भी मिल रहे हैं। आज उनके द्वारा मध्य प्रदेश के शहरी क्षेत्र में पीने के पानी से लेकर सीवेज और ट्रांसपोर्ट और कूड़ा प्रबंधन से जुड़ी लगभग 800 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण किया गया। इसमें इलेक्ट्रिक बसों जैसी स्मार्ट ट्रांसपोर्ट से जुड़ी कुछ व्यवस्थाएं भी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY