Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी की ओर से नकवी ने चढ़ाई दरगाह अजमेर शरीफ पर...

प्रधानमंत्री मोदी की ओर से नकवी ने चढ़ाई दरगाह अजमेर शरीफ पर चादर, देखिए तस्वीरें

153
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अजमेर शरीफ में सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 807वें उर्स पर चादर चढ़ाई।

नकवी ने प्रधानमंत्री मोदी के संदेश को पढ़कर सुनाया। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संदेश में सालाना उर्स के अवसर पर भारत और विदेश में रहने वाले ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के अनुयायिओं को बधाई और शुभकामनाएं दी।

प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा, ‘हमारे देश की खूबसूरती विभिन्न धर्मों, समुदायों, मान्यताओं और पंथों के बीच सौहार्दपूर्ण सह-अस्तित्व है। अनेक संतों, पीर और फकीरों ने समय-समय पर देश को शांति, एकता और सौहार्द के संदेश दिए हैं। इन संतों और फकीरों ने अनुशासन, मर्यादा और आत्म-नियंत्रण का संदेश फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भारत की महान आध्यात्मिक परम्परा के प्रतीक हैं। मानवता के प्रति ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की सेवा आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगी। इस महान संत के वार्षिक उर्स के अवसर पर दरगाह अजमेर शरीफ पर चादर भेज कर मैं उनके प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करता हूं।’

समाज के सभी वर्गों के लोगों ने प्रधानमंत्री की ओर से चढ़ाई गई चादर का स्वागत किया। इस अवसर पर मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी एक तरफ मानव मूल्यों तथा न्याय की रक्षा के लिए सूफी संतों की परम्परा में विश्वास रखते हैं तो दूसरी ओर आतंकवाद के विरुद्ध ‘राष्ट्रवादी योद्धा’ हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आतंकवाद को सहन नहीं करने की नीति अपनाकर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए संकल्प के साथ काम कर रहे हैं। भारत की आध्यात्मिक और सूफी संस्कृति आतंकवाद और दूसरे किस्म की हिंसा को परास्त और समाप्त करके मानवता और शांति सुनिश्चित करने की गारंटी देती है।

नकवी ने कहा कि भारत सुरक्षित हाथों में है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के मजबूत और कुशल नेतृत्व में देश और लोगों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस्लाम को अपनी सुरक्षा कवच बनाकर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल संगठन और लोग इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन हैं। भारत सामाजिक और सांप्रदायिक सौहार्द के लिए पूरे विश्व के लिए रोल मॉडल है। हमें सामाजिक सौहार्द और एकता के ताने-बाने को मजबूत बनाना होगा।

LEAVE A REPLY