Home नरेंद्र मोदी विशेष कर्नाटक में कांग्रेस पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी, कहा ‘फूट डालो और राज...

कर्नाटक में कांग्रेस पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी, कहा ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति अपना रही कांग्रेस

205
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को कर्नाटक में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर बरसे। जनसभाओं में उमड़े जनसैलाब को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कर्नाटक में “फूट डालो और राज करो” की नीति अपना रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जाति और धर्म के आधार पर फूट डालो और राज करो की नीति पर विश्वास करती है और भाई भाई को लड़वाती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा की रैलियों में लोग उमड़ रहे हैं, उससे साफ जाहिर होता है कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का कर्नाटक का सफाया हो जाएगा।

कांग्रेस नेताओं को नहीं है राहुल की योग्यता पर भरोसा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तक कर्नाटक में पार्टी के लिए जीत सुनिश्चित करने की राहुल गांधी की योग्यता पर भरोसा खो चुके हैं। प्रधानमंत्री ने कहा ” कांग्रेस नेताओं को तो यह तक लगने लगा है कि बेटा कर्नाटक में पार्टी की जीत में कोई मदद नहीं कर पाएगा। इसलिए मां को यह सुनिश्चित करने के लिए भेजा जा रहा है कि प्रत्याशी कम से कम अपनी जमानत तो बचा सकें। भ्रष्टाचार को लेकर सिद्धरमैया सरकार को आड़े हाथों लेते हुए श्री मोदी ने कहा कि यहां एक भी मंत्री ऐसा नहीं है, जिस पर वित्तीय भ्रष्टाचार के आरोप न लगे हों।

हार के बहाने सोच रही है कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोगों के बीच जाने की जगह कांग्रेस नेता ये सोच रहे हैं कि कर्नाटक चुनाव में हार का कारण वे क्या देंगे। उनके कारणों में ईवीएम की तकनीकी खराबी के अलावा और भी कारण होंगे। ईवीएम को दोष देने के लिए वो अभी से योजना बना रहे हैं। कर्नाटक में कांग्रेस हार के बहाने तलाश रही है। कांग्रेस को जनता सज़ा देगी। कांग्रेस बांटकर राज कर रही है।

भगवान बसवेश्वर को याद किया
जनसभाओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कर्नाटक की समृद्ध सांस्कृतिक और समाजिक विरासत को याद किया। भगवान बसवेश्वर को याद करते हुए श्री मोदी ने बताया कि भगवान बसवेश्वर ने अपने एक वचन में कहा था कि आप किसी से कौन हो, किस जाति से हो, किस पंथ से हो, उसे मत पूछो, बल्कि उसे गले लगाओ, अपना ही साथी समझो और सबको साथ लेकर चले। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार भगवान बसवेश्व के दिखाए रास्ते पर चलते हुए सबका साथ-सबका विकास मंत्र पर काम कर रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कर्नाटक की संत परंपरा की चर्चा करते हुए कहा कि कर्नाटक में संतों ने त्रिविधा दशोहा की परंपरा का निर्माण किया है। त्रिविधा दशोहा का मतलब होता है अक्षर, अन्न और आरोग्य की सेवा। केंद्र सरकार भी इसी का अनुसरण करते हुए बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई और बुजुर्गों को दवाई के मंत्र को लेकर काम कर रही है।

शिक्षा और रोजगार की योजनाएं गिनाईं
केद्र सरकार की कृषि, शिक्षा, और रोजगार से जुड़ी योजनाओं का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने शिक्षा क्षेत्र के कायाकल्प के लिए Revitalising Infrastructure And Systems In Education यानी RISE योजना के तहत मिशन मोड में काम शुरू किया है। इस योजना के तहत करीब एक लाख करोड़ रुपये शिक्षा को मजबूत और आधुनिक बनाने के लिए, स्किल डेवलपमेंट के लिए खर्च करने का प्रावधान किया है। स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत करीब 12 करोड़ लोगों को बगैर बैंक गारंटी के मुद्रा लोन दिया गया है।

किसान को सशक्त बनाने की कोशिश
प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के विकास के लिए किसान का सशक्त होना बहुत जरूरी है। केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत देशभर में बंद पड़े बांधों का काम शुरू कराया है। केंद्र सरकार कर्नाटक में भी 4 हजार करोड़ रुपये लगाकर सिंचाई के 5 बड़े प्रोजेक्ट चालू कर रही है। केंद्र सरकार ने किसानों को उनकी फसल की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी देने का फैसला किया है। 22 हजार ग्रामीण हाटों को अपग्रेड करने की योजना बनाई है, ताकि किसानों को स्थानीय स्तर पर अपनी पैदावार बेचने की सुविधा मिले और उचित दाम मिले। प्रधानमंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार ने किसानों के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बनाई है, इसके तहत बुआई से पहले और कटाई के बाद प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई की जाती है। पहले की तुलना में फसल बीमा की क्लेम राशि दोगुनी हुई है। इसी वर्ष फसल बीमा योजना के तहत अकेले कर्नाटक के किसानों को 1100 करोड़ रुपये की क्लेम राशि मिली है।

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि देश का मध्यम और गरीब वर्ग का व्यक्ति पहले बीमा के बारे में सोच नहीं सकता था। अब देश के करीब 19 करोड़ लोग 90 पैसे के प्रीमियम पर प्रधानमंत्री बीमा योजना से जुड़े हैं। इस बीमा योजना के तहत विपत्ति आने पर पीड़ित परिवार को 2 लाख रुपये की राशि मिलती है। अब तक 2,200 करोड़ रुपये ऐसे परिवारों के दिए जा चुके हैं। बुजुर्गों के लिए केंद्र सरकार ने अटल पेंशन योजना शुरू की है, देश के करीब एक करोड़ सीनियर सिटीजन इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। इसी प्रकार आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के करीब 50 करोड़ गरीब लोगों को 5 लाख रुपये सालाना स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा। इसका फायदा देश के निम्न, मध्यम और गरीब वर्ग के लोगों को मिलेगा।

4 करोड़ घरों में बिजली पहुंचाने की योजना
श्री मोदी ने बताया कि आजादी के 70 साल बाद भी देश के 4 करोड़ घरों में बिजली नहीं हैं। केंद्र सरकार सौभाग्य योजना के तहत इन 4 करोड़ घरों मुफ्त बिजली कनेक्शन देने का काम कर रही है। कर्नाटक में भी 6 लाख घरों में बिजली नहीं है, केंद्र की सौभाग्य योजना के तहत कर्नाटक के 70 हजार घरों में मुफ्त बिजली कनेक्शन पहुंचाया गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान का जिक्र करते हुए कोप्पल की बेटी मल्लमा का जिक्र किया, जिसने शौचालय बनाने का अभियान चलाया था। श्री मोदी ने कहा कि 2014 से पहले देश के गांवों में शौचालय का कवरेज सिर्फ 40 प्रतिशत था और 4 साल की कड़ी मेहनत के बाद यह कवरेज 80 प्रतिशत पहुंचा दिया गया है।

महिला सशक्तिकरण में लगी सरकार
श्री मोदी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को चूल्हे के धुंए से आजादी दिलाने के लिए केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना शुरू की है। इसके तहत देशभर में करीब 4 करोड़ मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए हैं, कर्नाटक में भी 10 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन दिया गया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए केंद्र सरकार ने कई कदम उठाए हैं। बेटियों के प्रति राक्षसी कृत्य करने वालों को फांसी पर लटकाने का कानून बनाया गया है। बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ अभियान के बारे में बताते हुए श्री मोदी ने कहा कि पहले देश में कई ऐसे जिले थे जहां लड़कों की तुलना में लड़कियों का अनुपात बहुत कम था। केंद्र सरकार के इस अभियान के बाद जागरूकता बढ़ी है और धीरे-धीरे बेटियों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। बेटियों को शिक्षा मिले और 18 साल की उम्र के बाद जीवन में सुरक्षा महसूस हो, इसके लिए केंद्र सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना जैसी अधिक ब्याज देने की योजना बनाई। आज बैंकों में इस योजना के तहत बेटियों के नाम करोड़ों-करोड़ रुपये जमा हैं।

सरकार का एक भारत-श्रेष्ठ भारत का मंत्र
कोप्पल की जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस धरती को हनुमान की जन्मस्थली और भगवान राम के वनवास की भूमि के रूप में जाना जाता है। उन्होंने कहा कि इसी तरह के ऐतिहासिक स्थलों की सांस्कृतिक विरासत और धरोहर को देश के मानचित्र पर लाने के लिए और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए केंद्र सरकार ने एक भारत-श्रेष्ठ भारत के तहत 5 हजार करोड़ रुपये की स्वदेश दर्शन योजना बनाई है। ताकि लोगों को बुद्ध सर्किट, महात्मा गांधी सर्किट, स्वतंत्रता सैनानी सर्किट, महावीर जैन सर्किट, रेगिस्तान सर्किट, समुद्र तट सर्किट के माध्यम से भारत को जानने की सुविधा मिले। हवाई सेक्टर में क्रांति का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने हवाई यात्रा का नेटवर्क बनाने की आकर्षक योजना बनाई है। अब हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई जहाज में बैठकर सफर कर सकता है।

भाजपा सरकार की प्राथमिकता बताईं
विजयपुरा की रैली में श्री मोदी ने स्थानीय अंगूर उत्पादक किसानों की समस्याओं जिक्र करते हुए कहा कि अंगूर उत्पादकों को उपज का सही दाम मिले, बर्बादी नहीं हो इसके लिए केंद्र सरकार पूरी कोशिश कर रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनने पर किसानों को खेत में पानी मिले, इसके लिए डेढ़ लाख करोड़ रुपये की योजना बनाई जाएगी। विजयपुरा में फूड प्रोसेसिंग का बड़ा प्लांट लगाया जाएगा, एग्रो क्लस्टर बनाए जाएंगे और भूमिहीन खेत मजदूरों को 2 लाख रुपये तक का बीमा कवच दिया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनने पर महिला सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। महिलाओं के लिए 10 हजार करोड़ से स्त्री उन्नति फंड बनाया जाएगा। महिलाओं के नेतृत्व में कॉपरेटिव मूवमेंट चलाया जाएगा और पूरे राज्य में स्त्री उन्नति स्टोर का जाल बिछाया जाएगा। उन्होंने बताया की राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर वुमेन सेल्फ हेल्प ग्रुप को सिर्फ एक प्रतिशत ब्याज पर 2 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। पशुपालन और डेयरी उद्योग को बल मिले, गांव की महिलाओं का सशक्तिकरण हो इसके लिए 100 करोड़ रुपये की योजना शुरू की जाएगी। महिला उद्यमियों के लिए 100 करोड़ की लागत से 30 नए क्लस्टर बनाए जाएंगे।

LEAVE A REPLY