Home पोल खोल महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना राहुल गांधी को पड़ा भारी, महिला आयोग...

महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना राहुल गांधी को पड़ा भारी, महिला आयोग ने किया जवाब तलब

323
SHARE

महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में महिला आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जवाब तलब किया है। राहुल गांधी ने राफेल सौदे का जिक्र करते हुए पीएम मोदी पर महिला के पीछे छिपने का आरोप लगाया था। राहुल यहीं नहीं रुके, जब पीएम मोदी समेत देश के गणमान्य लोगों ने उनके शब्दों पर ऐतराज जताया तो उन्होंने प्रधानमंत्री को मर्द बनने की सलाह भी दे डाली।


राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया कि राहुल गांधी का “…एक महिला से कहा मेरी रक्षा कीजिए? महिला विरोधी बयान है. क्या वह सोचते हैं कि एक महिला कमजोर है?  राहुल गांधी देश की रक्षा मंत्री को ही कमजोर बता रहे हैं।”

राहुल गांधी की इस बेहद अभद्र टिप्पणी पर प्रधानमंत्री मोदी भी नाराज हो गए थे। उन्होंने कहा था कि ‘‘यह ना केवल एक महिला बल्कि भारत की समस्त महिला शक्ति का अपमान है जिसके लिए इन गैर जिम्मेदाराना नेताओं को कीमत चुकानी पड़ेगी।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि यह गर्व की बात है कि एक महिला देश में पहली बार रक्षा मंत्री बनीं है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राहुल गांधी के इस बयान को महिला विरोधी करार दिया था। जिसपर राहुल गांधी ने भी हेठी दिखाते हुए ट्वीट किया कि ‘‘बातों को घुमाना बंद करिए। मर्द बनिये, मेरे सवाल का जवाब दीजिए कि जब आपने वास्तविक राफेल सौदे को बदला तो क्या रक्षा मंत्रालय और वायुसेना ने आपत्ति जताई थी? हां? या ना?’’


राहुल गांधी को इस अभद्र, आपत्तिजनक और अनैतिक टिप्पणी के खिलाफ पूरे देश में गुस्सा देखा जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी समेत कई पार्टी के नेताओं ने राहुल गांधी को घेरा है।


सुषमा स्वराज और स्मृति ईरानी ने निर्मला सीतारमण को लेकर राहुल गांधी के बयान को निचले स्तर की राजनीति बताया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल के मुद्दे पर दिए गए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान का मजाक उड़ाया था

उन्होंने कहा कि सीतारमण ने ढाई घंटों तक भाषण दिया लेकिन उनकी सभी बातें बेकार हो गईं चूंकि वे एक सवाल का भी संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाईं। राहुल ने कहा, “प्रधानमंत्री जनता की अदालत से भाग गए और कहा, ‘सीतारमण जी मुझे बचाओ, मैं खुद को भी नहीं बचा सकता, आप हमें बचाओ।”

LEAVE A REPLY