Home नरेंद्र मोदी विशेष राज्यपाल शासन में जम्मू कश्मीर में दनादन हो रहा आतंकियों का सफाया,...

राज्यपाल शासन में जम्मू कश्मीर में दनादन हो रहा आतंकियों का सफाया, चार और को मार गिराया

373
SHARE

जम्मू कश्मीर में जबसे राज्यपाल शासन लगा है तबसे आतंकियों की शामत आई हुई है। सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन ऑल आउट को जारी रखते हुए पुलवामा में तीन और कुपवाड़ा में एक आतंकी को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। जिस रफ्तार से अब आतंकियों का सफाया हो रहा है उससे राज्य में जल्द शांति बहाली की उम्मीद भी बंधने लगी है।

चुन-चुनकर मारे जा रहे आतंकी
दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षा बलों को जानकारी मिली कि यहां चटपोरा के थुमना गांव में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। आतंकियों ने एक घर में घुसकर कुछ लोगों को बंधक बनाकर रखा था। सेना, पुलिस और सीआरपीएफ ने फौरन आतंकियों की घेराबंदी की। सुरक्षा बलों ने पहले बंधकों को आतंकियों से छुड़ाया और फिर उस घर को उड़ा डाला जिसमें आतंकी छिपे थे। दो आतंकी मौके पर ही मारे गए, जबकि तीसरा सुरक्षा बलों की ओर गोलीबारी करता रहा लेकिन जल्दी ही उसे भी ढेर कर दिया गया। तीनों आतंकी स्थानीय बताए गए हैं। पुलवामा में मुठभेड़ के दौरान पत्थरबाजी के साथ कुछ हिंसक प्रदर्शन किए गए जिसमें एक पत्थरबाज की भी मौत हो गई।


काम आ रही आतंक के हमदर्दों पर सख्ती
आतंकियों के सफाये के लिए सुरक्षा बल हर तरफ अपने अभियान को ले जा रहे हैं। शुक्रवार को कुपवाड़ा में सुरक्षा बल जब जंगलों में तलाशी अभियान चला रहे थे तब अचानक वहां छिपे आतंकियों ने उनकी ओर गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मारा गया। आतंकियों के हर तरह के हमदर्दों पर सख्ती होने से आतंक का अंत भी अब बेरोकटोक हो रहा है। 20 जून को राज्यपाल शासन लगने के 10 दिनों के भीतर 13 आतंकियों को मार गिराया गया है। साफ है कि जम्मू कश्मीर में गठबंधन सरकार से समर्थन वापसी का भाजपा का फैसला राज्य के हित में साबित हो रहा है। 

अपनी आखिरी सांसें गिन रहा है आतंक 
17 जून को जबसे सीजफायर खत्म करने का ऐलान किया गया तब से सुरक्षा बल 15 आतंकियों को मौत के घाट उतार चुके हैं। 18 जून को बांदीपोरा में दो आतंकियों को मार गिराया गया। 20 जून को त्राल में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को ढेर किया गया। इनमें कासिम भी शामिल था जिसने कई बेगुनाहों को दहशत का शिकार बनाया था। 22 जून को श्रीनगर के श्रीगुफवाड़ा गांव में चार आतंकी मारे गए। ये सभी इस्लामिक स्टेट की लोकल यूनिट से जुड़े आतंकी थे। 24 जून को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए जबकि तीसरे ने सरेंडर किया। 

सेना तैयार कर चुकी है 21 दुर्दांत आतंकियों की लिस्ट
राज्यपाल शासन लगने के साथ ही जम्मू कश्मीर में सेना ने 21 आतंकियों की हिटलिस्ट तैयार की है जिसमें 11 हिजबुल मुजाहिदीन के, सात लश्कर-ए-तैय्यबा के, दो जैश-ए-मोहम्मद के और एक अंसार गजवात उल हिंद (AGH) के हैं। सुरक्षा बलों का लक्ष्य इन 21 दुर्दांत आतंकियों को खत्म करना है जो घाटी में अमन-चैन के सबसे बड़े दुश्मन हैं।

चार साल में मारे गए 581 आतंकी
एक आंकड़े के अनुसार केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद से वर्ष 2014 में 110 आतंकवादी ढेर किए गए थे। 2015 में जम्मू कश्मीर में आतंकी हिंसा की 208 घटनाएं हुई, जिनमें 108 आतंकवादी मारे गए। वर्ष 2016 में राज्य में आतंकी हिंसा की 322 घटनाओं में 150 आतंकवादी मारे गए, वहीं वर्ष 2017 में आतंकी हिंसा की 342 घटनाएं हुई जिनमें  213 आतंकवादी मारे गए। हालांकि इस दौरान हमारे 213 सुरक्षाबलों के जवान भी शहीद हो गए। लेकिन 2017 की जनवरी से चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट में तो सुरक्षा बलों की तुलना में ढाई गुना से भी अधिक आतंकी मारे गए हैं। 2014 से 2017 तक कुल 581 आतंकी जहन्नुम भेजे गए वहीं 2018 में ऑपरेशन ऑल आउट अपने मुकाम की ओर बढ़ता नजर आ रहा है। 

कुख्यात आतंकवादियों का खात्मा
कश्मीर में पिछले कुछ महीनों में ही सेना और अर्धसैनिक बलों ने लश्कर और हिजबुल मुजाहिदीन के 14 से ज्यादा कमांडर और अहम जिम्मेदारियां संभालने वाले आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए बड़े आतंकी चेहरों में- अबू दुजाना (लश्कर), अबू इस्माइल (लश्कर), बशीर लश्करी (लश्कर), महमूद गजनवी (हिजबुल), जुनैद मट्टू (लश्कर), यासीन इट्टू उर्फ ‘गजनवी’ (हिजबुल) और ओसामा जांगवी मुख्य था। इनके अलावा बशीर वानी, सद्दाम पद्दर, मोहम्मद यासीन और अल्ताफ भी सुरक्षा बलों की गोलियों का शिकार हो गया।

अबु दुजाना के लिए चित्र परिणाम

मारे गए प्रमुख आतंकियों की सूची-

  • बुरहान मुजफ्फर वानी, हिजबुल मुजाहिदीन
  • अबु दुजाना, लश्कर ए तैयबा कमांडर
  • बशीर लश्करी, लश्कर ए तैयबा
  • सब्जार अहमद बट्ट, हिजबुल मुजाहिदीन
  • जुनैद मट्टू, लश्कर ए तैयबा
  • सजाद अहमद गिलकर, लश्क ए तैयबा
  • आशिक हुसैन बट्ट, हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर
  • अबू हाफिज, लश्कर ए तैयबा
  • तारिक पंडित, हिजबुल मुजाहिदीन
  • यासीन इट्टू ऊर्फ गजनवी, हिजबुल मुजाहिदीन
  • अबू इस्माइल, लश्कर ए तैयबा
  • ओसामा जांगवी, लश्कर ए तैयबा
  • ओवैद, लश्कर ए तैयबा
  • मुफ्ती विकास, जैश ए मोहम्मद

LEAVE A REPLY