Home चार साल बेमिसाल भारत-चीन सीमा पर 44 सड़कें बनवाएगी मोदी सरकार, ताकि युद्ध की स्थिति...

भारत-चीन सीमा पर 44 सड़कें बनवाएगी मोदी सरकार, ताकि युद्ध की स्थिति में जल्दी पहुंचे सेना

130
SHARE

चीन और पाकिस्तान की सीमा पर सेना की पहुंच और आसान बनाने के लिए मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार चीन से लगती सीमा पर 44 सामरिक सड़कों के निर्माण के साथ-साथ पाकिस्तान से सटे पंजाब एवं राजस्थान में करीब 2100 किलोमीटर मुख्य एवं संपर्क मार्गों का निर्माण करेगी।

सीपीडब्ल्यूडी की रिपोर्ट में सड़कें बनाए जाने का जिक्र

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की 2018-19 की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘एजेंसी को भारत-चीन सीमा पर सामरिक रूप से महत्वपूर्ण 44 सड़कों के निर्माण के लिए कहा गया है। इससे टकराव की स्थिति में भारतीय सेना का सीमाओं पर पहुंचना आसान हो जाए।’ 

भारत और चीन के बीच करीब 4,000 किमी की वास्तविक नियंत्रण रेखा जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक के इलाकों से गुजरती है। सीपीडब्ल्यूडी की यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है, जब चीन भी भारत से सटे इलाकों में विभिन्न परियोजनाओं को प्राथमिकता दे रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 44 सड़कों को बनाने में करीब 21 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी। ये सड़कें पांच राज्यों जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश में बनेंगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति से विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पर मंजूरी लेने की प्रक्रिया भी चल रही है।

भारत-पाक सीमा पर भी बनेंगी 2100 किलोमीटर लंबी सड़कें   

इसके अलावा, सरकार पाकिस्तान से लगे पंजाब और राजस्थान के इलाकों में 2100 किलोमीटर लंबे मुख्य और संपर्क मार्ग का भी निर्माण करेगी। ये सड़कें भारत के लिए रणनीतिक तौर पर काफी अहम होंगी।

सीपीडब्ल्यूडी की रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान और पंजाब में 5,400 करोड़ रुपये की लागत से सड़कों का निर्माण किया जाएगा। राजस्थान में 945 किलोमीटर मुख्य और 533 किलोमीटर संपर्क मार्ग बनाए जाएंगे। जबकि पंजाब में 482 किलोमीटर मुख्य और 219 किलोमीटर संपर्क मार्ग बनाए जाएंगे।

LEAVE A REPLY