Home गुजरात विशेष गुजरात विधानसभा चुनावों में विपक्ष की चटनी बन जाएगी: सर्वे

गुजरात विधानसभा चुनावों में विपक्ष की चटनी बन जाएगी: सर्वे

337
SHARE

चुनावी घड़ी करीब आते ही विकास की बुलंदियों को छू रहे गुजरात को लेकर दुष्प्रचार करने में पीएम मोदी के विरोधी सक्रिय होने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन गुजरात की जनता को आज इसको लेकर कोई दुविधा नहीं कि राज्य को आबाद कौन करता है और बर्बाद कौन करता है। गुजरात की जनता का ये रुख लगातार चुनावी सर्वे के नतीजों के जरिये भी सामने आ रहा है जिसमें बीजेपी के सामने कांग्रेस दूर-दूर तक नहीं दिख रही है।  

गुजरात में बुरी तरह टूटेगा कांग्रेस का ‘हाथ’

गुजरात विधानसभा चुनावों को लेकर लोकनीति और CSDS का सबसे ताजा सर्वे बताता है कि राज्य में बीजेपी को ऐतिहासिक जीत मिलेगी। अगस्त मध्य में randomly चुने गए 4,000 से अधिक वोटरों के बीच कराये गए इस सर्वे के नतीजों के मुताबिक गुजरात में एक बार फिर भारी बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी। वोट शेयर प्रतिशत की बात करें तो इस सर्वे में बीजेपी को कांग्रेस पर 30 अंकों की बढ़त मिली है। हर 10 में से करीब 6 वोटरों (59%)  ने कहा कि वो बीजेपी को वोट करेंगे जबकि 3 से भी कम (29%)  ने कहा कि वो कांग्रेस के पक्ष में जाएंगे।

गुजरात पर हर सर्वे में खिलता कमल

महीने भर पहले एबीपी न्यूज के ओपिनियन पोल में भी बीजेपी को जबर्दस्त बहुमत मिला था। उस सर्वे के मुताबिक राज्य की कुल 182 विधानसभा सीटों में से बीजेपी के खाते में 144 से 152 सीटें जाएंगी। कांग्रेस को ज्यादा से ज्यादा 26 से 32 सीटें मिल सकती हैं। यानी हर सर्वे इस बात की तस्दीक कर रहा है कि कांग्रेस की हालत पहले से कहीं ज्यादा खराब होगी। सर्वे बता रहा है कि गुजरात के चारों इलाके उत्तरी, दक्षिण, मध्य और कच्छ-सौराष्ट्र में बीजेपी को जबर्दस्त कामयाबी मिलेगी। सर्वे के नतीजों से ये भी जाहिर हुआ है कि अरविंद केजरीवाल और हार्दिक पटेल जैसे नेताओं में वोटर अपने लिए जरा भी उम्मीद नहीं देखते।  

जनता के भरोसे का दूसरा नाम पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करीब 13 साल गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए राज्य को विकास की आसमानी ऊंचाइयां दी थीं। विकास का गुजरात मॉडल हर तरफ छा गया। उनके हाथों में देश की बागडोर आने के बाद अब गुजरात के साथ-साथ पूरा भारत विकास की रफ्तार भरने में जुटा है। आज ये पीएम मोदी में जनता का भरोसा ही है जो अब उनके सामने कोई भी दूसरा नेता पानी मांगता ही नजर आता है।  

लोकसभा चुनाव की कहानी दोहराएगी बीजेपी

गुजरात के लोगों ने कांग्रेस राज से मुक्ति के बाद राज्य को बदलते देखा है। कांग्रेस शासन में रहा बिजली का संकट हो या पानी का संकट, हर बड़ी समस्या से पार पाते हुए गुजरात ने विकास के नये-नये मानदंड स्थापित कर दिये। लोग यह महसूस कर रहे हैं कि कांग्रेस ने गुजरात को किस बदहाली में ला खड़ा किया था और बीजेपी सरकार ने उसे उस स्थिति से निकालकर किस ऊंचाई पर ला खड़ा किया है। 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। उसे 60 प्रतिशत वोट मिले थे। सफलता की अपनी वही कहानी बीजेपी विधानसभा चुनावों में भी गुजरात में दोहराने जा रही है। विपक्ष की चटनी बनना तय है! 

LEAVE A REPLY