Home समाचार फारूक के बयान से गुस्से में है देश

फारूक के बयान से गुस्से में है देश

559
SHARE

फारूक अब्दुल्ला के उस बयान पर समूचा देश गुस्से में है जिसमें उन्होंने पत्थरबाजों को बचाव किया है। फारूक ने सिर्फ बचाव नहीं किया, बल्कि पत्थरबाजों को अपने देश के लिए लड़ने वाला करार दिया।

फारूक अब्दुल्ला ने जो आपत्तिजनक प्रमुख बातें कही हैं उनमें शामिल हैं-

  • पत्थरबाजों का टूरिज्म से कोई लेना देन नहीं
  • पत्थरबाज भूखे पेट अपने देश के लिए लड़ रहे हैं
  • सांप्रदायिकता के खिलाफ जंग है चुनाव
  • अमेरिका से कश्मीर मसले में दखल देने की मांग

फारूक अब्दुल्ला के इस बयान पर गुस्सा फूटना ही था। सबसे पहले लद्दाख के सांसद टी छेवांग ने आवाज उठायी।

कुछ लोगों ने तो यहां तक कह डाला कि पत्थरबाजों के सामने फारूक अब्दुल्ला को ही सामने खड़ा कर दिया जाए। घंटे भर में उनकी भाषा बदल जाएगी।

वरिष्ठ पत्रकार मीमांसा मलिक ने सवाल उठाया कि फारूक किस देश की बात कर रहे हैं?

#FarooqAbdullah glorifies stone-pelters yet again, says ‘#Kashmir stone-pelters fighting for the nation’.Which NATION is he talking about???

फारूक के बयान के बाद हालात ऐसे बने हैं कि लोगों ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 खत्म करत  राष्ट्रपति शासन लागू करने की भी वकालत शुरू कर दी है।

बडगाम में चुनाव रैली में फारूक अब्दुल्ला का संबोधन अत्यंत आपत्तिजनक है। चुनावी भाषण कहकर इसके खतरनाक प्रभाव को कम नहीं किया जा सकता। हालांकि ट्यूटर पर ऐसे लोग भी दिखे, जो फारूक का समर्थन करते नजर आए, लेकिन ये लोग वामपंथी हैं जिनसे ज्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती।

LEAVE A REPLY