Home झूठ का पर्दाफाश बीजेपी विरोध का षड़यंत्र जारी, फर्जी तस्वीर के इस्तेमाल में पूर्व पीएम...

बीजेपी विरोध का षड़यंत्र जारी, फर्जी तस्वीर के इस्तेमाल में पूर्व पीएम के सलाहकार भी शामिल

280
SHARE

बीजेपी और उसकी सरकारों के विरोध के लिये झूठी खबरों को प्रचारित करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को मुंबई में मराठा आरक्षण को लेकर एक रैली आयोजित की गई। लेकिन मोदी सरकार विरोधियों ने इसके लिये जो तस्वीरें इस्तेमाल की हैं वो फर्जी हैं। इन तस्वीरों के माध्यम से रैली में फर्जी भीड़ दिखाकर उसे सफल दिखाने की भी कोशिश हुई है।

पहले आपको दिखाते हैं कि इस रैली को कामयाब दिखाने के लिए कैसे 2015 में गुजरात में हुए पटेल आंदोलन की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है-

उसने मराठाक्रांति मोर्चा की जिस साइट से तस्वीर ली है, वहां भी गलत तस्वीर है। उसमें इस तस्वीर को सितंबर 2016 का बताया गया है, जबकि ये 2015 के पटेल आंदोलन की तस्वीर है। देखिये मराठा क्रांति मोर्चा ने भी कैसे पटेल आंदोलन की तस्वीर का इस्तेमाल किया है-

maratha-kranti-morcha-ahmednagar-6

सबसे बड़ी बात है कि इसी फर्जी तस्वीर के आधार पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे पत्रकार पंकज पचौरी ने भी ट्विट कर दिया है। उन्होंने झूठी तस्वीर के हवाले से सरकार पर तंज कसा है कि अगर लोगों के पास नौकरियां होतीं तो वो कहीं काम कर रहे होते। यानि उन्हें रैली की भीड़ (फर्जी) का हिस्सा नहीं बनना पड़ता।

जाहिर है कि कुछ लोग मराठा आंदोलन के बहाने एक बार फिर से बीजेपी और उसके बहाने मोदी सरकार को घेरने का षड़यंत्र रचने में जुटे हुए हैं। लेकिन क्या उनके पास इन फर्जीवाड़ों के अलावा विरोध का कोई रास्ता नहीं बचा है।

LEAVE A REPLY