Home समाचार मोदी ने बचाई थी जयललिता की जान!

मोदी ने बचाई थी जयललिता की जान!

1806
SHARE

जयललिता तमिलनाडु की राजनीति में सबसे ज्यादा हनक रखने वाली राजनेता थीं. लेकिन तमिलों के बीच अम्मा के नाम से लोकप्रिय जयललिता को 2011 में जान से मारने की कोशिश की गई थी.

बताया जाता है कि जान से मारने की कोशिश किसी दुश्मन ने नहीं बल्कि सबसे भरोसेमंद दोस्त शशिकला ने की थी.

जयललिता सबसे ज्यादा भरोसा शशिकला पर करती थीं. वह भी जयललिता की हर जरूरत का ख्याल रखती थी। मुख्यमंत्री कार्यालय में भी शशिकला की चलती थी. एक समय शशिकला का प्रभाव इतना बढ़ गया था कि उसकी अनुमति के बिना कोई भी जयललिता से मिल ही नहीं सकता था।

मीडिया की खबरों के मुताबिक जयललिता को 2011 में रोज खाने में थोड़ा-थोड़ा जहर दिया जा रहा था. जिससे जयललिता काफी कमजोर हो गई थीं। अक्सर बीमार हो जाती थीं।

कहा जाता है कि शशिकला अपने पति नटराजन को मुख्यमंत्री बनाना चाहती थी. लेकिन समय पर इस साजिश का खुलासा हो जाने पर जयललिता की जान बच गई.

असल में वर्तमान प्रधानमंत्री और गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जयललिता से मिलने चेन्नई गए थे. उस समय मोदी ने कुछ ऐसी बातें बताईं जिससे जयललिता की जान बच पाई.

उस समय मोदी ने उन्हें कहा था कि हो सके तो अपने खान-पान पर नजर रखिए। आपकी सेहत को लेकर मुझे चिंता हो रही है। इसके बाद जयललिता सतर्क हो गईं।

डॉक्टरी जांच से पता चला कि उन्हें खाने में धीरे-धीरे जहर दी जा रही थी. जिसे लगातार खाने से मौत हो सकती थी। खाने में यह जहर एक नर्स मिला रही थी। 

उस नर्स को शशिकला ने ही काम पर रख था। पूछताछ में नर्स ने कबूल किया कि खाने में जहर मिलाने के लिए शशिकला ने कहा था।

इस खुलासे के बाद जयललिता ने शशिकला को अपने घर और पार्टी से निकाल दिया लेकिन शशिकला के माफी मांगने पर उन्हें फिर से अपना लिया था।

LEAVE A REPLY