Home चुनावी हलचल राजीव गांधी के 12 गुनाह… जो आप नहीं जानते होंगे

राजीव गांधी के 12 गुनाह… जो आप नहीं जानते होंगे

2295
SHARE

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, उनकी बहन प्रियंका गांधी और पूरी कांग्रेस पार्टी दिल्ली, पंजाब और भोपाल में चुनाव से पहले जिस प्रकार राजीव गांधी को शहीद साबित करने में जुटी हुई है उसमें ये जरूरी हो जाता है कि राजीव गांधी से जुड़े तथ्यों को सामने लाया जाए। हमने रिसर्च के साथ राजीव गांधी से जुड़े 12 तथ्य निकाले हेैं, जो किसी गुनाह से कम नहीं हैं। आप भी इन तथ्यों को पढ़िए और सोचिए कि क्या राजीव गांधी को शहीद बताना जायज है। 

गुनाह नंबर 1- कश्मीर समस्या राजीव गांधी की देन
कश्मीर समस्या के सबसे बड़े दोषी राजीव गांधी हैं। क्या आपको पता है कि राजीव गांधी के प्रधानमंत्री बनने से पहले तक कश्मीर दुनिया का स्वर्ग था, लेकिन 1987 में फारूक-राजीव एकॉर्ड के बाद कश्मीर को हमेशा के लिए सुलगा दिया गया। कश्मीरी पंडितों के दुर्दिन शुरू हो गए।

गुनाह नंबर 2 – रक्षा सौदे में घोटाले का आविष्कार
भारत में रक्षा घोटाले का पहला आरोप राजीव गांधी के ही जिम्मे है। बोफोर्स घोटाले को लेकर अमेरिका की खूफिया एजेंसी CIA ने भी दावा किया था की स्वीडन ने राजीव गांधी को बचाने के लिए जांच रोक दी थी।

गुनाह नंबर 3- सुरक्षा से हटाकर विराट पर अय्याशी
देश उस समय को भूला नहीं है, जब राजीव गांधी ने भारत की सुरक्षा में तैनात आईएनएस विराट को अपने परिवार और इटली के ससुरालवालों की मौज मस्ती में लगा दिया था। और समुद्र के बीचों बीच 10 दिन तक अय्य़ाशी की थी।

गुनाह नंबर 4 – 25 हजार लोगों के कातिल को बचाया
भोपाल गैस त्रासदी कोई भारतीय कैसे भूल सकता है, हजारों लोगों की जान लेने वाले मुख्य आरोपी एंडरसन को राजीव गांधी ने 25 हजार रुपये के पर्सनल बॉन्ड पर भारत से बाहर भेजा था।

गुनाह नंबर 5- सिख दंगे को न्यायसंगत बताया, खुली छूट दी
भारत में सबसे बड़े दंगे को सरकारी छूट देने का आरोप राजीव गांधी पर है। 1984 में सिख दंगों के बाद उन्होंने कहा था कि ‘जब एक बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है।’

गुनाह नंबर 6- भागलपुर दंगे का दाग
1989 के भागलपुर दंगे का दाग भी राजीव गांधी के माथे पर है। केंद्र और बिहार दोनों जगह कांग्रेस की सरकार थी। 2 महीने तक चले दंगे में 1000 लोगों की हत्या की गई थी।

गुनाह नंबर 7 – मेरठ दंगे का दाग
इसी तरह 1987 में मेरठ के हाशिमपुर दंगे में 42 लोगों की जान चली गई। इसका दाग भी राजीव गांधी पर है।

गुनाह नंबर 8- मुस्लिम महिलाओं के अधिकार हमेशा के लिए छीन लिए
घर ही नहीं भारत की सभी मुस्लिम महिलाओं की दुर्दशा के दोषी राजीव गांधी ही थे, जिन्होंने 1985 में शाहबानो केस में सुप्रीम कोर्ट को भी दरकिनार कर दिया और मुस्लिम महिलाओं के सारे अधिकार हमेशा के लिए छीन लिए।

गुनाह नंबर 9- भाई की मौत के बाद उनकी पत्नी को निकाला
राजीव गांधी पर पहला आरोप उनके घर में ही लगा। भाई संजय गांधी की मौत के बाद राजीव गांधी ने अपने भाई की विधवा पत्नी और उसके बच्चे को घर से निकाल दिया था।

गुनाह नंबर 10 – श्रीलंका में भारत की फजीहत कराई
राजीव गांधी के समय ही भारत की विदेश नीति की पूरी दुनिया में थू-थू हुई। बिना किसी तैयारी के भारतीय सेना के 1 लाख जवानों को श्रीलंका भेज दिया, जिसमें सेना को भारी जानमाल की हानि हुई।

गुनाह नंबर 11 – योजना आयोग और मनमोहन सिंह को जोकर कहा 
संवैधानिक संस्थाओं को अपमानित करने का श्रेय भी राजीव गांधी को जाता है। उन्होंने योजना आयोग को जोकरों का समूह कहा था। गौरतलब है कि उस समय योजना आयोग को मनमोहन सिंह हेड कर रहे थे।

गुनाह नंबर 12 – 1 रुपये में 85 पैसे भ्रष्टाचार की खुली छूट दी
राजीव गांधी पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने भ्रष्टाचार की खुली छूट दी थी। उन्होंने खुद माना था कि एक रुपये में 85 पैसे भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है।

राजीव गांधी के बारे में ये 12 तथ्य बताते हैं कि उन्होंने भारत का कितना नुकसान किया। ऐसे में अगर भारत को आगे बढ़ाना है भूतकाल में हुई गलतियों को याद रखना जरूरी है।

Leave a Reply