Home समाचार इजरायल में जीता चौकीदार, अब भारत का इंतजार

इजरायल में जीता चौकीदार, अब भारत का इंतजार

499
SHARE

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू का पांचवीं बार देश का प्रधानमंत्री बनना तय हो गया है। चुनाव के अंतिम नतीजे अभी घोषित नहीं किए गए, लेकिन नेतान्याहू की सत्ता में वापसी निश्चित हो चुकी है। इजरायल के चुनाव परिणाम दुनिया भर में राष्ट्रवादी सरकारों के बढ़ते ट्रेंड के अनुरूप ही है और अब सबकी निगाहें भारत पर टिकी हैं जहां फिलहाल लोकसभा चुनाव हो रहे हैं। अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप हों या इजरायल में नेतान्याहू, इनकी चुनावी जीतों से स्पष्ट है कि लोग राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रवाद के मुद्दों को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं।

इसलिए भारत पर टिकी हैं निगाहें

  • क्योंकि भारत पूरी दुनिया को राष्ट्रवाद का रास्ता दिखा रहा है लेकिन कुछ पार्टियां राष्ट्रीयता की भावना को कमजोर करने की कोशिश कर रही हैं।
  • क्योंकि भारत का चुनाव दो विचारधाराओं की लड़ाई है जिसमें एक ओर भाजपा है जो राष्ट्रवाद के मुद्दे पर लड़ रही है जबकि दूसरी ओर बेमेल पार्टियों का गठबंधन है जो लोगों को झूठे प्रलोभन दे रहा है।
  • क्योंकि भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय मुद्दों पर लोगों को जोड़ रही है जबकि विपक्षी पार्टियां जाति और धर्म के आधार पर उन्हें बांटने की कोशिश कर रही हैं।
  • क्योंकि पिछले पांच साल में पूरी दुनिया में भारत एक मजबूत राष्ट्र के रूप में उभरा है लेकिन कुछ पार्टियां राष्ट्र विरोधी ताकतों की मदद से इसे कमजोर करने की कोशिश कर रही हैं।
  • क्योंकि मोदी देश में भयमुक्त माहौल चाहते हैं जबकि विपक्षी दल अनावश्यक भय का माहौल पैदा कर लोगों को डराने की कोशिश कर रहे हैं।

कई मायनो में एक जैसे हैं भारत और इजरायल के चुनाव

  • भारत में चुनाव पीएम नरेन्द्र मोदी के इर्द-गिर्द हो रहा है जबकि इजरायल में नेतान्याहू ही चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा थे।
  • मोदी खुद को चौकीदार बताते हैं तो नेतान्याहू मिस्टर सिक्योरिटी।
  • जैसे भारत में मोदी का मुकाबला महागठबंधन और अन्य विपक्षी पार्टियों से है, वैसे ही नेतान्याहू का मुकालबा वामपंथी पार्टियों के गठबंधन से था।
  • दोनों ही देशों में आतंकवाद बड़ा चुनावी मुद्दा है। मोदी अपने हर भाषण में पाकिस्तान का जिक्र करते हैं तो नेतान्याहू अपने चुनावी भाषणों में फिलीस्तीन की चर्चा जरूर करते थे।
  • मोदी और नेतान्याहू दोनों का दावा है कि उनके सत्ता में आने पर देश सुरक्षित रहेगा।
  • चुनाव जीतने के बाद नेतान्याहू इजरायल के इतिहास में सबसे लंबे समय तक पद पर रहने वाले पीएम बन सकते हैं। मोदी जीते तो सबसे लंबे समय तक पद पर रहने वाले गैर कांग्रेसी पीएम बन जाएंगे।

 

Leave a Reply