Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी को ‘वर्ल्ड लीडर’ मानती है दुनिया

प्रधानमंत्री मोदी को ‘वर्ल्ड लीडर’ मानती है दुनिया

90
SHARE

व्यक्तित्व, वक्तव्य और प्रतिनिधित्व के सर्वाधिक धनी शख्सियत हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। आज पूरी दुनिया उनके दमदार व्यक्तित्व और शानदार प्रतिनिधित्व का कायल है। घरेलू राजनीति में वे जितने लोकप्रिय हैं वैसे ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी एक अमिट छाप छोड़ चुके हैं। आज पीएम मोदी देश-विदेश में कहीं जाते हैं तो लोग उनसे हाथ मिलाने, साथ में फोटो खिंचवाने और सेल्फी लेने को आतुर रहते हैं। ऐसी लोकप्रियता आज विश्व में किसी राजनेता की नहीं दिखती है। आलम यह है कि विश्व के कई राजनेताओं ने भी पीएम मोदी को ग्लोबल लीडर माना है। पीएम मोदी को लेकर फिलीस्तीन के प्रधानमंत्री डॉ. रामी हमदल्लाह का भी यही मानना है कि पीएम वर्ल्ड लीडर हैं।  

फिलीस्तीन ने कहा वर्ल्ड लीडर हैं मोदी
फिलीस्तीन के प्रधानमंत्री डॉ. रामी हमदल्लाह ने नरेंद्र मोदी को वर्ल्ड लीडर बताया है। प्रधानमंत्री मोदी भारत के पहले पीएम हैं जो फिलीस्तीन के दौरे पर गए हैं। यही नहीं प्रधानमंत्री मोदी पहले पीएम हैं जिन्होंने इजरायल का दौरा किया था। दरअसल इजरायल और फिलीस्तीन परम्परागत रूप से एक दूसरे के दुश्मन माने जाते हैं… लेकिन दोनों ही देशों के बीच तालमेल बिठाने और दोनों ही देशों से संबंधों को एक नये आयाम पर ले जाने में पीएम मोदी ने जबरदस्त सफलता पायी है।  डॉ. हमदल्लाह ने पीएम मोदी को वर्ल्ड लीडर माना और कहा, ”हम जैसे विकासशील देशों के लिए भारत का आर्थिक और राजनीतिक ताकत के तौर पर उदय होना अच्छी बात है।”

लोकप्रियता में ट्रंप-पुतिन के आगे हैं पीएम मोदी
वैश्विक स्तर पर प्रधानमंत्री मोदी की प्रसिद्धि बढ़ती जा रही है। गैलप इंटरनेशनल ने अपने ताजा सर्वे में पीएम मोदी के दुनिया का तीसरा सबसे लोकप्रिय नेता करार दिया है। जनवरी, 2018 में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार गैलप इंटरनेशनल ने अपने सर्वे में 55 देशों के लोगों से कई सवाल पूछे और उन्हीं के आधार पर अपने वार्षिक सर्वेक्षण में पीएम मोदी के लोकप्रिय नेताओं की लिस्ट में तीसरे पायदान पर रखा। पीएम मोदी ने लोकप्रियता के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, रूस के राष्ट्रपति ब्लादमीर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी पीछे छोड़ दिया है।

सुपर पॉवर्स का नेतृत्व कर सकते हैं पीएम मोदी- EU
प्रधानमंत्री के यूरोपीय देशों के दौरे और पेरिस जलवायु सम्मेलन को लेकर मई, 2017 में छपी रिपोर्ट से समझा जा सकता है कि पीएम मोदी के बारे में दुनिया क्या सोच रही है। एक प्रतिष्ठित जर्मन समाचार पत्र में – ‘पूरब से उम्मीद’ (भारत को वरीयता) शीर्षक से छपी इस रिपोर्ट में लिखा है कि जर्मन सरकार के प्रवक्ता कई बार जवाब दे चुके हैं कि अगर G-7 का नेतृत्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप नहीं करते हैं, तो क्या नरेंद्र मोदी करेंगे? इसमें कोई संदेह नहीं कि मोदी ग्लोबल लीडर के तौर पर कई को पीछे छोड़ चुके हैं। उनका व्यक्तित्व ऐसा है कि वह सभी सुपरपावर्स का नेतृत्व कर सकते हैं। जाहिर तौर पर यूरोपियन यूनियन भारत के प्रधानमंत्री मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति के विकल्प के तौर पर देख रहा है।

ट्रंप पुतिन से आगे मोदी के लिए इमेज परिणाम

इजरायल ने कहा, ”सबसे महत्वपूर्ण मोदी”
जून 2017 में जब प्रधानमंत्री मोदी इजरायल के दौरे पर जाने वाले थे तो इजरायली अखबार के इस उद्गार से समझा जा सकता है कि पीएम मोदी की कितनी अहमियत है। अखबार ने लिखा, ‘जागो, दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री आ रहे हैं।’

जागो दुनिया के सबसे के लिए इमेज परिणाम

इजरायली बिजनेस डेली ‘द मार्कर’ ने अपने हिब्रू संस्करण की सबसे प्रमुख स्टोरी में भारत-इजरायल संबंधों पर कहा,  ”इजरायलियों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से उनकी इजरायल यात्रा को लेकर बहुत उम्मीदें लगा रखी थीं। लेकिन उन्होंने कुछ खास नहीं कहा। जबकि 1.25 अरब लोगों के नेता मोदी बेहद लोकप्रिय और सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था वाले देश के प्रतिनिधि मोदी इतने समर्थ हैं कि पूरी दुनिया उनकी ओर देख रही है।”

जागो दुनिया के सबसे के लिए इमेज परिणाम

चीन को चुनौती देने वाले एक मात्र नेता मोदी
जिस तरह से चीन दुनिया में अपनी धाक जमाता जा रहा है इससे अमेरिका जैसे देश भी घबराए हुए हैं, लेकिन भारत न तो चीन से घबराता है और न ही उसकी धौंसपट्टी को मानता है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व को देखकर उल्टा चीन ही परेशानी में पड़ा हुआ है। नवंबर, 2017 में चीन मामलों पर अमेरिकी विशेषज्ञों ने भी भारतीय प्रधानमंत्री को एक मजबूत शख्सियत माना और कहा कि चीन को चुनौती देने वाले एक मात्र नेता नरेंद्र मोदी हैं।

अमेरिका के अग्रणी थिंक-टैंक हडसन इंस्टीट्यूट में चीनी रणनीति पर केंद्र के निदेशक माइकल पिल्‍सबरी ने कांग्रेस की एक सुनवाई के दौरान अमेरिकी सांसदों के समक्ष कहा, ”प्रधानमंत्री मोदी एकमात्र वैश्विक नेता हैं, जिन्‍होंने बेल्‍ट एंड रोड इनिशिएटिव यानि BRI पर खुलकर बात रखी है। मोदी और उनकी टीम के इस रुख का कारण आंशिक तौर यह हो सकता है कि बेल्‍ट एंड रोड इनिशिएटिव परियोजना से भारतीय संप्रभुता के दावों का उल्‍लंघन होता है। यह पांच साल पुरानी परियोजना है और अमेरिकी सरकार अब भी इस पर खामोश है।”

सोशल मीडिया के किंग हैं प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया पर नया कीर्तिमान स्थापित करते रहे हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर पीएम मोदी ने फॉलोअर्स की संख्या 40.1 मिलियन यानि 4 करोड़ पार कर गई है जबकि वह मात्र 1,867 लोगों को फॉलो करते हैं। यही नहीं पीएम मोदी के इंस्टाग्राम फॉलोअर्स की संख्या 11.5 मिलियन, फेसबुक पर 4 करोड़ 27 लाख, गूगल प्लस पर 32 लाख 48 हजार और लिंक्डइन पर 24 लाख 72 हजार फॉलोअर हैं। ये आंकड़े बताते हैं कि पीएम मोदी राजनीति के ही नहीं सोशल मीडिया के भी किंग हैं।

LEAVE A REPLY