Home समाचार दूसरे चरण के मतदान के बाद मोदी का दोबारा पीएम बनना तय

दूसरे चरण के मतदान के बाद मोदी का दोबारा पीएम बनना तय

280
SHARE

लोकसभा चुनाव के लिए गुरुवार को दूसरे चरण की वोटिंग के बाद विपक्षी पार्टियों की सांस उखड़ने लगी है। इसका कारण यह है कि वोटिंग ट्रेंड्स से यह स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री मोदी को फिर से पीएम बनाने के लिए पूरे देश में एक जैसी लहर है। दूसरे चरण में 95 सीटों के लिए करीब 68 प्रतिशत मतदान हुआ, जो 2014 के आंकड़ों से करीब 3 प्रतिशत ज्यादा है। वोटिंग के ट्रेंड से पता चलता है कि बीजेपी के गढ़ वाले इलाकों में मतदान ज्यादा हुआ है। 2014 में इन 95 में से 64 सीटें एनडीए ने जीती थीं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बार यह आंकड़ा बढ़कर 80 के पार जा सकता है। इतना ही नहीं, पहले दो चरण की वोटिंग के बाद अनुमान है कि बीजेपी अपने दम पर 2014 से ज्यादा सीटें जीतेगी और एनडीए की सीटों का आंकड़ा 400 से ज्यादा हो सकता है।

वोटिंग के आंकड़े और उनके मायने

  • सबसे ज्यादा वोटिंग पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी में हुआ है जहां क्रमशः टीएमसी और कांग्रेस की सरकार है। ज्यादा वोटिंग का स्पष्ट मतलब है कि लोग राज्य सरकार से नाराज हैं और बदलाव चाहते हैं।
  • सबसे कम वोटिंग जम्मू कश्मीर में हुआ। सूत्रों के अनुसार राज्य की दो बड़ी पार्टियां- नेशनल कॉन्फ्रेंस औप पीडीपी के नेताओं के राष्ट्रविरोधी बयानों से उनके समर्थक नाराज हैं और वोटिंग से दूर रहे।
  • उत्तर प्रदेश की 8 सीटों के लिए हुई वोटिंग में 2014 से ज्यादा मतदान हुआ यानी महागठबंधन के समर्थक वोटर ज्यादा उत्साहित नहीं थे। एक कारण यह भी है कि 2014 में इन आठों सीटों पर बीजेपी जीती थी।
  • 2014 में कांग्रेस, आरजेडी, बीजू जनता दल और डीएमके द्वारा जीती गई सीटों पर मतदान में कमी आई है। विशेषज्ञों का मानना है कि विपक्षी पार्टियां अपने समर्थकों को बूथ तक नहीं ला पाईं।

 

Leave a Reply