Home पोल खोल चुनावों में हार के लिए केजरीवाल जिम्मेदार- कुमार विश्वास

चुनावों में हार के लिए केजरीवाल जिम्मेदार- कुमार विश्वास

सर्जिकल स्ट्राइक का विरोध है पंजाब, गोवा, MCD में हार की वजह- कुमार विश्वास

846
SHARE

आप नेता अरविन्द केजरीवाल पर उनकी ही पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक हमला किया है। कुमार विश्वास ने न सिर्फ ईवीएम को दोष ठहराने के अपने नेता के फैसले को गलत बताया है, बल्कि उन्होंने ये भी कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के विरोध की वजह से ही पंजाब, गोवा और एमसीडी चुनावों में हार हुई है।

हिंदी समाचार चैनल आजतक को दिए एक इंटरव्यू में विश्वास ने केजरीवाल की नीतियों पर जमकर प्रहार किये हैं। उन्होंने एमसीडी चुनाव में ‘आप’ की हार के ढेरों कारण गिनाए हैं, जिसमें पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की कमी और मतदाताओं में भरोसे की कमी प्रमुख हैं। कुमार विश्वास ने हार के लिए ईवीएम पर दोष मढ़ने पर भी नाखुशी जताई है। उन्होंने कहा है, ” हम ईवीएम को दोष नहीं दे सकते, वो मुख्य मुद्दा नहीं है, मुख्य मुद्दा अविश्वास का है।” विश्वास के अनुसार आम आदमी पार्टी के नेताओं का मतदाताओं से दूर-दूर तक जुड़ाव नहीं दिख रहा था, इसके लिए अब पार्टी को बहुत कठिन आत्मचिंतन की आवश्यकता है।

कुमार विश्वास ने केजरीवाल पर सबसे बड़ा हमला ये कहकर किया है कि, उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक के मामले पर प्रधानमंत्री पर निशाना साधके बहुत बड़ी गलती की थी और उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था। कुमार विश्वास का ये इंटरव्यू देखिए-


पीएम मोदी पर निशाना साधकर गलती की
कुमार विश्वास ने साफ कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के मामले में पार्टी सुप्रीमो ने जिस तरह से सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया, वो बहुत ही गलत निर्णय था। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा है कि मोदी जी देश के प्रधानमंत्री हैं और इस तरह से उन पर निशाना साधना अच्छा नहीं था।

अपनी गलतियों के चलते हार
उन्होंने कहा कि पार्टी में परिवर्तन की आवश्यकता है। पार्टी अपनी गलतियों के चलते एमसीडी चुनाव हारी है। उन्होंने कहा कि गोपाल राय को दिल्ली का इनचार्ज बनाया गया था, लेकिन उनके साथ चुनाव के मुद्दे पर कोई बातचीत नहीं की गई थी।

ईवीएम का बहाना गलत
विश्वास ने कहा कि यह पार्टी की छठी हार है। इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि हम लोग अपने ही कार्यकर्ताओं से कट गये हैं। इस तरह ईवीएम पर हार का ठीकरा फोड़ना सही नहीं है। हम इसलिए हारे क्योंकि मतदाताओं ने हमें वोट नहीं दिया। हार पर बहानेबाजी करने से अच्छा है कि इस पर आत्मचिंतन करनी चाहिए।

बंद कमरों में हुए कई फैसले
कुमार ने एमसीडी चुनाव में हार पर कहा कि, “निश्चित रूप से हमसे कार्यकर्ताओं के कई सवाल छूटे हैं, जिन्हें हमें पारदर्शिता के साथ एड्रेस करना चाहिए था।” पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की कमी और टिकट बंटवारे में अनियमितता का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, “चुनावों में गलत लोगों को टिकट दिये गये, पंजाब में तो कांग्रेस और अकाली दल के लोगों को ही टिकट दिया गया था। पार्टी के अंदर कई गलत फैसले लिए गए थे, कई फैसले बंद कमरों में भी लिए गए।”

पार्टी में परिवर्तन पर
पार्टी नेतृत्व में परिवर्तन के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि इस पर पार्टी की बैठक में फैसला करेंगे। उनके अनुसार संजय सिंह, दुर्गेश पाठक का इस्तीफा देना बहुत देर से उठाया गया कदम था। उन्होंने साफ कहा कि वो लोग जंतर-मंतर पर कांग्रेस, मोदी या ईवीएम के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए नहीं बैठे थे।

एमसीडी चुनाव में बुरी तरह हारी आप
270 सीटों के लिए हुए एमसीडी चुनाव में भाजपा को 181, तो दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को सिर्फ 48 सीटें मिली थी। इस करारी हार के बाद से आम आदमी पार्टी में उथल-पुथल मचा हुआ है। संजय सिंह, दुर्गेश पाठक, दिलीप पांडेय, अलका लांबा जैसे नेताओं ने अपनी-अपनी जिम्मेदारियों से त्यागपत्र दे दिया है।

LEAVE A REPLY