Home समाचार चौतरफा परिवर्तन के दौर में देश-विदेश के निवेशकों के लिए भारत में...

चौतरफा परिवर्तन के दौर में देश-विदेश के निवेशकों के लिए भारत में सर्वोत्तम माहौल – प्रधानमंत्री मोदी

250
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि विकास के लिए तीन पी यानी पोटेंशियल, पॉलिसी और परफॉर्मेंस बेहद जरूरी हैं। पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने भरसक प्रयास किया है कि देश में निवेशकों के लिए बेहतर माहौल बने। इसके लिए हमने देश में टैक्स सिस्टम को बेहतर बनाया है हमारी कोशिश इसे अधिक सुगम और पारदर्शी बनाने की है। उन्होंने कहा, ”बिजनेस करना पहले से आसान हुआ है। बैंकिंग व्यवस्था भी पहले से मजबूत हुई है। हम इसे और अधिक तेज और पारदर्शी बनाने की कोशिश कर रहे हैं।” प्रधानमंत्री ने कहा, दुनिया की हर बड़ी संस्था कह रही है की भारत आने वाले दशकों में वर्ल्ड ग्रोथ का प्रमुख इंजन बनने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा, ”न्यू इंडिया इन्वेस्टमेंट का बेहतरीन डेस्टिनेशन है और उत्तराखंड इसका चमकता हुआ हिस्सा है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में ऐसे समय में सभी इकट्ठे हुए हुए हैं जब भारत में तेज गति से सामाजिक और आर्थिक बदलाव आ रहा है। हम नए भारत की तरफ बढ़ रहे हैं। मिडिल क्लास का तेजी से विकास हो रहा है और 80 प्रतिशत युवा शक्ति सामर्थ्य से भरपूर है। उत्तराखंड देश को उर्जावान बना सकता है। पीएम मोदी ने कहा कि जब अटल जी ने उत्तराखंड बनाया था तब अपेक्षाओं के साथ पहाड़ जैसी चुनौतियां भी थीं। हमारे नौजवानों में ताकत है। आज उत्तराखंड की उम्र भी 18 साल है और 18 साल की उम्र का बड़ा महत्व होता है। इन 18 साल को बेकार न जाने दें।

पीएम मोदी ने उत्तराखंड सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि त्रिवेंद्र सिंह जी की सरकार असीम संभावनाओं को अवसरों में बदलने की कोशिश करती आई है। उन्होंने कहा कि जब मैं सीएम था तो गुजरात को साउथ कोरिया जैसा बनाना चाहता था। ऐसा इसलिए क्योंकि दोनों की जनसंख्या समान है और दोनों की समुद्री तट पर हैं।

प्रधानमंत्री ने स्पेशल इकोनॉमिक जोन की चर्चा करते हुए कहा, ‘’उत्तराखंड में अलग SEZ है, जो कि ‘स्पिरिचुअल इको जोन’ है और स्पेशल इकोनॉमिक जोन से काफी ज्यादा है। औषधियों के कारण, मां गंगा के कारण, तपस्या के कारण ऐसा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड टूरिज्म का एक कंपलीट पैकेज है, एक आदर्श गंतव्य है। साथ ही उत्तराखंड न्यू इंडिया का प्रतिनिधित्व कर रहा है। ऑर्गेनिक फार्मिंग सेक्टर में उत्तराखंड ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। फूड प्रोसेसिंग सेक्टर को मजबूत करने के लिए हमने 100% FDI को मंजूरी दी है। फूड प्रोसेसिंग के मामले में भारत आज दुनिया के अग्रणी देशों में शामिल है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की प्रगति हमारे राज्यों के पोटेंशियल को मैक्सिमम चैनलाइज करें दो देश की विकास यात्रा को दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती। उन्होंने कहा कि ये खुशी की बात है कि राज्यों के बीच स्पर्धा शुरू हुई है। हर राज्य इनोवेटशन करना चाहता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश-विदेश के इंवेस्टर्स के लिए भारत में सबसे अच्छा माहौल बना है। हाल ही में शुरू हुई आयुष्मान योजना से मेडिकल सेक्टर में निवेश की संभावना बढ़ी हैं। आने वाले समय में टू टायर थ्री टायर शहरों में मेडिकल कॉलेज बनेंगे, नए अस्पताल बनेंगे।

प्रधानमंत्री ने बताया कि फिस्कल डेफिसिट कम हुआ है, महंगाई पर नियंत्रण है। उन्होंने कहा कि मिडिल क्लास का प्रसार हो रहा है और 80 करोड़ से अधिक युवा देश की ऊर्जा के स्रोत बने हुए हैं। उन्होंने कहा भारत में जिस स्पीड, स्केल और स्किल पर आर्थिक सुधार हुए हैं, वह अभूतपूर्व हैं। उन्होंने जानकारी दी कि पिछले दो वर्षो में केंद्र और राज्य सरकारों के द्वारा 10 हजार से अधिक सुधारवादी कदम उठाए गई हैं। उन्होंने कहा कि इसी कारण बीते चार वर्षों में भारत ने ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में 42 अंकों का सुधार किया है। इसमें 1400 से ज्यादा कानून खत्म किए गए हैं और टैक्स व्यवस्था में भी सुधार किए गए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि इनसॉल्वेंसी और बैंकरप्सी कोड से कारोबार आसान होने के साथ बैंकिंग सेक्टर को ताकत दी है। जीएसटी ने देश को सिंगल मार्केट में बदलने के साथ टैक्स पेयर्स बढ़ाने में भी मदद की है।

उन्होंने जानकारी दी कि पिछले वर्ष 10 हजार किलोमीटर नेशनल हाईवे का निर्माण हुआ है। यानि करीब करीब 27 किलोमीटर प्रतिदिन की गति की काम से हुआ है। पहले की सरकारों की तुलना में डबल है। रेलवे लाइन के निर्माण में भी तेजी से काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार चार सौ रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण करने की दिशा में आगे बढ रही है। उन्होंने कहा कि भारत में लगातार नई मेट्रो, रेल लाइन का निर्माण किया जा रहा है। देश के आम लोगों तक बैंकिंग की सुविधा पहुंचाई जा रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि एवियेशन सेक्टर भी भारत में रिकॉर्ड गति से आगे बढ़ रहा है। इसे और तेज करने के लिए करीब करीब सौ हेलीपैड बनाए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने जानकारी दी कि एमएसएमई के लिए 1 करोड़ तक का लोन बहुत ही कम समय में उपलब्ध कराया जा रहा है। लोगों को ज्यादा परेशान न होना पड़े इसके लिए ज्यादातर व्यवस्थाओं को ऑनलाइन किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया के कई बड़े ब्रैंड्स आज ‘मेक इन इंडिया’ का हिस्सा हैं। जो कार पहले जापान में बनती थी अब इंडिया में बनती है और उस कार को जापान इंपोर्ट करती है। पीएम मोदी ने बताया कि प्रीमियम एनर्जी के मामले में भारत वर्ल्ड लीडर बनने की ओर अग्रसर है।

आपको बता दें कि निवेशकों को आकर्षित करने के लिए राज्य ने 12 अलग-अलग क्षेत्रों में 20 हजार करोड़ रुपये के निवेश किए जाने हैं। सम्मेलन में देश के अनेक प्रमुख उद्योगपतियों और इकाइयों के साथ जापान, चेक गणराज्य, अर्जेंटीना, मॉरीशस और नेपाल के निवेशकों ने भी इस सम्मेलन में हिस्सा लिया। गौरतलब है कि प्रदेश के पहाड़ी जिलों में निवेश को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 13 डिस्ट्रिक 13 न्यू डेस्टिनेशन पर कार्य किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY