Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सर्व समाज की पार्टी है भाजपा

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सर्व समाज की पार्टी है भाजपा

358
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमेशा ‘सबका साथ-सबका विकास’ की बात की है। उन्होंने जाति-धर्म का भेद किए बिना अपनी सारी योजनाएं जमीन पर उतारी हैं और देश के जनमानस में अपनी अमिट जगह बना ली है। कर्नाटक चुनाव ने एक बार फिर यह साबित किया है कि लोग उनकी बातों पर विश्वास करते हैं और आज भी यह भरोसा कायम है। बीजेपी को प्रदेश में हर वर्ग और जाति से वोट मिले है, जिसकी वजह से सत्ता में पुनर्वापसी की राह आसान हुई है।

आइये हम नजर डालते हैं उन आकड़ों पर जो ये बात साबित करते हैं कि भाजपा सर्वसमाज की पार्टी है-

दलित समुदाय का भाजपा पर भरोसा
एससी-एसटी वोटर्स ने भी बीजेपी पर भरोसा जताया है। 2013 में बीजेपी को 23 सीटें मिली थीं, लेकिन 2018 में बीजेपी को दलित बहुल 62 सीटों में 28 पर जीत मिल रही है।

भाजपा के समर्थन में लिंगायत समुदाय
2013 के चुनाव में बीजेपी को 62 लिंगायत बहुत क्षेत्र से 29 सीटों पर जीत हासिल हुई थी, लेकिन 2018 में ये जीत और बड़ी हो गई। बीजेपी को करीब 40 सीटों पर जीत मिलती दिख रही है।

वोक्‍कालिगा वोटर्स को पसंद है भाजपा
वोक्‍कालिगा बहुल 43 सीटों में से बीजेपी 20 सीटों पर जीत हासिल करती नजर आ रही है, जबकि 2013 में वह सिर्फ 8 सीटों पर ही जीत हासिल कर सकी थी।

भाजपा को मुस्लिम समाज का समर्थन
कर्नाटक में 23 मुस्लिम बहुल सीटें हैं। 2013 में बीजेपी को 23 में से सिर्फ आठ सीटों पर जीत हासिल हुई थी, लेकिन इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी को दो सीटों का फायदा हुआ है।

तटीय क्षेत्रों में भाजपा का बढ़ा समर्थन
तटी क्षेत्र में अक्सर भाजपा पिछड़ती रही है, लेकिन तटीय क्षेत्र की 32 सीटों पर भी बीजेपी को पिछले चुनाव के मुकाबले 9 सीटों का फायदा होता दिख रहा है।

LEAVE A REPLY