Home पोल खोल ‘अर्बन नक्सल’ की मोदी और हिंदुओं को नीचा दिखाने का एक और...

‘अर्बन नक्सल’ की मोदी और हिंदुओं को नीचा दिखाने का एक और साजिश

166
SHARE

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से आयोजित कर्नाटक के सिंगर टी एम कृष्णा का कॉन्सर्ट रद्द होने पर बेवजह विवाद पैदा करने की कोशिश की जा रही है । एएआई ने ‘डांस एंड म्यूजिक इन द पार्क’ नाम से ये आयोजन स्पिक मैके के साथ शनिवार 17 नवंबर को दिल्ली में आयोजित करने की घोषणा की थी। इसमें कर्नाटक गायक टीएम कृष्णा को भी परफॉर्म करना था। लेकिन इस कॉन्सर्ट के लिए AAI को बहुत बुरा-भला कहा जा रहा था।    

गौरतलब है कि कहने को तो टी एम गायक हैं लेकिन हकीकत में वो हिंदुओं और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के घोर विरोधी हैं। अक्सर सोशल मीडिया पर मोदी और हिंदुओं के बारे में उनकी जहरीली टिप्पणी आती रहती है। इसलिए उनको ‘अर्बन नक्सल’ भी कहा जाता है। इतना ही नहीं टी एम कृष्णा के संगीत को लेकर जातिगत पक्षपात के आरोप लगते रहे हैं। इन्ही हरकतों के कारण उनके कार्यक्रम तक रद्द हो जाते हैं। इसी साल अगस्त में अमेरिका के मैरीलैंड में एक मंदिर में उनका कॉन्सर्ट रद्द करना पड़ा था। तब कृष्णा पर मंदिर में क्रिसमस के गीत गाने के आरोप लगे थे। आलोचकों का कहना है कि टी एम कृष्णा ने कर्नाटक शैली की गायकी को विकृत किया है और उसमें ईसाई प्रभाव वाले तत्व घुसाने की कोशिश की है। उनकी इन हरकतों के कारण कर्नाटक सभा भी उनसे किनारा कर चुकी है।

  ये कार्यक्रम रद्द होने के बाद ‘आजादी गैंग’ इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला बता रही है। हमेशा पीएम मोदी पर हमले की ताक में रहने वाले विपक्षी दलों ने इस मौके को भी भुनाने की साजिश रच डाली। दिल्ली सरकार के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने टीएम कृष्णा को दिल्ली में कार्यक्रम करने का न्योता दिया है। इससे साफ जाहिर हैं कि टी एम कृष्णा इस कार्यक्रम के बहाने मोदी विरोधियों का एजेंडा पूरा करना चाहते हैं।

कार्यक्रम रद्द होने की पूरी कहानी  

5 नवंबर को AAI ने ट्वीट कर दी आयोजन की जानकारी

दिल्ली में ‘डांस एंड म्यूजिक इन द पार्क’ नाम से होना था टी एम कृष्णा का कॉन्सर्ट

टी एम कृष्णा के विवादित बयानों पर भड़के लोग

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) को सुनाई खरी खरी

14 नवंबर को AAI को दी कॉन्सर्ट रद्द होने की जानकारी

कब-कब विवादों में रहे टी एम कृष्णा ?

मोदी और हिंदुओं के घोषित घोर विरोधी के रूप में पहचान

अक्सर सोशल मीडिया पर करते हैं विवादित पोस्ट

‘अर्बन नक्सल’ के तौर पर कुख्यात हैं

उनके गीतों में जातिगत टिप्पणियों और पक्षपात के आरोप लगते हैं

कर्नाटक गायन शैली को विकृत करने, ईसाई तत्व घुसेड़ने के आरोप

अमेरिका में मंदिर में हुआ आयोजन विवाद के बाद किया गया रद्द

LEAVE A REPLY