Home समाचार मुलायम के बाद अब सोनिया हुईं नाराज!

मुलायम के बाद अब सोनिया हुईं नाराज!

457
SHARE

समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार करने से इनकार कर दिया है। कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी चुनावों में प्रचार नहीं करेंगी। सूत्रों का कहना है कि यूपी में गठबंधन के बाद भी पार्टी की बेहतर स्थिति में नहीं है।

गठबंधन को लेकर राज्य कांग्रेस के नेताओं में भारी नाराजगी है। पार्टी के जिन नेताओं ने पिछले पांच साल से चुनाव लड़ने के लिए तैयारी की थी, वे गठबंधन के बाद मौका ना मिलने से गुस्से में हैं। उनका कहना है कि इससे पार्टी कुछ इलाकों में सिमट कर रह जाएगी। पार्टी पूरे राज्य में अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं करा पाएगी।

पार्टी नेता इसलिए भी नाराज है कि पिछले कुछ दिनों में उन्होंने अखिलेश सरकार के खिलाफ जो अभियान चलाए थे, वे बेकार चले गए। किसान यात्रा, खाट सभा और 27 साल यूपी बेहाल का नारा लगाने के बाद भी अखिलेश से हाथ मिलाना पार्टी के लिए भारी पड़ सकता है। स्थानीय कांग्रेस नेता जो अबतक अखिलेश सरकार की नाकामी को उजागर करने में लगे रहते थे, अब साथ आने पर मुद्दों को लेकर ऊहापोह में हैं।

मुलायम हुए कठोर
कांग्रेस-सपा गठबंधन के तुरंत बाद मुलायम सिंह ने भी साफ कर दिया था कि वह इस तालमेल के खिलाफ हैं। इसलिए वह प्रचार नहीं करेंगे। यह भी माना जा रहा है कि मुलायम अपने समर्थक निर्दलीय उम्मीदवारों को समर्थन दे सकते हैं। मुलायम सिंह ने कहा कि कांग्रेस को समाजवादी पार्टी ने 105 सीटें दी हैं। इन 105 सीटों पर उनके कार्यकर्ता और नेता चुनाव लड़ते। मुलायम सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी अकेले ही चुनाव जीत सकती थी। इस गठबंधन से पार्टी को नुकसान होगा। उन्होंने साफ कहा कि कांग्रेस ने इतने साल तक राज किया है, उसी वजह से हमारा देश पिछड़ गया।

चाचा शिवपाल भी नाराज
अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव भी कांग्रेस के साथ पार्टी के गठजोड़ से नाराज हैं। उनका कहना है कि राज्य में कांग्रेस की हैसियत 4 सीटें जीतने की भी नहीं है। ऐसे में 105 देने से पार्टी कार्यकर्ता हताश हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी के भीतर उनका कद जानबूझकर घटाया जा रहा है। शिवपाल यादव ने 11 मार्च को नई पार्टी बनाने का भी ऐलान किया है।

LEAVE A REPLY