Home नरेंद्र मोदी विशेष नॉर्थ ईस्ट और पूर्वी भारत को देश की ग्रोथ स्टोरी का इंजन...

नॉर्थ ईस्ट और पूर्वी भारत को देश की ग्रोथ स्टोरी का इंजन बनाने के लिए हम प्रतिबद्ध – प्रधानमंत्री मोदी

160
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिक्किम के पहले पाक्योंग एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। इसी के साथ सिक्किम भी देश के विमानन नक्शे पर आ गया है और देश में एयरपोर्ट की संख्या 100 पहुंच गई है। उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने पाक्योंग में सेंट जेवियर स्कूल मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ”नॉर्थ ईस्ट के राज्यों के विकास के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है और हर हफ्ते दो हफ्ते में कोई ना कोई केंद्रीय मंत्री उत्तर पूर्व के राज्यों का दौरा करते हैं।”

पीएम मोदी ने जानकारी दी कि अगले कुछ दिनों में पाक्योंग एयरपोर्ट से गुवाहाटी और कोलकाता के लिए फ्लाइट्स शुरू होंगी और आने वाले दिनों में इसे देश के अन्य हिस्सों से जोड़ा जाएगा। उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों के बावजूद एयरपोर्ट निर्माण पूरा किए जाने को भारतीय इंजीनियरिंग की अद्भुत क्षमता का उदाहरण बताया।

पीएम मोदी ने बताया कि आज हमारे 100 एयरपोर्ट चालू हो गए हैं, इसमें से 35 एयरपोर्ट बीते 4 वर्षों में जुड़े हैं। आजादी के बाद से साल 2014 तक 67 साल के बाद भी देश में 65 एयरपोर्ट थे। यानि 1 वर्ष में औसतन 1 हवाई अड्डा बनाया गया। बीते 4 वर्षों में औसतन 1 साल में 9 एयरपोर्ट तैयार हुए हैं।

गौरतलब है कि केन्द्र ने 2008 में पाक्योंग हवाई अड्डे को मंजूरी दी थी, लेकिन इसका निर्माण में 2014 के बाद तेजी आई। यह एयरपोर्ट राजधानी गंगटोक से करीब 33 किलोमीटर की दूरी पर है। इस एयरपोर्ट के बन जाने से इस राज्य के पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। चीन की सीमा से लगते इस एयरपोर्ट को रणनीतिक दृष्टि से भी काफी अहम माना जा रहा है। इस मौके पर पीएम मोदी ने बताया कि सिक्किम में 1500 करोड़ से ज्यादा के नैशनल हाइवे प्रोजेक्ट, 250 करोड़ से ज्यादा के सड़क के छोटे-छोटे काम जारी हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि पाक्योंग एयरपोर्ट इस थका देने वाली दूरी को मिनटों में समेटने वाला है। इससे सफर तो आसान और कम हुआ ही है, सरकार ने ये भी कोशिश की है यहां से आना जाना सामान्य व्यक्ति की पहुंच में भी रहे। इसलिए इस एयरपोर्ट को उड़ान योजना से जोड़ा गया है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि भारत डोमेस्टिक फ्लाइट्स के मामले में दुनिया का तीसरा बड़ा मार्केट बन गया है। इसके साथ ही हवाई सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों को विमान कम पड़ गए हैं। उन्होंने जानकारी दी कि आजादी के 70 वर्षों में देश में 400 विमान सेवा दे रहे थे। अब विमान सेवा देने वाली कंपनियों ने एक वर्ष में 1000 नये विमानों का ऑर्डर दिया है।

पीएम मोदी ने भारतीय संस्कृति और परम्परा में पूर्व दिशा और उसमें भू पूर्वोत्तर के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि उनकी सरकार इस क्षेत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सिक्किम को और नॉर्थ ईस्ट में इंफ्रास्ट्रक्चर और इमोशनल, दोनों तरह की कनेक्टिविटी को विस्तार देने का काम तेजी से चल रहा है। मैं खुद नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में विकास की जानकारी लेने कई बार आ चुका हूं। हर हफ्ते दो हफ्ते में कोई न कोई केंद्रीय मंत्री भी इस क्षेत्र में रहता है।

पीएम मोदी ने कहा कि इसका परिणाम क्या हुआ ये भी आप सभी अब जमीन पर देख रहे हैं। सिक्किम हो, अरुणाचल प्रदेश हो, मेघालय हो, मणिपुर, नागालैंड, असम, त्रिपुरा हो, नॉर्थ ईस्ट के सभी राज्यों में बहुत से काम पहली बार हो रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हवाई जहाज पहली बार पहुंचे हैं, रेल कनेक्टिविटी पहली बार पहुंची है, कई जगह बिजली पहली बार पहुंची है, चौड़े नेशनल हाईवे बन रहे हैं, गांव की सड़कें बन रही हैं, नदियों पर बड़े-बड़े पुल बन रहे हैं और डिजिटल इंडिया का विस्तार हो रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि ऑर्गेनिक फार्मिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार प्रयास कर रही है। इसके लिए परंपरागत कृषि विकास योजना के तहत काम किया जा रहा है। नॉर्थ ईस्ट में सरकार ने मिशन ऑर्गेनिक वेल्यू डवलेपमेंट फॉर नार्थ ईस्ट र्न रीजन चलाई है। इसके लिए करीब 400 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ट्रांसपोर्ट और टूरिज्म को ट्रांसफोर्मेशन का साधन बनाया गया है। इसके साथ आस्था, अध्यात्म और आदिवासी से जुड़े क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यहां श्रद्धालुओं और पर्यटकों के लिए सुविधाओं का निर्माण किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि सिक्किम को हरा-भरा बनाए रखने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने साढ़े तीन सौ करोड़ से अधिक राशि स्वीकृत किए हैं। नौ प्रोजेक्ट मंजूर हुए हैं उनमें से आठ गंगटोक और सिंगटम के लिए हैं। डेढ़ सौ करोड के प्रोजेक्ट रानी चू नदी को प्रदूषित हने से बचाने ला रहे हैं। इसके अलावा पर्यावरण बचाने के लिए पूरे नॉर्थ ईस्ट के लिए पूरे नॉर्थ ईस्ट के लिए करीब सवा सौ करोड की स्वीकृति दी जा चुकी है, जिसमें 50 करोड़ से अधिक रिलीज की जा चुकी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पर्यावरण, परिवहन और पर्यटन का आपस में गहरा रिश्ता है। इसलिए सिक्किम के लिए सिर्फ एयर कनेक्टिविटी पर ही बल नहीं बल्कि दूसरे साधनों पर भी बल दिया गया है। 1500 करोड़ के नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट के साथ 250 करोड़ की लागत से छोटी-छोटी सड़कें बनाई जा रही हैं। सिक्किम में ब्रॉड गेज से जोड़ने का काम तेज गति से चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सिक्किम में ट्रांसमिशन लाइन को ठीक करने के लिए 1500 करोड़ से अधिक की सहायता राज्य को दी गई है। उन्होंने कहा कि बिजली पैदा करने के मामले मे भी सिक्किम को देश के अग्रणी राज्यों शामिल करने के प्रयास किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा ऑर्गेनिक फार्मिंग के साथ वैल्यू एडिशन के साथ मार्केट की व्यवस्था की जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब इस हवाई अड्डा से फल-फूल घंटे भर में दिल्ली के बाजार में पहुंच जाएंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी भारत और पूर्वोत्तर के मुश्किल जीवन को और ईज ऑफ लिविंग को सुनिश्चित करने के लिए भाजपा और एनडीए की सरकार प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा हम नॉर्थ ईस्ट को विकास के नये युग के साथ जोड़ना चाहते हैं, न्यू इंडिया की धुरी बनाना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY