Home समाचार दल-दल में ज्यादा कमल खिलता है- प्रधानमंत्री मोदी

दल-दल में ज्यादा कमल खिलता है- प्रधानमंत्री मोदी

199
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में आयोजित विशाल किसान कल्याण रैली में अविश्वास प्रस्ताव के नाम पर विपक्ष की हरकतों की फिर एक बार पोल खोल कर रख दी। उन्होंने कहा कि भारत के हर हिस्से की जनता को सरकार पर विश्वास है, लेकिन कुछ दलों को मोदी पर विश्वास नहीं है। उन्होंने कहा कि जब मैंने उनसे अविश्वास प्रस्ताव का कारण पूछा तो वो कुछ नहीं बता पाए और गले पड़ गए। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक उनके साथ सवा करोड़ हिंदुस्तानियों की ताकत है, बाबासाहेब के संविधान की ताकत है, कितने भी दल मिलकर उनका कुछ नहीं कर सकते। प्रधानमंत्री ने कहा कि दल और दल मिलकर दलदल हो जाता है और जितना ज्यादा दलदल होता है, उतना ज्यादा कमल खिलता है।

ये कौन पंजा था, जो रुपये में से 85 पैसे मार लेता था? 
प्रधानमंत्री ने ये भी पूछा कि जब कांग्रेस का ही पंचायत से पार्लियामेंट तक राज चलता था, तब कौन एक रुपये को घिस-घिस कर 15 पैसे बना देता था? ये कौन पंजा था जो रुपये में से 85 पैसे मार लेता था? प्रधानमंत्री ने कहा कि क्या भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना गुनाह है? लाल बत्ती छीन लेना गुनाह है? लेकिन, कुछ लोग आज के भारत का मर्म नहीं समझते हैं। अहंकार, दंभ और दमन की आदतें आज का युवा भारत एक पल भी सहने को तैयार नहीं है। लोकतंत्र के हर तंत्र को धमकाने का उनका ये फॉर्मूला काम नहीं आने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा कि चाहे साइकिल हो या हाथी किसी को भी बना लो साथी, स्वार्थ के इस पूरे स्वांग को देश भलीभांति जान चुका है।

किसान और गांव ही हमारी प्राथमिकता : मोदी
रैली में प्रधानमंत्री को सुनने आए किसानों और आम लोगों के सैलाब को देखकर प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके आशीर्वाद और उत्साह से वे अभीभूत हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में सरकार ने गन्ने के लागत मूल्य पर लगभग 80 प्रतिशत का सीधा लाभ देने का फैसला किया है। इस बार सरकार ने गन्ने का मूल्य 20 रुपये बढ़ाकर 275 रुपये कर दिया है। गन्ने पर लागत अभी 155 रुपये प्रति क्विंटल है, जिसके आधार पर उसका तय मूल्य पौने दो गुना अधिक है। अगर चीनी की रिकवरी प्रति क्विंटल कम भी रहती है तो भी किसानों को पहले से अधिक का भाव मिलेगा। इसके अलावा धान, मक्का ,दाल और तेल वाली 14 फसलों के सरकारी मूल्य में भी 200 से 1,800 रुपये की ऐतिहासिक बढ़ोत्तरी की गई है। 

LEAVE A REPLY