Home विपक्ष विशेष क्या पीएम मोदी के गले लगने के बहाने उनकी कुर्सी छूना चाहते...

क्या पीएम मोदी के गले लगने के बहाने उनकी कुर्सी छूना चाहते थे राहुल? जानिए हकीकत

176
SHARE

लोकसभा में 20 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना भाषण खत्म कर अचनाक प्रधानमंत्री मोदी के पास पहुंच कर उनके गले लग गए। राहुल गांधी की इस हरकत से सदन में मौजूद हर सांसद हैरत में पड़ गया। सदन ही क्या जिसने भी टीवी पर यह नजारा देखा वो भी हैरान रह गया। सबके मन में यही सवाल था कि आखिर राहुल गांधी ने ऐसा क्यों किया। स्वयं प्रधानमंत्री मोदी भी नहीं समझ पाए कि अचानक राहुल ने ऐसा क्यों किया। बाद में कांग्रेस की तरफ से राहुल की इस हरकत के लिए तमाम दलीलें दी गईं, लेकिन राहुल के इस कदम की सच्चाई अब पता चली है।

तांत्रिक के कहने पर पीएम की कुर्सी छूने गए थे राहुल!
अब पता चल रहा है कि सदन की मर्यादा को ताक पर रखने वाली राहुल गांधी की इस हरकत के पीछे प्यार और सम्मान दिखाना नहीं बल्कि खुद के प्रधानमंत्री बनने की लालसा छिपी थी। पता चला है कि राहुल गांधी से एक तांत्रिक ने कहा था कि अगर वह लोकसभा में प्रधानमंत्री की कुर्सी को छू लेंगे तो उनके पीएम बनने का योग प्रबल हो जाएगा। राहुल गांधी अगर सदन में ऐसे ही पीएम की कुर्सी छूने जाते तो अजीब लगता। ऐसे में राहुल गांधी ने नाटक रचा और अपने भाषण के बाद अचानक प्रधानमंत्री मोदी के नजदीक पहुंच गए और उनके गले लग गए। मतलब साफ है कि गले लगना राहुल का मकसद नहीं था, असली मकसद था उनकी कुर्सी को छूना। 

राहुल के गले लगने वाली घटना में तांत्रिक का एंगल सामने आने के बाद ट्वीटर पर लोगों ने कांग्रेस अध्यक्ष को जमकर धोया है।

LEAVE A REPLY