Home चुनावी हलचल 1 करोड़ कमाने वाले राहुल गांधी के फटे कुर्ते का सच देखिए

1 करोड़ कमाने वाले राहुल गांधी के फटे कुर्ते का सच देखिए

995
SHARE

कभी इंदिरा गांधी ने ‘गरीबी हटाओ’ का नारा देकर गरीबों की सहानुभूति बटोरने की कोशिश की थी, लेकिन बरसों बाद उनके पोता राहुल गांधी ने गरीबों का मजाक उड़ाया है। ऋषिकेश पहुंचकर राहुल गांधी ने जो हरकत की, वो न सिर्फ शर्मनाक है, बल्कि गरीबों के साथ ओछी हरकत भी। ऋषिकेश में एक रैली के दौरान वो जनता के बीच पहुंचे और दिखाया कि वो फटा हुआ कुर्ता पहन रहे हैं। उन्होंने इस प्रकार दिखाया मानो गरीबी की वजह से वो दूसरा कुर्ता नहीं खरीद सकते। राहुल गांधी की इस घटिया हरकत के बारे में आगे बताएंगे, लेकिन जरा देखिए, मोदी जी का विरोध करते हुए उन्होंने क्या कहा –

“मेरा पॉकेट, कुर्ता तो फटा है पर मुझे फर्क नहीं पड़ता लेकिन मोदीजी का कपड़ा कभी नहीं फटा होगा। वे 10 लाख का सूट पहनते हैं।“

लेकिन सवाल ये है कि क्या वो गरीबी की वजह से फटा कुर्ता पहन रहे हैं, या फिर मोदी विरोध में इस नीचता तक उतर आए हैं और गरीबों का ही मजाक उड़ा रहे हैं?

राहुल की सालाना आमदनी 1 करोड़ रुपये

जरा उन आंकड़ों पर नजर डालिए, जिसके तहत लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने हलफनामा देकर अपनी आय बताई थी। इस हलफनामे के मुताबिक राहुल गांधी ने खुद जानकारी दी कि उनके पास 9 करोड़ 40 लाख रुपये की संपत्ति थी। 2012-13 में राहुल गांधी ने अपनी आमदनी 92 लाख 46 हजार रुपये दिखाई थी। इसका मतलब ये है कि उनकी आमदनी प्रति वर्ष एक करोड़ के करीब है। अब जरा ये सोचिए कि वो नया कुर्ता खरीद पाने में असमर्थ हैं या फिर गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं।

राहुल पहले भी गरीबों का उड़ा चुके हैं मजाक

ये पहला मामला नहीं है जब राहुल गांधी ने गरीबों का मजाक उड़ाया हो, इससे पहले 2013 में भी वो ऐसी हरकत कर चुके हैं। इलाहाबाद में गोविन्द बल्लभ पंत सामाजिक विज्ञान के दलित रिसोर्स सेंटर में तो इन्होंने गरीबी को मानसिक अवस्था बता दिया था। राहुल ने कहा था –

“गरीबी बस मानसिक अवस्था है। इसका संबंध भोजन, पैसा या दूसरी चीजों की कमी से नहीं है। जब तक आपमें आत्मविश्वास नहीं होगा, आप गरीबी से नहीं उबर पाएंगे।“

कांग्रेसी नेता भी गरीबों का उड़ाते रहे हैं मजाक

तब राज बब्बर कांग्रेस के प्रवक्ता थे। अभी यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं।

गरीबों का मजाक उड़ाने में कांग्रेस के बाकी नेता भी राहुल गांधी का अनुसरण करते रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस नेता राशिद मसूद ने कहा था कि गरीब 5 रुपये प्लेट खाना खाकर अपना पेट भर सकते हैं। यही नहीं इस समय यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने भी मजाक उड़ाते हुए कहा था कि गरीब 12 रुपये में अपना पेट भर सकता है। बाकी रही कसर राहुल के सिपहसालार कपिल सिब्बल ने पूरी कर दी थी। सिब्बल ने कहा था कि “गरीब पहले दाल-रोटी खाते थे, अब सब्जी भी खाने लगे हैं। इस वजह से महंगाई बढ़ गयी है और उत्पादन में कमी आयी है।“

जरा सोचिए राहुल गांधी और उनके कांग्रेसी नेता मोदी विरोध में क्या-क्या करेंगे। राहुल गांधी को इतना तो पता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी चाय बेचा करते थे। गरीब परिवार से आए हैं। जाहिर तौर पर उन्होंने फटे पुराने कपड़े पहने होंगे। लेकिन राहुल गांधी ने मोदी का विरोध करते हुए जो राजनीतिक नौटंकी की है, उससे इस देश के गरीबों का दिल दुखाया है।

LEAVE A REPLY