Home समाचार सामने आया राहुल गांधी का भ्रष्टाचार, बिजनेस पार्टनर को दिलाए करोड़ों के...

सामने आया राहुल गांधी का भ्रष्टाचार, बिजनेस पार्टनर को दिलाए करोड़ों के सरकारी कॉन्ट्रैक्ट

497
SHARE

नागरिकता पर विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नया विवाद सामने आ गया है। खबरों के मुताबिक जिस कंपनी के एनुअल रिपोर्ट के आधार पर राहुल की भारतीय नागरिकता पर सवाल उठे हैं, उसी कंपनी के को-प्रमोटर को यूपीए शासनकाल में डिफेंस डील में ऑफसेट पार्टनर बनाया गया। फरवरी, 2009 में कंपनी बंद होने से पहले राहुल की इस कंपनी में 65 फीसदी भागीदारी थी। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी में बाकी 35 फीसदी भागीदारी उलरिक मैकनाइट के पास थी, जिसे डिफेंस डील में ऑफसेट पार्टनर बनाया गया। इतना ही नहीं, कंपनी बंद होने के बाद भी यूरोप में इसकी सहयोगी कंपनियों को डिफेंस डील का फायदा पहुंचाया गया।

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हैं ब्रिटेन के नागरिक!

पूरी खबर यहां पढ़ेंः Rahul Gandhi’s former business partner got defence offset contracts during UPA regime

प्रियंका भी आरोपों के घेरे में

मिड डे की रिपोर्ट के अनुसार 2002 में बनी राहुल के स्वामित्व वाली कंपनी बैकऑप्स सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड को करोड़ों के कॉन्ट्रैक्ट मिले। इनमें मुंबई के कुछ सबसे बड़े बिल्डिंग प्रोजेक्ट्स के अलावा विदेशी कॉन्ट्रैक्ट भी शामिल हैं। खास बात यह है कि राहुल गांधी इस कंपनी के 83 फीसदी शेयरों के मालिक थे और प्रियंका गांधी भी कंपनी की को-डायरेक्टर थीं। गंभीर मामला यह है कि राहुल ने अमेठी में नॉमिनेशन के समय जानकारी दी थी कि कंपनी का कुल बैंक बैलेंस केवल 3 लाख रुपए है, फिर करोड़ों के प्रोजेक्ट्स इसे किस आधार पर मिले।

Leave a Reply