Home समाचार UNGA में 17 मिनट के भाषण में PM मोदी ने दुनिया को...

UNGA में 17 मिनट के भाषण में PM मोदी ने दुनिया को दिए 17 बड़े संदेश

274
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करते हुए एक वैश्विक नेता की तरह अपना संदेश दुनिया को दिया। उन्होंने अपने संबोधन का फोकस विकास, ग्लोबल वार्मिंग और सामाजिक सरोकार से जुड़े मुद्दों पर केंद्रित रखा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 मिनट के अपने भाषण में दुनिया के सबसे बड़े मंच से 17 बड़े संदेश दिए। 

17 मिनट के भाषण में पीएम मोदी ने दुनिया को दिए 17 बड़े संदेश-

1.पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में दुनिया में सबसे ज्यादा वोट देकर मुझे और मेरी सरकार को पहले से ज्यादा मजबूत जनादेश दिया। इस जनादेश से निकला संदेश इससे भी बड़ा व्यापाक और प्रेरक है।

2.पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता का जनादेश भारत में शुरू हुआ, जो व्यापक स्तर पर रहा और प्रेरक रहा। उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ योजना आयुष्मान चलाई जा रही है। पिछले 5 साल में 11 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं।

3.भारत सबसे बड़ा फाइनेंसियल इन्क्लूजन कार्यक्रम को सफलतापूर्वक चला रहा है। सिर्फ 5 साल में 37 करोड़ से ज्यादा गरीबों के बैंक खाते खोले गए हैं और उसके साथ बनी व्यवस्थाएं, पूरी दुनिया के गरीबों में एक विश्वास पैदा करती हैं।

4.भारत अपने नागरिकों के लिए दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल Identification प्रोग्राम चला रहा है। बायोमीट्रिक पहचान देकर उनके हक पक्का कर रहा है। भ्रष्टाचार रोककर करीब 20 बिलियन डॉलर से ज्यादा की राशि को बचाया जा सका है।  

5. प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास की बात कही और कहा कि हमलोग इसी मंत्र के साथ आगे बढ़ रहे हैं। 

6.पीएम मोदी ने कहा कि हमारी संस्कृति ही हमारी ताकत है। भारत, हजारों वर्ष पुरानी एक महान संस्कृति है, जिसकी अपनी जीवंत परंपराएं हैं, जो वैश्विक सपनों को अपने में समेटे हुए है।

7.भारत पर्यावरण के क्षेत्र में बहुत काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया है। 

8.पीएम मोदी ने कहा कि कोशिश हमारी है, लेकिन परिणाम सभी के लिए। उन्होंने कहा कि हम पूरी दुनिया के सपने के लिए काम कर रहे हैं।

9.पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिया है। इसलिए आतंकवाद के खिलाफ भारत में आक्रोश दिखता है। 

10. पीएम मोदी ने शांति का संदेश दिया और कहा कि शांति मिशन में भारत ने सबसे ज्यादा बलिदान दिया।

11. उन्होंने कहा कि भारत ने बीते 5 साल में, सदियों से चली आ रही विश्व बंधुत्व और विश्व कल्याण की उस महान परंपरा को मजबूत करने का काम किया है, जो यूएन की स्थापना का भी ध्येय रही है।

12. पीएम मोदी ने स्वामी विवेकानंद का भी जिक्र करते हुए कहा कि करीब सवा सौ साल पहले भारत के आध्यात्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में विश्व धर्म संसद को शांति और सौहार्द का संदेश दिया था। बसे बड़े लोकतंत्र भारत का आज भी दुनिया के लिए संदेश है- शांति और सौहार्द।

13.पीएम मोदी ने अपने भाषण में जल का भी जिक्र करते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य 15 करोड़ घरों का पानी की सप्लाई से जोड़ने का है।

14.प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्व ने टीबी को खत्म करने के लिए 2030 तक का लक्ष्य रखा है, लेकिन हम 2025 तक भारत को टीबी मुक्त करने के लिए प्रयास कर रहे हैं।

15.पीएम ने आतंक के खिलाफ दुनिया को एक साथ आने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि आतंक के खिलाफ दुनिया को एक साथ आना जरूरी है।

16. पीएम मोदी ने कहा कि बिखरी हुई दुनिया किसी के हित में नहीं है।

17.पीएम मोदी ने महात्मा गांधी का भी जिक्र करते हुए कहा कि इस वर्ष पूरा विश्व महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहा है। उनका सत्य और अहिंसा का संदेश आज भी दुनिया के लिए प्रासंगिक है।

 

Leave a Reply