Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों से भारतीय ई-कॉमर्स मार्केट दुनिया का सबसे तेजी...

प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों से भारतीय ई-कॉमर्स मार्केट दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला बाजार बना

125
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी दृष्टिकोण की वजह से आज भारत ई-कॉमर्स मार्केट में डंका बजा रहा है। भारत आज दुनिया का सबसे तेजी से वृद्धि करने वाला ई-कॉमर्स मार्केट बन गया है और इसके 2026 तक 8 गुना बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। CARE Rating की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय ई-कॉमर्स मार्केट की इस बढ़ोतरी के पीछे मोदी सरकार की योजनाएं हैं। बताया जा रहा है कि डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया और मेक इन इंडिया जैसी महात्वाकांक्षी योजनाओं की बदौलत आज भारत ऑनलाइन ई-कामर्स मार्केट का सरताज बनने की ओर अग्रसर है।

भारत में ऑनलाइन ई-कॉमर्स मार्केट 51 प्रतिशत की वार्षिक दर से बढ़ रहा है, जो कि पूरे विश्व में सर्वाधिक है। ASSOCHAM की एक स्टडी के मुताबिक 2018 में भारत में ई-कॉमर्स मार्केट 24 बिलियन डॉलर का था, जिसके 2026 में 200 बिलियन डॉलर के होने का अनुमान है यानी आठ वर्षों में आठ गुनी बढ़ोतरी।

अमेरिका को पीछे छोड़ भारत बन जाएगा दुनिया का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स बाजार
विश्व की सबसे बड़ी पैकेज डिलीवरी एंड सप्लाई चेन मैनेजमेंट कंपनी यूनाइटेड पार्स सर्विस (यूपीएस) के मुताबिक भारत 2034 तक अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स बाजार बन जाएगा। ऐसे में आने वाले वर्षों में भारत में इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर नौकरियां आने की संभावना है। यूपीएस के प्रबंध निदेशक (भारतीय उपमहाद्वीप) राशिद फागार्टी ने कहा कि भारत का ई-कॉमर्स बाजार बड़ी छलांग लगाने के लिए तैयार है। उन्होंने ने कहा कि यूपीएस के ऑननलाइन शॉपर्स नाम से एक शोध कराया है, जिससे यह नतीजा निकला है कि भारत आने वाले समय में दुनिया का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स बाजार होगा। स्टडी द्वारा प्रमाणित है कि भारत में ग्राहक सर्विस की क्वालिटी को लेकर बेहद जागरूक हैं।

यूनाइटेड पार्स सर्विस के मुताबिक भारत में होने वाली दो तिहाई अंतर्राष्ट्रीय खरीदी केवल क्वालिटी के कारण होती हैं। उन्होंने कहा, “आनलाइन शापर्स शुल्क में पारदर्शिता, डिलीवरी प्रक्रिया पर नियंत्रण, आसान रिटर्न और लॉयल्टी प्वाइंट्स चाहते हैं। सबसे खास बात यह है कि भारत में 96 प्रतिशत ऑनलाइन शॉपर्स मार्केटप्लेस का उपयोग कर चुके हैं और 56 प्रतिशत खरीदारी करने के बाद डिलीवरी की स्थिति ट्रैक करते हैं। यही नहीं, पिछले तीन माह में 36 प्रतिशत ने सामान वापस किया है और भारतीय शॉपर्स की रिटर्न की दर 68 प्रतिशत है, जो वैश्विक बाजार में सबसे अधिक है।

Leave a Reply