Home समाचार पर्यावरण संरक्षण में दुनिया को नेतृत्व प्रदान कर रहे प्रधानमंत्री मोदी

पर्यावरण संरक्षण में दुनिया को नेतृत्व प्रदान कर रहे प्रधानमंत्री मोदी

जानिये क्यों प्रधानमंत्री मोदी हैं ‘चैम्पियंस ऑफ अर्थ’

144
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र के ‘चैंपियंस ऑफ अर्थ’ सम्मान से सम्मानित किया गया। 03 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतरेस स्वयं नई दिल्ली आए और उन्होंने अपने हाथों से पीएम मोदी को यह अवॉर्ड दिया। आपको बता दें कि पीएम मोदी भारत की ऐसी पहली शख्सियत हैं जिन्हें इस सम्मान के लिए चुना गया। दरअसल उन्होंने बीते साढ़े चार वर्षों में पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में वह काम किया है, जो आजादी के बाद 67 वर्षों तक कोई नहीं कर पाया। ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की अवधारणा और ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय’ के संकल्प और ‘प्रकृति में परमात्मा’ देखने के भारत की परम्परा पर चलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने दुनिया को ‘प्रकृति से प्रेम’ की नयी दिशा दिखाई है।

गौरतलब है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने जहां आज सामाजिक समस्याओं को सुलझाने में अपनी जिम्मेदारी निभाई है, वहीं पर्यावरण संतुलन और संरक्षण में अभूतपूर्व पहल की है। 26 सितंबर, 2015 को संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में उन्होंने ‘क्लाइमेट चेंज’ के साथ ‘क्लाइमेट जस्टिस’ की बात सामने रखी थी। इसके बाद पेरिस डील पर अमेरिका के मुकरने के बाद जिस तरह से दुनिया ने भारत की ओर आशा भरी नजरों से देखा और प्रधानमंत्री मोदी ने जिस अंदाज में ‘इंटरनेशनल सोलर अलायंस’ का गठन किया, यह वही व्यक्तित्व कर सकता है, जिन्हें वर्तमान ही नहीं, बल्कि आने वाली पीढ़ी की भी चिंता हो। ऐसी ही सकारात्मक सोच का परिणाम है कि बीते एक वर्ष में भारत के वन क्षेत्र में एक प्रतिशत की वृद्धि हो चुकी है।

पर्यावरण संरक्षण के लिए पीएम मोदी की पहल

2022 तक एकल उपयोग वाली सभी तरह की प्लास्टिक को भारत से हटाने का संकल्प

30 नवम्बर, 2015 को पीएम मोदी की पहल से बना ‘अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन’

2014 से इथेनॉल ब्लेंडिंग के जरिये 4 साल में 4000 करोड़ रुपये विदेशी मुद्रा की बचत

बायोमास को बायोफ्यूल बनाने के लिए 12 आधुनिक रिफाइनरी बना रही मोदी सरकार

02 अक्टूबर, 2014 से स्वच्छता अभियान का आरंभ, 39 से बढ़कर 95 हुआ सेनिटेशन कवरेज

‘नमामि गंगे’  के तहत गंगा संरक्षण मिशन में तेजी, 2019-20 तक निर्मल होगी गंगा

LEAVE A REPLY