Home नरेंद्र मोदी विशेष अब 15 पैसा नहीं, शत-प्रतिशत गरीबों के खाते में जाता है –...

अब 15 पैसा नहीं, शत-प्रतिशत गरीबों के खाते में जाता है – प्रधानमंत्री मोदी

141
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के तालचर में फर्टिलाइजर प्लांट के पुनरुद्धार कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ”मेरा विश्वास है कि तालचर का फर्टिलाइजर प्लांट, राष्ट्र निर्माण की अहम धुरी बनेगा।” पीएम मोदी ने जानकारी दी कि सरकार खाद कारखाने पर करीब 13 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है। उन्होंने बताया कि साल 2000 में तालचर खाद कारखाने के बारे में फैसला लिया गया था, लेकिन तब बातें धरी की धरी रह गईं। उन्होंने कहा, ”तालचर का खाद कारखाना, अब तक पहले की सरकारों की असफलता का प्रतीक रहा है। अब ये खाद कारखाना, हमारी सरकार की सफलता का प्रतीक बनने जा रहा है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब हमारे देश में संसाधन थे तब इन कारखानों को शुरू करने कोशिश नहीं हुई। राजनीतिक भाषण हुए पर जमीन पर काम नहीं हुए। उन्होंने कहा कि अब इसकी शुरुआत हो गई है और ये 36 महीने में पूरा कर लिया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा, ”तालचर के लोगों को मैं विश्वास दिलाता हूं कि आपके आशीर्वाद से 36 महीने के बाद मैं आपके बीच आऊंगा और इसका लोकार्पण करूंगा।”

पीएम मोदी ने यूपी के गोरखपुर, झारखंड के सिंदरी, तेलंगाना के रामगुंडम और बिहार के बरौनी खाद कारखानों के जीर्णोद्धार का जिक्र करते हुए कहा कि किसानों और कृषि व्यवस्था को मजबूत करने के लिए उनकी सरकार हजारों करोड़ रुपये खर्च कर रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व पीएम राजीव गांधी के उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने एक रुपया में केवल 15 पैसा ही गरीबों के पास पहुंचने की बात कही थी। उन्होंने कहा, ”बीमारी क्या थी ये तो पता चला, लेकिन उसका समधान नहीं ला पाए। क्योंकि बीमारी से बचाने का न दम था, न संकल्प था, न विजन था और न ही सामर्थ्य था।” उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ये सुनिश्चित कर रही है कि शत-प्रतिशत रकम गरीब के बैंक के खाते में सीधा जमा हो जाए और बीच में कोई बिचौलिया न हो।

पीएम मोदी ने स्वच्छता मिशन में ओडिशा के पीछे रहने का जिक्र करते हुए कहा कि 2014 में ग्रामीण स्वच्छता का दायरा ओडिशा में केवल 10 प्रतिशत था। जब हमारी सरकार ने गति लाने का प्रयास किया है तो यह 55 प्रतिशत पहुंचा है। पीएम मोदी ने कहा, ”मैंने यहां के सीएम नवीन बाबू से आग्रह किया था कि देश स्वच्छता में आगे बढ़ रहा है, ओडिशा पीछे रह जाएगा। मैं माता हिंगुला की धरती से एक बार फिर नवीन पटनायक से आग्रह करता हूं। ओडिशा के लोगों के उत्तम स्वास्थ्य के लिए उत्तम स्वच्छता की जरूरत है।” उन्होंने कहा कि मेरा विश्वास है कि आने वाले महीनों में अब इस अभियान को और तेज करके आप संपूर्ण स्वच्छता का लक्ष्य भी हासिल करेंगे।

पीएम मोदी ने जानकारी दी कि 23 सितंबर से झारखंड की धरती से प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत होने जा रही है। इससे देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त इलाज मिलेगा। उन्होंने बताया कि हिंदुस्तान के अधिकतर राज्य इससे जुड़ गए हैं, लेकिन ओडिशा नहीं जुड़ा है। पीएम ने उपस्थित जनसमूह से सवाल किया कि ओडिशा के लोगों को इसका फायदा मिलना चाहिए या नहीं?

प्रधानमंत्री ने बताया कि ओडिशा में कई मेडिकल कॉलेज और सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल पर काम चल रहा है, जिसके लिए केंद्र ने पैसा दिया है। उन्होंने जानकारी दी कि ओडिशा की बड़ी पंचायतों में वेलनेस सेंटर खोलने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही बालासोर, पापड़ा, बोलांगीर, कोरापट और पुरी में पांच नये मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त राउरकेला में मेडिकल कॉलेज को 570 करोड़ की मदद भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि केंद्र के सहयोग से तालचर और सुंदरगढ़ में सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल पर काम किया जा रहा है। साथ ही कटक, गुरला और बहरामपुर के आधनिकीकरण पर 360 करोड़ खर्च किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि ओडिशा में 34 लाख से अधिक गैस कनेक्शन दिए गए हैं। 2014 में 22 प्रतिशत के पास गैस कनेक्शन था अब यह 65 प्रतिशत हो गया है। पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार की कोशिश लोगों का जीवन आसान बनाने की है। उन्होंने कहा कि आज 1 रुपया महीना और 90 पैसा प्रतिदिन का बीमा दिया गया है। सरकार ने 2022 तक सभी गरीबों के सिर पर छत देने का संकल्प किया है। प्रधानमंत्री ने जानकारी दी कि ओडिशा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और राज्य में 10 लाख घरों के निर्माण की स्वीकृति दी गई है।

प्रधानमंत्री ने ओबीसी कमिशन को संवैधानिक दर्जा दिए जाने पर कहा कि वर्षों की मांग को उनकी सरकार ने पूरा किया। उन्होंने कहा, ”अब जिम्मेदारियों के साथ ओबीसी कमिशन के पास अधिकार भी हैं।”

तीन तलाक पर अध्यादेश लाए जाने पर पीएम मोदी ने कहा, ”मुस्लिम बहनों के लिए दशकों से इसकी जरूरत महसूस की जा रही थी, लेकिन वोट बैंक के कारण इस पर फैसला लेने की कोई हिम्मत नहीं कर रहा था। लेकिन अब यह गैरकानूनी है और जल्द ही संसद से भी इसे पास करवाने की कोशिश की जाएगी।”

भाषण की शुरुआत करते हुए पीएम ने ओडिशा को पवित्र भूमि बताया और कहा कि इस धरती अनेक पराक्रमी वीरों ने जन्म लिया है। उन्होंने मोहन प्रधान के नेतृत्व में ‘प्रजा मंडल आंदोलन’ को लोगों के लिए आज भी प्रेरणा का स्रोत बताया। प्रधानमंत्री ने बालाजी राव, सारंगधर दास, दाशरथ पांडे वैष्णव पटनायक और मूसा मलिक के योगदान को भी स्मरण किया। इसके अलावा उन्होंने राजा सोमनाथ सिंह की भी चर्चा की जिन्होंने अंग्रेजों को ओडिशा से बाहर करने के लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष किया था।

LEAVE A REPLY