Home चार साल बेमिसाल अटल जी के जन्मदिन पर देश के सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का...

अटल जी के जन्मदिन पर देश के सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

779
SHARE

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का उद्घाटन करेंगे। इस पुल के बन जाने से अरुणाचल प्रदेश से लगती चीन की सीमा तक पहुंचना आसान हो जाएगा। पूर्वोत्तर के राज्य असम में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने इस बोगीबील पुल की लंबाई 4.94 किलोमीटर है। यह पुल नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित डिब्रूगढ़ जिले को अरुणाचल प्रदेश की सीमा से लगते धेमाजी जिले के सीलापथार को जोड़ता है।

पुल का निर्माण कार्य पूरा होने की कई तारीखें फेल हो जाने के बाद इस साल तीन दिसंबर को पहली मालगाड़ी ट्रेन इस पुल से गुजरी थी। तीन लेन की सड़क और दो रेलवे ट्रैक वाले इस पुल के निर्माण से अरुणाचल प्रदेश में चीन की लगती सीमा तक पहुंचना आसान हो जाएगा। इससे सैन्य साजो-सामान पहुंचाने में भी आसानी होगी।

भारत और चीन के बीच लगभग चार किलोमीटर की सीमा लगती है। इस पुल से डिब्रूगढ़ और अरुणाचल प्रदेश के बीच की 500 किलोमीटर की दूरी भी 100 किलोमीटर कम हो जाएगी। सौ फीसद वेल्डेड इस पुल का निर्माण विदेश की अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल से किया गया है।

यूपीए के दस साल में ठप रहा कामकाज

पिछले 16 वर्षों में इसके निर्माण को पूरा करने के लिये कई बार विभिन्न समय-सीमा तय की गई, लेकिन उस अवधि में कार्य पूरा नहीं हो सका। मोदी सरकार ने इस पुल पर तेजी से काम करना शुरू किया।  

बोगीबील पुल- एक नजर में।

ब्रह्मपुत्र नदी पर 4.94 किलोमीटर लंबा पुल

बोगीबील पुल का शिलान्यास साल 2002 में किया गया

यूपीए के दस साल के कार्यकाल में पुल के काम ने गति नहीं पकड़ी

पीएम मोदी के नेतृत्व में सरकार ने इस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम करना शुरू किया। परिणामस्वरूप, बोगीबील पुल ने जरूरी टेस्ट पास कर लिए और अब उद्घाटन के लिए पुल तैयार है।     

नीचे दिए गए नक्शे में ब्रह्मपुत्र नदी पर तीन में से दो यातायात संपर्कों को मोदी सरकार के कार्यकाल में कार्यान्वित कर दिया गया है।  

ब्रह्मपुत्र हाइवे हो या सागरमाला प्रोजेक्ट, मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल में पूर्वोत्तर के लिए एक से बढ़कर एक योजनाएं दी हैं।  

1. असम के ऊपरी इलाके से अरुणाचल प्रदेश के पूर्वी हिस्से को जोड़ने वाले भारत के सबसे बड़े पुल का उद्घाटन प्रधानमंत्री मोदी ने इसी साल 26 मई को किया। ब्रह्मपुत्र नदी पर बने इस पुल की लंबाई 9.15 किलोमीटर है। लंबे समय से लटके हुए प्रोजेक्ट में एक यह भी था।   

2. परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इसी साल सितंबर में मेघालय में एनएच-60 के जोवाई-राताचेरा सेक्शन में 102 किलोमीटर लंबे पुल का उद्घाटन किया।   

3. इस साल सितंबर में ही UDAN योजना के तहत मोदी सरकार ने सिक्किम में पहले एयरपोर्ट का शुभारंभ किया। देश के अन्य हिस्सों से सिक्किम को जोड़ने में मदद मिली।

4. भारतमाला परियोजना के तहत पूर्वोत्तर क्षेत्र में 5,301 किलोमीटर सड़कों के निर्माण या मरम्मत पर काम किया जा रहा है। इनमें से 3,246 किलोमीटर लंबी सड़क को पूर्वोत्तर के आर्थिक गलियारे के रूप में विकसित किए जाने को मंजूरी मिल गई है।

5. बीस बड़े रेल प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है। इनमें से 12 नई रेल लाइनों और 4 रेल लाइनों के दोहरीकरण पर काम किया जा रहा है। रेल लाइनों की कुल लंबाई 1,664 किलोमीटर है, जिस पर 43,771 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। 

6. UDAN योजना के तहत पूर्वोत्तर की राजधानियों को जोड़ते हुए 92 हवाई मार्गों की रूपरेखा तैयार की जा रही है। कुल 19 नए हवाई अड्डे बनाए जा रहै हैं या उन्हें अपग्रेड किया जा रहा है। 17 हेलीपोर्ट्स पर भी काम किया जा रहा है।   

7. कुल 19 नए जलमार्गों को राष्ट्रीय जलमार्ग के रूप में विकसित किया जा रहा है। इनमें 11 जलमार्ग असम में, 5 मेघालय में और एक-एक अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और नगालैंड में हैं।

 

Leave a Reply