Home नरेंद्र मोदी विशेष हमारी सरकार गरीबों का दर्द समझने वाली सरकार है- प्रधानमंत्री मोदी

हमारी सरकार गरीबों का दर्द समझने वाली सरकार है- प्रधानमंत्री मोदी

498
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में एक जनसभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने यहां अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कांग्रेस सरकारों की कार्य संस्कृति पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबों का दर्द समझने वाली सरकार है। बीते चार वर्षों में हमने गरीबों के कल्याण के लिए कई योजनाएं बनाईं। इन योजनाओं का असर ये हुआ कि देश से गरीबी कम होना शुरू हो गई है। हमने हाल ही में प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना शुरू की। श्रमिक परिवारों के लिए, जो घरों में काम करते हैं, सड़कों या घरों के निर्माण में जुटे हैं, मिट्टी का काम करते हैं, रिक्शा-ठेला चलाते हैं- ऐसे करोड़ों लोगों के लिए देश के इतिहास में पहली बार कोई योजना शुरू की गई है। इसके तहत उन्हें साठ साल की उम्र के बाद 3,000 रुपये पेंशन दिए जाएंगे। इसका लाभ 30-40 करोड़ लोगों को होगा।  छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के दलित, गरीब, आदिवासी, शोषित, कारोबारी- हर वर्ग के लिए काम करने का हमारा संकल्प और मजबूत हुआ है। यहां सड़कों, रेलवे, नए हवाई अड्डे बनाने और उद्योग धंधे लगाने के काम में और तेजी लाएंगे, इन्हें और अच्छे से करेंगे।

भाजपा नीत केंद्र की एनडीए सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से गरीब अपने पैरों पर खड़ा हुआ है। हालांकि, छत्तीसगढ़ में पहले चल रही इस योजना को बंद कर दिए जाने पर उन्होंने चिंता जतायी। गांव-गरीब, किसान-मजदूर के लिए किए जा रहे कार्यों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से छोटे किसानों को लाभ होगा। इसके तहत हर साल किसानों को 6000 रुपये दिए जाएंगे। अगले दस साल वर्षों में इस योजना के तहत किसानों को अगले दस साल में साढ़े सात लाख करोड़ रुपये दिए जाएंगे।   

पीएम मोदी ने कहा कि अब तक किसानों को एक लाख रुपये का कृषि कर्ज मिलता था, लेकिन हमने किसानों के लिए कृषि कर्ज की सीमा को बढ़ाकर 1 लाख 60 हजार रुपये कर दिया। अब किसान बिना बैंक गारंटी ज्यादा ऋण ले सकेंगे। हमारे सरकार के प्रयास से बैंकों ने निर्णय लिया है कि किसान क्रेडिट कार्ड के तहत बैंक जो भी चार्ज लेते थे, वे अब नहीं लिए जाएंगे। ये सभी शुल्क समाप्त कर दिए गए हैं। मैं इसके लिए इंडियन बैंकर्स एसोसिएशन को इस किसान हितैषी निर्णय के लिए बधाई देता हूं। हमारी सरकार किसानों की छोटी-छोटी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों को कम ब्याज दर पर ऋण मिल सके, उसके लिए ब्याज दर में छूट के लिए जो राशि उपलब्ध कराई जाती थी, उसे 5 वर्षों में हमने दोगुना कर दिया। इस साल के बजट में फसली ऋण को बढ़ाकर 11 लाख 68 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। किसानों को कृषि से जुड़ी जरूरतों के लिए अब ज्यादा राशि मिल सकेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि गरीब, दलित और आदिवासियों को पक्का घर दिया जा रहा है। उज्ज्वला योजना के माध्यम से मुफ्त गैस कनेक्शन और सौभाग्य योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिन ईमानदार करदाताओं के पैसे से विकास के ये काम होते हैं, उनके लिए भी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब इनकम टैक्स की सीमा को ढाई लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया है। इससे 3 करोड़ लोगों को फायदा होगा। ये सारे काम इसलिए हुए, क्योंकि आपने अपना एक वोट देकर बहुमत वाली सरकार बनाई।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में आदिवासी समाज का बड़ा योगदान रहा है। आदिवासी महापुरुषों के लिए हमारी सरकार कई जगहों पर म्यूजियम बना रही है। पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ से अपना पुराना नाता बताते हुए कहा कि जब उनकी पार्टी सत्ता के गलियारे कहीं नहीं थी, तभी से वे संगठन के काम के लिए छत्तीसगढ़ आते रहे हैं। यहां के लोगों में बीजेपी के प्रति जो भाव अनुभव करता था, वह अनुपम था। अटल जी के प्रति यहां के लोगों की श्रद्धा अप्रतिम रही है। उन्होंने कहा कि गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद भी छत्तीसगढ़ आता रहा और प्रधानमंत्री बनने के बाद तो इतनी बार यहां आया, जितना कोई और प्रधानमंत्री यहां नहीं आया था।

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के दौरान मां चंद्रहासिनी, मां नाथलदाई, देवी डोकरीदाई, श्री सत्यनारायण बाबा, संत गहिरागुरु, अवधूत बाबा भगवान राम और प्रियदर्शन राम जी जैसे संतों और देवी-देवताओं के साथ स्थानीय महापुरुषों और समाजसेवियों को याद किया।

Leave a Reply