Home समाचार पड़ोसी देश ने कर दी बहुत बड़ी गलती, हमलावरों और उसके सरपरस्तों...

पड़ोसी देश ने कर दी बहुत बड़ी गलती, हमलावरों और उसके सरपरस्तों को मिलेगा करार जवाब: प्रधानमंत्री मोदी

325
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साफ कहा है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी संगठनों और उसके सरपरस्तों को इस करतूत की बहुत बड़ी कीमत चुकानी होगी। इस हमले के पीछे जो भी ताकतें और गुनहगार हैं उन्हें उनके किए की सजा अवश्य मिलेगी। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के उद्घाटन के दौरान अपने संबोधन के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दे दी है।पुलवामा हमले में शहीदों को आदरपूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ ही उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि पाकिस्तान ने बहुत बड़ी गलती कर दी है। सैनिकों को पूर्ण स्वतंत्रता देने की बात कहकर यह आगाह भी कर दिया है कि पाकिस्तान को बड़ी कीमत चुकानी होगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश की सेवा करते हुए जवानों ने अपने प्राण न्योछावर किए हैं, दुख की इस घड़ी में मेरी और हर भारतीय की संवेदना उनके परिवार के साथ है। उन्होंने कहा है कि अपने देश की सेना के शौर्य पर उनकी बहादुरी पर पूरा भरोसा है। देशभक्ति के रंग में रंगे लोग भी जांच एजेंसियों को जानकारी उपलब्ध कराएंगे। मोदी ने कहा कि आतंक के खिलाफ लड़ाई और तेज हो सकती है।

प्रधानमंत्री ने भरोसा देते हुए कहा है कि जिन शब्दों और सपनों को लेकर हमारे जवानों ने जीवन त्यागा है, उन सपनों को पूरा करने के लिए हम अपने जीवन का पल-पल खपा देंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश तबाही के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। हमने अपने जवानों पूर्ण स्वतंत्रता दे दी है। हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है। अगर पड़ोसी देश यह समझता है कि भारत में अस्थिरता फैलाने का उसका सपना साकार हो जाएगा तो वह गलतफहमी में जी रहा है। क्योंकि न तो वह ऐसा कर पाएगा ना ही यह कभी होने वाला है। अपने पड़ोसी का यह मंसूबा कभी पूरा होने नहीं दूंगा।

मोदी ने कहा है कि आंतकवाद से लड़ने के लिए मानवतावादियों को एक होना होगा। पाकिस्तान बदहाली से गुजरने के बाद भी आतंकवाद का दामन नहीं छोड़ रहा है। इसकी कीमत उसे चुकानी ही होगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में राजनीतिक छींटाकशी से बचना चाहिए। हमे एकजुट होकर इसका मुकाबला करना चाहिए। हम ये लड़ाई जीतने के इरादे से लड़ रहे हैं इसलिए यह जरूरी है कि पूरी दुनिया को देश का एक स्वर सुनाई देना चाहिए कि हम एक हैं।

Leave a Reply