Home समाचार भारत-रवांडा के बीच आठ समझौते, जल्द खुलेगा भारतीय उच्चायोग

भारत-रवांडा के बीच आठ समझौते, जल्द खुलेगा भारतीय उच्चायोग

213
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा के पहले पड़ाव पर रवांडा में हैं। रवांडा के किगाली हवाई अड्डे पर राष्ट्रपति पाउल कागमे ने उनका गले लगाकर अभिनंदन किया। श्री मोदी रवांडा की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गये हैं।

दोनों देशों के बीच कुल आठ समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए। प्रधानमंत्री मोदी और रवांडा के राष्‍ट्रपति के बीच किगाली में हुई प्रतिनिधिमंडल स्‍तर की बातचीत के बाद इन समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए। दोनों देशों ने रक्षा, व्‍यापार, कृषि, चमड़ा और संबंधित उत्‍पादों तथा डेरी क्षेत्रों में समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए। भारत ने रुवांडा को 20 करोड़ डॉलर की ऋण सुविधा देने का फैसला किया है।

संयुक्‍त संवाददाता सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत रुवांडा के आर्थिक विकास के लिए निरंतर सहयोग करता रहेगा। उन्होंने कहा कि,
‘मुझे यह बताते हुए प्रसन्नता है कि हम शीघ्र ही रवांडा में हाई कमीशन खोलने वाले हैं। इससे न सिर्फ हमारी सरकारों के बीच घनिष्ठ संवाद संभव होगा, साथ ही काउंसलर, पासपोर्ट और वीजा तथा अन्य सुविधाएं भी सुलभ होंगी। हम दोनों देशों के बीच संबंधों को आने वाले समय में और अधिक उच्च स्तर पर ले जाने के लिए आशान्वित हैं।’

रुवांडा के राष्‍ट्रपति कगामे ने कहा कि, ‘श्री मोदी की यात्रा दोनों देशों के बीच लंबे समय से चली आ रही मैत्री और सहयोग का प्रतीक है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने यहां भारती समुदाय के लोगों से भी मुलाकात की। उन्होंने भारतीय समुदाय को दुनिया में भारत का राजदूत बताया। पीएम मोदी ने कहा कि, ‘यहां जो भारतीय समाज रहता है उसकी विशेषता है कि वह यहां के सामाजिक काम में कोई न कोई मदद करते ही रहते हैं। यहां के लोगों की भलाई के लिए कुछ न कुछ करते हैं। देखिये ये जो आपके गुण है न इसी के कारण आपने लोगों का दिल जीता है। यह अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है कि जिस देश में हम आये हैं, उस देश के लोग हमारे सेवा भाव से प्रभावित हैं।’

LEAVE A REPLY