Home समाचार शहर को गांवों के लिए मार्केट बनना चाहिए: पीएम मोदी

शहर को गांवों के लिए मार्केट बनना चाहिए: पीएम मोदी

93
SHARE

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रसिद्ध समाजसेवी नानाजी देशमुख के जन्म शताब्दी समारोह और जयप्रकाश नारायण की जयंती पर 10 हजार लोगों से सीधे संवाद किया। इस दौरान पीएम मोदी ने लोगों का ध्यान कई मुद्दों की ओर खींचा। पीएम मोदी ने कहा कि, “हमारे गांवों और शहरों को समान सुविधाएं मिलनी चाहिए। शहर को गांवों के लिए मार्केट बनना चाहिए।“

दीपावली का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “हम दीपावली धूम-धाम से मनाते हैं पर हमारा धर्म बनता है कि इस त्योहार पर गरीबों की आजीविका के बारे में भी सोचें। हमको दीपावली पर दीये गांव के कुम्हार से ही खरीदने चाहिए।“

बिजली को लेकर देश में हो रहे विकास कार्यों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, “हमारे देश में 18,000 गांव ऐसे थे जो कि 18वीं शताब्दी में जी रहे थे वहां पर बिजली भी नहीं थी। हमने लालकिले से 1,000 दिन में इन गांवों में बिजली देने का बीड़ा उठाया। अब तक 15,000 गांवों में बिजली पहुंचा चुके हैं। हमारी सरकार मुफ्त में बिजली कनेक्शन दे रही है जिससे गांव और शहरों को समान सुविधाएं मिल सकें।“

ग्रामीण भारत की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, “भारत में संसाधनों की नहीं बल्कि सुशासन की कमी है। जिन राज्यों में ज्यादा गरीबी है, वहां मनरेगा का काम कम हो रहा है। जिन राज्यों में सुशासन है, वहां मनरेगा का काम ज्यादा हुआ है।

LEAVE A REPLY