Home समाचार गरीब मां के बेटे का प्रधानमंत्री बन जाना कांग्रेस को नहीं आ...

गरीब मां के बेटे का प्रधानमंत्री बन जाना कांग्रेस को नहीं आ रहा रास – प्रधानमंत्री मोदी

102
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 06 अप्रैल को जब भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये रूबरू हो रहे थे तो उन्होंने अपनी पीड़ा का इजहार किया। उन्होंने कहा एक गरीब मां के बेटे का पीएम बनना कांग्रेस को रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह देखकर अफसोसस हो रहा है कि आखिर क्यों पिछड़ी जाति के लोग उच्च पदों पर आसीन हैं।

हिंसक विरोध अत्यधिक तीव्र, अधिक उग्र
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ”इन दिनों आपने देखा होगा विरोध अधिक तीव्र होता चला जा रहा है। विरोध अधिक उग्र होता चला जा रहा है। अभी तो आपने देखा होगा कि विरोध अधिक हिंसक होता जा रहा है। उसका कारण हमने कोई गलती नहीं की है। उसका एक कारण है कि हमने कुछ बुरा नहीं सोचा है। उसका एक ही कारण है कि भाजपा की बढ़ती शक्ति को हमारे विरोधी पचा नहीं पा रहे हैं।”

गरीबों को सर्वोच्च पदों नहीं देखना चाहती कांग्रेस
प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पार्टी की राजनीतिक रणनीति की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें यह अच्छा नहीं लग रहा है कि देश के तीन सर्वोच्च पदों पर वंचित समाज और पिछड़े वर्ग के लोग काबिज हैं।  उन्होंने कहा, ”ये उनके गले नहीं उतरता है कि गरीब मां का बेटा भी इस देश का प्रधानमंत्री बन सकता है। उनके गले नहीं उतर सकता है कि पिछ़ड़ी जाति से पैदा हुए लोग भी देश के सर्वोच्च पद को प्राप्त कर सकता है।‘”

उन्होंने कहा कि उनके गले नहीं उतर सकता है कि जिस भाजपा को बनिया-ब्राह्मण की पार्टी कहते थे उस भाजपा को जब पहला राष्ट्रपति चुनने का मौका मिला तो उन्होंने एक दलित को चुनकर के रख दिया। गौरतलब है कि देश के तीन सर्वोच्च पदों पर पिछड़े समाज के लोग एक साथ विराजमान हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दलित हैं, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू अति पिछड़े समाज से हैं और प्रधानमंत्री मोदी भी स्वयं इसी समाज से आते हैं।

भाजपा में सर्व समाज की अवधारणा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में हमेशा सर्वसमाज को साथ लेकर चलने की नीति रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा को विपक्ष में रहते हुए जब डिप्टी स्पीकर पद का अवसर मिला तो सबसे पहले हरियाणा के दलित नेता सूरजभान बनाया था। दोबारा अवसर मिला तो भाजपा ने आदिवासी समाज से आने वाले करिया मुंडा डिप्टी स्पीकर बनाया।

भाजपा में पिछड़े समाज के एमपी/एमएलए सबसे अधिक
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विरोधी भाजपा के बारे में दुष्प्रचार कर रहे हैं और झूठ फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें यह रास नहीं आ रहा है कि भाजपा में आज सबसे अधिक अनुसूचित जाति/जनजाति के एमपी हैं। इसके साथ ही देश में सबसे अधिक आदिवासी, अति पिछड़े और पिछड़े समाज के एमएलए/एमपी भाजपा में हैं।

उन्होंने कहा, ”इसी का परिणाम है कि भाजपा के प्रति हिंसक भाव से विरोध का एक वातावरण बनाया जा रहा है। लेकिन मेरी पार्टी के कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि हमें संयम नहीं खोना है।  हमें शब्दों की मर्यादाओं को नहीं तोड़ना है। हमें मां भारती के प्रति समर्पित भाव से जन-जन के कल्याण के लिए काम करते रहना है। अपने लिए नहीं देशवासियों के लिए जीकर के दिखाना है।”

LEAVE A REPLY