Home नरेंद्र मोदी विशेष देशभर के गन्ना किसानों से मिले प्रधानमंत्री मोदी, अन्नदाताओं के कल्याण के...

देशभर के गन्ना किसानों से मिले प्रधानमंत्री मोदी, अन्नदाताओं के कल्याण के लिए जताई प्रतिबद्धता

502
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार किसानों की बेहतरी के लिए लगातार प्रयास कर रही है। पिछले चार वर्षों में किसानों के कल्याण के इतने कार्य हुए हैं, जितने पहले कभी नहीं हुए। शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर के गन्ना किसानों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, महाराष्ट्र और कर्नाटक से आए 140 किसान शामिल थे। अपने आवास पर किसानों से मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने ऐलान किया कि अगले सप्ताह अधिसूचित खरीफ फसलों के लिए लागत का डेढ़गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित कर दिया जाएगा।

दो सप्ताह के भीतर गन्ने के लाभकारी मूल्य की घोषणा
पीएम मोदी ने यह भी बताया कि गन्ना पेराई सत्र 2018-18 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए गन्ने के लाभकारी मूल्य (एफआरपी) की घोषणा अगले दो सप्ताहों में की जाएगी और एफआरपी में पिछले साल के मुकाबले बढ़ोतरी की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार उन किसानों को प्रोत्साहन प्रदान करेगी जिनके गन्ने में रस की रिकवरी 9.5 फीसदी से अधिक होगी। आपको बता दें कि  पिछले दस दिन में पीएम मोदी की किसानों के साथ दूसरी बैठक है। मोदी सरकार किसानों की दिक्कतों को दूर करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। हाल ही में चीनी क्षेत्र के लिए 8,500 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की गई थी। 

प्रधानमंत्री मोदी ने गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान करने के लिए किए गए विभिन्न फैसलों के बारे में जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले सात से दस दिनों में 4,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया किसानों को भुगतान दिया गया, जो सरकार के लागू किए गए नीतिगत उपायों का नतीजा है। प्रधानमंत्री ने किसानों को आश्वासन दिया कि गन्ना बकायों का भुगतान करने के लिए राज्य सरकारों को प्रभावी कदम उठाने का आग्रह किया गया है।

किसानों से नवीनतम कृषि तकनीक अपनाने की अपील
प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को स्प्रिंकलर और ड्रिप सिंचाई, नवीनतम कृषि तकनीक और सौर पंपों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने किसानों से उनके खेत में ऊर्जा स्रोत और अतिरिक्त आय के लिए सोलर पैनल स्थापित करने का आग्रह किया। उन्होंने फसलों की गुणवत्ता में सुधार के लिए जोर देने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने किसानों को 2022 तक रासायनिक उर्वरकों के इस्तेमाल में 10 प्रतिशत की कटौती करने का लक्ष्य रखने को कहा।

तस्वीरों में देखिए प्रधानमंत्री मोदी की गन्ना किसानों से मुलाकात

LEAVE A REPLY