Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी की पहल से बढ़ा ‘दुनिया के सबसे बड़े बिजनेस’ में...

पीएम मोदी की पहल से बढ़ा ‘दुनिया के सबसे बड़े बिजनेस’ में भारत का दबदबा

121
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे बड़े बिजनेस माने जाने वाले पर्यटन के क्षेत्र में भारत का दबदबा बढ़ाने की कोशिशों में लगे हैं। चार साल में उठाए उनके कदमों का ही असर है कि भारत में चार साल में पर्यटन की रफ्तार तीन से चार गुना तक बढ़ गई है। जोधपुर में एक चुनावी रैली में उन्होंने कहा कि‘’ टूरिज्म एक ऐसा क्षेत्र हैं, जहां कम से कम पूंजी से ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिलता है।  जोधपुर के लोगों को टूरिज्म समझाने की जरूरत नहीं है। जब टूरिज्म बढ़ने लगता है। टूरिस्ट आता है तो चना मुरमुरे वाला भी कमाता है, बिस्कुट बेचने वाला भी कमाता है। खिलौने बेचने वाला भी कमाता है। गुलदस्ता- फूल-फ्लावर बेचने वाला भी कमाता है। टैक्सी वाला भी कमाएगा,  आटो वाला भी कमाएगा। छोटे मोटे गेस्ट हाऊस वाला, होटल वाला भी कमाएगा। चाय वाला भी कमाएगा।… जब उनकी सरकार थी तब हमारे देश में टूरिज्म का विकास 4-5 परसेंट से ऊपर नहीं जाता था। आज मै गर्व के साथ कहता हूं कि आज भारत में टूरिज्म का ग्रोथ 10-15 परसेंट पर पहुंचा हुआ है। 3 गुना 4 गुना हो गया है। राजस्थान को इसका लाभ मिलेगा।‘’

प्रधानमंत्री ने बताया कि पिछले वर्ष भारत में एक करोड़ पर्यटक आए थे। दुनियाभर में भारत का आकर्षण बढ़ रहा है और शादी विवाह के लिए भारत डेस्टिनेशन बनता जा रहा है। दुनिया ने हिंदुस्तान की ताकत को माना है। उन्होंने कहा कि भारत में टूरिज्म को बढ़ावा देने में पूर्व मुख्यमंत्री भैरोंसिंह शेखावत का बहुत बड़ा योगदान रहा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान का समाज प्रकृति और पर्यावरण के लिए जीने वाला जीवंत समाज है। मारवाड़ ने देश और दुनिया को व्यापार और कारोबार का मंत्र दिया है। श्री मोदी ने कहा कि जोधपुर की भुजाओं में जितना शौर्या है, यहां के निवासियों की जुबान पर उतना ही मीठापन और अपनापन है। यहां की मिठाई और बोली भी उतनी ही मीठी है। किसी को भी मेहमान नवाजी और मनुहार सीखनी है तो जोधपुर से ही सीखना होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा “आपने देखा होगा कि पिछले दिनों पर्यावरण को लेकर हमारे देश को यूनाइटेड नेशन्स ने बहुत बड़ा सम्मान दिया। ‘चैंपियन ऑफ अर्थ’। लोग कहते हैं देखिये, मोदीजी आपका सम्मान हो गया।… दुनिया को पता नहीं है कि मेरी इस राजस्थान की धरती पर विश्नोई समाज, जब दुनिया को ग्लोबल वार्मिंग का ‘ग’ मालूम नहीं था, जब दुनिया को पर्यावरण क्या होता है उसका ‘प’ मालूम  नहीं था। तब सदियों से विश्नोई समाज ने पर्यावरण के लिये बलिदान दिये।‘’

प्रधानमंत्री मोदी ने हिंदुत्व का ज्ञान सिखाने चले नए नए हिंदू राहुल गांधी पर जमकर चुटकी ली। प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मोदी को हिंदुत्व का ज्ञान नहीं है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने सोमनाथ मंदिर का पुनरुद्धार करने की कोशिशों को रोका, जिन्होंने प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद को सोमनाथ मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा करने का घोर विरोध किया, जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि राम एक काल्पनिक पात्र है, वो मुझे पूछ रहे हैं कि मोदी को हिंदुत्व का ज्ञान नहीं है !

उन्होंने कहा हजारों साल पुरानी ये संस्कृति है, ये परंपरा है। ऋषियों-मुनियों की तपस्या से निकला हुआ ये ज्ञान का भंडार है। हर युग में, हर कसौटी पर खरा उतरा हुआ ये हिंदुत्व एक विपुल विरासत है। ये हिंदुत्व, हिंदू का ज्ञान इतना अगाध है, इतना विशाल है, इतना चिर पुरातन है, इतना चिंरजीव है, ये हिमालय से भी ऊंचा हैं, समंदर से भी गहरा है। ऋषि मुनियों ने कभी ये दावा नहीं किया कि उनको हिंदुत्व और हिंदू का पूरा ज्ञान है। ये इतना विशाल है कि कोटि कोटि जन्मों के बाद भी इस ज्ञान को समेटना इंसान के बस की बात नहीं हैं।… मोदी  ने तो कभी दावा नहीं किया, हम तो सामान्य परिवार से आए हैं… लेकिन हम इस बात का दावा कर सकते हैं कि सवा सौ करोड़ देशवासी ज्ञान का भंडार है, वही मेरा रिमोट कंट्रोल है वही मुझे चलाता है, इसलिये मैं सही रास्ते पर चलता हूं।

प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी के स्वच्छता के सपने को चूर चूर करने के लिए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि जब मैंने स्वच्छता पर जोर दिया। लोग हैरान हो गए कि एक ऐसा प्रधानमंत्री आया …जो लालकिले से… टॉयलेट बनाने की बात कर रहा है। माथा शर्म से झुक जाता है, जब मेरी किसी मां को खुले में शौच के लिये जाने पड़ता है।… जरा पलभर के लिये सोचिए, जो मां, जिसके घर में शौचालय नहीं है, उसको प्राकृतिक काम के लिये जाना है या तो वो सूरज उगने से पहले, अंधेरे में जाकर निबटकर आ जाती है और अगर दिन में कभी जाना पड़ा तो वो दिनभर मुसीबत झेलती है। कष्ट झेलतीहैष अपने आप को रोक कर रखती है। जब शाम को सूरज ढलता है तो उसके बाद वो जाती है। उसके शरीर पर कितनी तकलीफ होती होगी।

श्री मोदी ने कहा कि उनके कार्यकाल में देशभर में 9 करोड़ शौचालय बनाकर माता-बहनों को इस परेशानी से मुक्त कराया गया है। इनमें से 80 लाख शौचालय राजस्थान में बने है। इससे टूरिज्म भी बढ़ा है और लाखों लोगों को रोजगार मिला है।

उन्होंने कहा कि आज विश्व ग्लोबल वार्मिंग से परेशाना है। ऐसे में रिन्यूएबल एनर्जी के लिए राजस्थान की धरती आगे आई है। राजस्थान 6 बड़े सोलर पार्क का नेतृत्व कर रहा है। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने अपने कार्यकाल में 7 हजार मेगावॉट सोलर एनर्जी का उत्पादन दोगुना कर दिया है।

प्रधानमंत्री ने बैंकों से लोन लेकर दिवालिया घोषित करने वालों को भी चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि देश आजाद होने के बाद देश में जितना पैसा बैंकों के द्वारा लोगों को दिया गया, उससे ज्यादा 2006 से 2014 के आठ सालों में दिया गया।…वो बैंकों का पैसा लेकर बैठ गए… हमने पाई-पाई वापस लेने का कानून बनाया।… जो खुद को करोड़पति मानते थे, उनको रोड पति बना दिया।… इसलिए हमने कठोर कानून बनाया।…जो  उसका परिणाम है कि 3 लाख करोड़ अब तक वापस देने को मजबूर हुए हैं। कानून बनाने की खबर मात्र से।…. हमने कानून बनाया है कि अगर ऐसी बेईमानी करोगे तो आपकी कंपनी की मालिक खुद बैंक हो जाएगी, बैंक किसी और को दे देगी। आप करोडपति से रोड पति हो जाओगे।… दिवालिया कानून ऐसा कठोर बनाया है।

श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने के लिए स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू की और यूरिया पर नीम कोटिंग कर उसकी कालाबाजारी बंद की।

LEAVE A REPLY