Home समाचार भारत-बांग्लादेश की दोस्ती को मिला नया आयाम, बंधन एक्सप्रेस को पीएम मोदी...

भारत-बांग्लादेश की दोस्ती को मिला नया आयाम, बंधन एक्सप्रेस को पीएम मोदी ने दिखाई हरी झंडी

105
SHARE

भारत और बंग्लादेश के बीच दोस्ती को और आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोलकाता-खुलना के बीच नई ट्रेन ‘बंधन एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखा दी है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बंधन एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई गई। इस कार्यक्रम में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद रहीं। इस कार्यक्रम में बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “पड़ोसी देशों के साथ हमारे संबंध बिल्कुल पड़ोसियों जैसे ही होने चाहिए। हमें दौरे और बातचीत के दौरान प्रोटोकॉल के दायरे में नहीं रहना चाहिए।”

कोलकाता-खुलना के बीच चलने वाली ‘बंधन एक्सप्रेस’ 10 घंटे में 375 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों और उनके सामानों की जांच सिर्फ एक बार होगी। यह रेल सेवा भी वर्ष 2001 में दोनों देशों के बीच हुए द्विपक्षीय समझौते के तहत शुरू की जा रही है। इससे सबसे ज्यादा बंगलादेश के दक्षिणी भाग में रहने वाल लोगों को फायदा होगा।

रेल मंत्रालय के एक अधिकारी की माने तो इस रेल सेवा से बंगलादेश सीधा असम से जुड़ जाएगा। अभी तक असम जाने के लिए चिटगांव, कोमिला, बदरपुर, लुम्बडिंग के रास्ते पहुंचना होता था जिसमें 2 घंटे का अतिरिक्त समय लगता था।

इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये दोनों देशों के बीच दो ब्रिज का भी उद्घाटन किया गया। पहला ब्रिज भैरवी नदी और दूसरा ब्रिज टेटास नदी पर बना है। इस ब्रिज से दोनों देशों में रहने वालों का आवागमन और आसान हो जाएगा। अभी आवागमन के लिए यहां के निवासियों को 4-5 घंटे का अधिक सफर करना पड़ता है। इन परियोनाओं के अलावा बांग्लादेश के दूसरे बड़े पोर्ट का भी उद्घाटन किया जाएगा। यह मोंगला पोर्ट है। इससे ढाका और टोंगी के साथ उसके आसपास के क्षेत्रों में रहने वालों को सुविधा देगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन-

“इस प्रसारण से जुड़े सभी लोगों को, और विशेषकर बांग्लादेश में रहने वाले सभी भाइयों और बहनों को नमस्कार।

कुछ दिन पहले दोनों देशों में दीपावली, दुर्गा पूजा और काली पूजा के महोत्सव मनाए गए।

मैं दोनों देशवासियों को इस festival season की शुभकामनाएं देता हूँ।

मुझे प्रसन्नता है कि video conference के माध्यम से आपसे एक बार फ़िर मिलने का अवसर मिला।

आपके स्वास्थ्य के लिए हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

मेरा शुरू से ही मानना रहा है कि पड़ोसी देशों के leaders के साथ सही मायने में पड़ौसियों जैसे संबंध होने चाहिए।

जब मन किया तो बात होनी चाहिए, visits होने चाहिए।

इस सबमें हमें protocol के बंधन में नहीं रहना चाहिए।

कुछ समय पहले हमने South Asia Satellite के launch के समय इसी प्रकार video conference की थी।

पिछले वर्ष हमने मिल कर Petrapole ICP का उद्घाटन भी इसी प्रकार किया था।

और मुझे प्रसन्नता है कि आज हमारी connectivity को मज़बूत करने वाले महत्वपूर्ण projects का उद्घाटन हमने video conference के माध्यम से किया।

Connectivity का सबसे महत्वपूर्ण आयाम है हमारी people-to-people connectivity.

और आज international passenger terminus के उद्घाटन से कोलकाता-ढाका मैत्री express और आज शुरू हुई कोलकाता-खुलना बंधन express के यात्रियों को काफी सुविधा होगी।

इससे उन्हें न सिर्फ़ customs और immigration में आसानी होगी, बल्कि उनकी यात्रा के समय में भी 3 घंटे की बचत होगी।

मैत्री और बंधन, इन दोनों rail सुविधाओं के नाम भी हमारे shared vision के अनुरूप हैं।

जब भी हम connectivity की बात करते हैं, तो मुझे हमेशा आपके pre-1965 connectivity बहाल करने के vision का ख़याल आता है।

मुझे बहुत ख़ुशी है कि हम इस दिशा में क़दम-दर-क़दम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं।

आज हमने दो rail पुलों का भी उद्घाटन किया है। लगभग 100 million dollars की लागत से बने ये पुल बांग्लादेश के rail network को मजबूत करने में सहायक होंगे।

बांग्लादेश के विकास कार्यों में विश्वस्त साझेदार होना भारत के लिए गर्व का विषय है।

मुझे प्रसन्नता है कि हमारे 8 billion dollars के concessional (कनसे-शनल) finance के commitment के अंतर्गत projects पर अच्छी प्रगति हो रही है।

Development और Connectivity दोनों एक साथ जुड़े हुए हैं, और हम दोनों देशों के बीच जो सदियों पुराने एतिहासिक links हैं, विशेष रूप से पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के लोगों के बीच, उन्हें मजबूत करने की दिशा में आज हमने कुछ और क़दम उठाए हैं।

मुझे पूरा विश्वास है कि जैसे-जैसे हम अपने संबंध बढ़ाएंगे और लोगों के बीच रिश्ते मज़बूत करेंगे, वैसे वैसे हम विकास और समृद्धि के नए आसमान भी छूएंगे।

इस काम में सहयोग के लिए मैं प्रधानमंत्री शेख हसीना जी का, और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जी का हृदय से आभार प्रकट करता हूं।

धन्यवाद।

LEAVE A REPLY