Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी ने किए 2500 साल पुराने श्वेदागोन पगोडा के दर्शन

पीएम मोदी ने किए 2500 साल पुराने श्वेदागोन पगोडा के दर्शन

201
SHARE

म्यामांर दौरे के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पगोडा गए। 2,500 साल पुराने पगोडा में भगवान बुद्ध के केश और अन्य पवित्र अवशेष रखे हुए हैं। यंगून में रॉयल लेक स्थित इस पगोडा को यहां के लोग सबसे पवित्र और महत्वपूर्ण बौद्ध स्थल मानते हैं। पीए मोदी ने साझा सांस्कृतिक विरासत को रेखांकित करते हुए पगोडा परिसर में बोधि वृक्ष की पौध रोपी। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि म्यांमा के सांस्कृतिक प्रतीक, श्वेदागोन पगोडा के दर्शन करके बहुत खुश हूं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पगोडा परिसर में एक बोधी वृक्ष का पौधा लगाया जो साझी विरासत के महत्व को दर्शाता है। उन्होंने ट्वीट किया कि ‘शश्वतता के साथ एक क्षण। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 2,500 वर्ष पुराने श्वेदागोन पगोडा दर्शन के लिए गये, जिसे म्यांमा की सांस्कृतिक विरासत की धुरी माना जाता है।’

प्रधानमंत्री मोदी भारत के अंतिम मुगल शासक बहादुर शाह जफर की मजार पर गए और श्रद्धांजलि अर्पित की। बहादुर शाह जफर की मौत 87 वर्ष की उम्र में रंगून में हुई थी। 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के बाद ब्रिटिश शासन ने उन्हें देश निकाला देकर रंगून भेज दिया था।

प्रधानमंत्री ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर अपनी एक तस्वीर भी ट्वीट की।

प्रधानमंत्री मोदी म्यांमा की स्टेट काउंसिलर आंग सान सू की के साथ बोग्योक आंग सान संग्रहालय भी गये। उन्होंने कहा कि बोग्योक आंग सान संग्रहालय दिखाने के लिए मैं मोहतरमा आंग सान सू की को धन्यवाद देता हूं। जनरल आंग सान को श्रद्धांजलि दी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कालीबाड़ी मंदिर में पूजा-अर्चना भी की। उन्होंने ट्वीट किा कि यंगून के कालीबाड़ी मंदिर में पूजा की। सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं।

LEAVE A REPLY