Home समाचार आज हर उस व्यक्ति को मोदी से कष्ट है, जो पूरी तरह...

आज हर उस व्यक्ति को मोदी से कष्ट है, जो पूरी तरह से भ्रष्ट है- पीएम मोदी

176
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की जनता को ये भरोसा दिलाया है कि उनकी सरकार भ्रष्टाचारियों को कानून के दरवाजे तक पहुंचाकर रहेगी। उन्होंने ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर कांग्रेस की तुष्टिकरण के रवैये पर भी गंभीर सवाल खड़े किए हैं। पीएम मोदी ने शुक्रवार को राज्य के जलपाईगुड़ी के मैनागुड़ी में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कही हैं।

चिटफंड घोटाले की जांच से ममता इतना क्यों डरी हुई हैं?
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि “पश्चिम बंगाल की इस सरकार ने माटी को बदनाम कर दिया है और मानुष को मजबूर कर दिया है। जो पश्चिम बंगाल कला और संस्कृति के लिए जाना जाता था, वो अब हिंसा और अलोकतांत्रिक तरीकों के लिए देश और दुनिया में चर्चा में है, बदनामी हो रही है।” उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में मां, माटी, मानुष के नाम पर जिनको लोगों ने सत्ता दी, जिनको कन्युनिस्टों के कुशासन से मुक्ति दिलाने का जिम्मा दिया, उन्होंने वही खून-खराबे का अपना पॉलिटिकल कल्चर बना लिया है। आज स्थिति ये है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तो दीदी है, लेकिन दादागीरी किसी और की चल रही है। शासन टीएमसी के जगाई और मधाई चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि जगाई-मधाई का जाना तय है। भाजपा का कार्यकर्ता गुंडागर्दी के निजाम से लड़ने के लिए तैयार है। आजादी के इतिहास में पहलीबार देखा गया है कि कोई मुख्यमंत्री हजारों गरीबों को लूटने वालों के पक्ष में दिन-दहाड़े धरने पर बैठ जाएं। लुटेरों, बेईमानी करने वालों की रक्षा के लिए गरीबों को बर्बाद करने वालों की रक्षा के लिए। महात्मा गांधी ने विदेश में रंगभेद के खिलाफ विदेशी लोगों के हक लिए दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति के लिए सत्याग्रह किया। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने विदेश में रहकर लोगों को जोड़ा और मुश्किल में फंसे भारतीयों के लिए आंदोलन किया। आज पश्चिम बंगाल में एक ऐसी मुख्यमंत्री हैं, जो गरीबों की मेहनत से जुटाई पाई-पाई को लूटने वालों के साथ खड़ी है।

सबको कानून के दरवाजे तक पहुंचाएंगे-पीएम मोदी
उन्होंने कहा कि, “मैं शारदा, नारदा, रोजवैली की ठगी के शिकार हर परिवार को विश्वास दिलाने आया हूं कि ये चौकीदार इनको छोड़ेगा नहीं। चाहे वो लुटेरा हो या फिर लुटेरों का संरक्षक किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा। कितने भी नेता जुटा लें, गरीबों को लूटने वालों का पाई-पाई का हिसाब लिया जाएगा। मैं एक-एक पीड़ित को विश्वास दिलाने आया हूं कि आपको इस स्थिति में पहुंचाने वालों को कानून के दरवाजे तक पहुंचाया जाएगा।” पीएम मोदी ने कहा कि “आज हर उस व्यक्ति को मोदी से कष्ट है, जो पूरी तरह से भ्रष्ट है।” जबकि, मिस्टर वाड्रा के साले साहब दीदी की धुन में मस्त हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की सरकार देशभर से आए ऐसे लोगों का स्वागत करती है, जिनपर गंभीर आरोप हैं। वो घुसपैठियों का भी स्वागत करती है। लेकिन, दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल भाजपा के नेताओं को रोका जाता है। उस दल के नेताओं को रोका जाता है, जिसके मूल में स्वामी विवेदानंद के मूल्य हैं और डॉक्टर श्यामा प्रसादी मुखर्जी के राष्ट्रवाद का संकल्प है। ये सबकुछ तृणमूल की जमीन खिसकने और उसके बौखला जाने के संकेत हैं।

तीन तलाक कानून खत्म नहीं होने देंगे- पीएम मोदी
पीएम मोदी ने महिला सशक्तिकरण की बात उठाते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम बहन-बेटियों की रक्षा के लिए तीन तलाक को असंवैधानिक घोषित किया है। लेकिन, कांग्रेस अब उसे खत्म करने की बात कही रही है। वह संसद में भी अड़ंगा लगा चुकी है। श्री मोदी ने जोर देकर कहा कि “मैं देश की सभी मुस्लिम बहन-बेटियों को ये भरोसा देना चाहता हूं कि तीन तलाक कानून को हटाने नहीं दिया जाएगा। बीजेपी महिलाओं के अधिकार के लिए, महिलाओं की न्याय के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।”

जलपाईगुड़ी में हाईकोर्ट की खंडपीठ की शुरुआत
प्रधानमंत्री ने बताया कि जलपाईगुड़ी क्षेत्र के लोगों की दशकों पुरानी मांग को पूरा करते हुए कलकत्ता हाईकोर्ट की जलपाईगुड़ी खंडपीठ का उद्घाटन किया गया है। इससे राज्य के जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, कलिमपोंग, कूच बिहार क्षेत्र के लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। इस अवसर पर श्री मोदी ने कहा कि करीब 2 हजार करोड़ रुपये की लागत से फलाकाता-सलसलाबाड़ी नेशनल हाइवे की फोर लेनिंग प्रोजेक्ट का भी शिलान्यास किया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि नेपाल और बांग्लादेश की सीमा को जोड़ने वाले एशियन हाइवे नंबर-2 और नंबर-48 समेत हजारों करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट भी केंद्र सरकार ने स्वीकृत किए हैं, जिनपर काम जारी है।

मजदूरों के लिए ऐतिहासिक है पेंशन योजना
पीएम मोदी ने उत्तर बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर चिंता भी जताई। उन्होंने कहा कि जलपाईगुड़ी और पूरा उत्तर बंगाल 3-टी के लिए फेमस है, टी, टिंबर और टूरिज्म। लेकिन, इन तीनों को ही बेरुखी का शिकार होना पड़ा है, इसके संतुलित विकास पर कभी ध्यान नहीं दिया गया। परन्तु, केंद्र सरकार ‘सबका साथ- सबका विकास’ की नीति और नीयत से काम कर रही है। यहां बंद बड़े चाय बागानों को उनकी सरकार ने खुलवाया है। उन्होंने कहा कि, “नॉर्थ बंगाल से मेरा एक खास रिश्ता भी है, और ये रिश्ता आपको भी मालूम है। ये रिश्ता चाय का रिश्ता है। आप चाय उगाने वाले हैं, मैं चाय बनाने वाला हूं। यहां की चाय देश और दुनिया बड़े चाव से पीती है।” उन्होंने कहा कि श्रमिकों और मजदूरों के बैंक खाते खुलवाए गए हैं। केंद्र सरकार इसबार के बजट में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए आजादी के बाद पहलीबार ऐतिहासिक ‘प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना’ लेकर आई है। इसके कारण अब चाय बागानों में काम करने वाले और असंगठित क्षेत्र में बाकी जगहों पर भी काम करने वाले मजदूरों को भी बाकी कर्मचारियों की तरह ही पेंशन की सुविधा मिलेगी। इसके अंतर्गत देश के 40-42 करोड़ असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को 60 वर्ष के बाद 3,000 रुपये प्रति माह पेंशन सुनिश्चित की गई है। पीएम मोदी ने कहा है कि “हमने ठान के रखी है कि 2022 में जब आजादी के 75 साल होंगे, हिंदुस्तान में एक भी परिवार ऐसा नहीं होगा, जिसका अपना पक्का घर नहीं होगा।” पश्चिम बंगाल में 23 लाख से ज्यादा और जलपाईगुड़ी में 65 हजार से ज्यादा गरीबों को पक्के घर मिल भी चुके हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार गरीबों के लिए सस्ता राशन, मुफ्त गैस कनेक्शन और सस्ती दवाइयों की व्यवस्था भी कर रही है।

इस अवसर पर पीएम मोदी ने भारत के लोगों की मन की बात रथ के माध्यम से अपने-अपने सुझाव देने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह रथ जनता से सुझाव मांगने निकला है। जब उनकी सरकार 2019 में चुनाव के बाद सत्ता में आएगी तो उसे क्या करना चाहिए? कौन सी नीतियां बनानी चाहिए,कौन से फैसले लेने चाहिए? किसान, युवा, गांव, गरीब और शहरों के लिए क्या करना चाहिए? लोग अपने सुझाव इस रथ में लिखकर रख सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि 2019 में सरकार बनने के बाद कौन से काम करने हैं? वे लोगों से पूछ कर करना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY