Home समाचार कांग्रेस को लोग Bail गाड़ी बोलने लगे हैं- प्रधानमंत्री मोदी

कांग्रेस को लोग Bail गाड़ी बोलने लगे हैं- प्रधानमंत्री मोदी

328
SHARE

शनिवार को जयपुर में प्रधानमंत्री- लाभार्थी जन संवाद कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश में आज जिस गति से विकास का काम हो रहा है, वैसा पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि ये काम पहले भी हो सकते थे, लेकिन कांग्रेस ने पहले जिस नीयत से काम किया, उससे देश की जनता परिचित है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि यही कारण है कि आजकल कुछ लोग कांग्रेस को Bail गाड़ी बोलने लगे हैं, क्योंकि उसके कई दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री जमानत पर छूटे हुए हैं। इस दौरान उन्होंने राजस्थान में 2,100 करोड़ रुपये की 13 परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

अब चीजें अटकती, लटकती और भटकती नहीं हैं- प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि बीते चार वर्षों से राजस्थान दोगुनी शक्ति से विकास की पथ पर आगे बढ़ रहा है। केंद्र और राज्य सरकार मिलकर लोगों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने का प्रयास कर रहे हैं। श्री मोदी ने 2100 करोड़ से अधिक की जिन 13 परियोजनाओं का शिलान्यास किया है उसका लक्ष्य राजस्थान के शहरों- कस्बों में बेहतर और स्मार्ट सुविधाएं उपलब्ध कराना भी है। इससे शहरों को ट्रैफिक जाम और सीवेज से जुड़ी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी, साथ ही लोगों का जीवन सुगम बनाने में भी मदद मिलेगी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चार वर्ष पहले राज्य की स्थिति को लोग भूलें नहीं, तभी आज हो रहे काम का पता चलेगा। उन्होंने बाड़मेर रिफायनरी का जिक्र कर कहा कि पहले जहां सिर्फ नेताओं के नाम पर पत्थर जड़ने की होड़ लगी होती थी, अब वहां तेज गति से विकास का काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार के काम करने का तरीका ये है कि अब चीजें अटकती, लटकती और भटकती नहीं हैं। उन्होंने बताया कि लाभार्थियों से पता चलता है कि उनके जीवन में कैसे बदलाव आया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के आयोजनाओं से सरकारी कर्मचारियों पर दबाव पड़ता है और लाभार्थियों में जागरूकता पैदा होती है।

MSP के अनुसार फसल खरीदारी के लिए राज्यों से लगातार संवाद
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि बीते चार वर्षों में जितने भी कार्यक्रम बने हैं, उसके केंद्र में गरीब, शोषित, पीड़ित, वंचित ,दलित, आदिवासी, किसान और महिलाएं हैं। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के लक्ष्य के तहत ही सरकार ने फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागत का डेढ़ गुना करने का अपना वादा पूरा किया है। पीएम मोदी ने बताया कि एक क्विंटल बाजरे की अनुमानित उत्पादन लागत 990 रुपये होती है, जिसके लिए सरकार ने 1950 रुपये का न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया है। इसी तरह ज्वार के करीब 1620 रुपये की जगह 2430 रुपये,  मक्के की 1130 रुपये के बदले 1700 रुपये, मूंग की 4650 रुपये के बदले करीब 7 हजार रुपये निर्धारित किया गया है। इसके अलावा तुअर दाल, उड़द, सोयाबीन और धान के लिए भी लागत का डेढ़ गुना मूल्य सुनिश्चित किया गया है। कई वर्षों बाद बंपर फसल होने पर सुखद एहसास जताते हुए उन्होंने कहा कि राजस्थान के ही सूरतगढ़ से सॉयल हेल्थ कार्ड योजना का शुभारंभ हुआ था, जिसके चलते अब वैज्ञानिक तरीके से खेती होने लगी है और इसका सीधा असर उत्पादन पर पड़ा है। उन्होंने बताया कि देश में कुल 14 करोड़ 50 लाख से ज्यादा सॉयल हेल्थ कार्ड बांटे जा चुके हैं, जिनमें से राजस्थान में इसकी संख्या करीब 90 लाख तक पहुंच चुकी है। मोदी जी ने कहा कि MSP के आधार पर किसानों के फसल खरीदे जाएं, इसके लिए केंद्र सरकार लगातार राज्यों से संवाद में जुटी है। उन्होंने बताया कि राजस्थान में अबतक 11,500 करोड़ रुपये की ऊपज सरकार खरीद चुकी है और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत राज्य के किसानों को 2,500 करोड़ रुपये की क्लेम दी जा चुकी है।

पार्वती, काली सिंध, चंबल परियोजना पर सकारात्मक रुख
प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान में पानी की दिक्कत को ध्यान में रखकर पार्वती, काली सिंध, चंबल परियोजना को राष्ट्रीय प्रोजेक्ट घोषित करने की मांग पर पूरी संवेदनशीलता और सकारात्मकता के साथ फैसला करने का भरोसा दिया है। इसकी मांग राजस्थान सरकार और बीजेपी के विधायकों ने केंद्र सरकार से की है। इस प्रोजेक्ट की विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट जल संसाधन मंत्रालय को भेजी जा चुका है और तकनीकी छानबीन का काम जारी है। पीएम मोदी ने बताया कि इस परियोजना से राजस्थान में 2 लाख हेक्टेयर से अधिक जमीन को सिंचाई की सुविधा मिलेगी। इसके अलावा जयपुर, अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, झालावाड़, कोटा और बूंदी जैसे 13 जिलों की 40 प्रतिशत आबादी को पीने का पानी भी उपलब्ध होगा। पीएम के अनुसार राज्य में चल रही मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना के तहत 4 हजार से अधिक के प्रोजेक्ट गांवों और शहरों में पूरे हो चुके हैं। साढ़े 12 हजार से अधिक गांवों तक पीने की पानी की सुविधा पहुंचाई गई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने गरीबों के सशक्तिकरण और विकास में भागीदारी का रास्ता अपनाया है, जिसके परिणाम दिखने लगे हैं। उन्होंने कहा कि एक वैश्विक रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते दो वर्षों में देश में 5 करोड़ लोग गरीबी के कुचक्र से बाहर निकल आए हैं। उन्होंने कहा कि गरीबी से मुक्ति के मार्ग पर देश के अग्रसर होने का कारण है, साफ नीयत, सही विकास। उन्होंने कहा कि जिनको परिवार की, वंशवाद की राजनीति करनी है वो करें, लेकिन देश की रक्षा और स्वाभिमान को शिखर पर ले जाने का हमारा निर्णय अटूट है और सरकार की नीतियां साफ हैं।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से जुड़ी और तस्वीरें देखिए-

LEAVE A REPLY