Home नरेंद्र मोदी विशेष यह भगवा समुद्र बता रहा है कि शरद पवार ने मैदान क्यों...

यह भगवा समुद्र बता रहा है कि शरद पवार ने मैदान क्यों छोड़ दिया- प्रधानमंत्री मोदी

87
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज महाराष्ट्र और गुजरात के चुनावी दौरे पर हैं। महाराष्ट्र के माढा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र, गुजरात और अन्य कुछ राज्यों में कल आए तूफान में कई लोगों की मृत्यु हुई है, किसानों की फसलों का भी नुकसान हुआ है। मैंने अफसरों से कहा है कि आम लोगों को जल्द से जल्द सहायता पहुंचाई जाए। जिन्होंने अपने स्वजन खोये हैं उन परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं। जो लोग दिल्ली में एयर कंडीशन कमरों में बैठकर कयास लगाते हैं, उन लोगों को धरती की सच्चाई पता ही नहीं है। अब समझ आया कि शरद पवार ने मैदान क्यों छोड़ दिया। शरद राव भी खिलाड़ी हैं, वो हवा का रुख जान लेते हैं। वो अपना नुकसान कभी नहीं होने देते। पीएम मोदी ने कहा कि भगवा के इस समुद्र को देखने के बाद अब मुझे पता चल गया कि पवार चुनाव मैदान से क्यों भाग गए। 

पीएम मोदी ने कहा, “आपने 2014 में भाजपा को जो पूर्ण बहुमत दिया, उसने मुझे ऐसी ताकत दी कि एक तरफ जहां देश के लिए बड़े-बड़े फैसले कर पाया तो दूसरी तरफ गरीब से गरीब के कल्याण के लिए पूरी शक्ति लगाकर काम कर पाया। मैंने पांच साल किस तरह सरकार चलाई, ये आपने देखा है। आपको फिर से तय करना है कि देश को मजबूत सरकार देंगे या कमजोर सरकार सह लेंगे। माढा वालों को मजबूत हिन्दुस्तान चाहिए या मजबूर सरकार चाहिए?”

पीएम मोदी ने कहा, “आप और हम मिलकर मजबूत भारत के लिए मजबूत सरकार बनाएंगे। एक ऐसा हिन्दुस्तान बनाएंगे, जिसकी तरफ आंख उठाकर देखने से पहले भी कोई सौ बार सोचेगा। एक ऐसा हिन्दुस्तान जो आतंक के सरपरस्तों को पाताल से खोजकर सजा देगा। हम एक ऐसा हिन्दुस्तान बनाएंगे, जिसके साथ दुनिया के शक्तिशाली देश भी कंधे से कंधा मिलाकर चलने में गर्व अनुभव करेंगे। जब भारत के सपूतों ने पाकिस्तान के बालाकोट में जाकर आतंकवादियों के ठिकानों को बर्बाद किया तो आपको गर्व हुआ कि नहीं हुआ !”   

केंद्र सरकार के विकास-कार्यों का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “गरीबों को अपना पक्का घर देने की बात हो, घर-घर में मुफ्त गैस कनेक्शन या शौचालय देने की बात हो, मुफ्त बिजली कनेक्शन हो- ये काम हमने प्राथमिकता में रखकर किया है। गरीबों को पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा भी मोदी सरकार ने दी। इसके अलावा, यहां कनेक्टिविटी हो या सिंचाई की व्यवस्था हो, इसके लिए पूरी ईमानदारी से प्रयास किए जा रहे हैं। देश के 5 करोड़ से ज्यादा गन्ना किसानों की चुनौतियों के स्थायी समाधान के लिए मोदी सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। गन्ना किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए चीनी के आयात पर सौ प्रतिशत शुल्क लगाया गया है। चीनी निर्यात करने की भी अनुमति दे दी गई है। गन्ने पर प्रति क्विंटल जो अतिरिक्त मदद सरकार के द्वारा दी जा रही है, वो भी सीधे-सीधे किसानों के खाते में जमा करने का फैसला हमने लिया है। केंद्र में फिर सरकार बनाने पर हम पानी की समस्या को खत्म करने के लिए विशेष जलशक्ति मंत्रालय बनाएंगे। माढा जैसे देश के सूखाग्रस्त इलाके के लिए यह मंत्रालय वरदान साबित होगा।”  

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत में महाराष्ट्र, गुजरात और देश के दूसरे हिस्से में मंगलवार रात को आए तूफान से जानमाल के नुकसान पर गहरा दुख जताया। जनसभा में उपस्थित लोगों से भारतीय जनता पार्टी को जिताने की अपील करते हुए उन्होंने कहा, “23 अप्रैल को कमल के फूल पर बटन दबाकर आपको मजबूत और ईमानदार सरकार के लिए वोट करना है, नए भारत के लिए वोट करना है। आपका एक-एक वोट सीधा-सीधा मोदी के खाते में जाएगा।”       

LEAVE A REPLY