Home नरेंद्र मोदी विशेष ‘Immature नामदार’ को क्या देश स्वीकार करेगा : प्रधानमंत्री मोदी

‘Immature नामदार’ को क्या देश स्वीकार करेगा : प्रधानमंत्री मोदी

198
SHARE

कर्नाटक में 12 मई को मतदान होना है, इससे पहले सभी दलों ने प्रचार ने पूरी ताकत झोंक दी है। बीजेपी की तरफ के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रचार अभियान की अगुवाई कर रहे हैं। पीएम मोदी ने बुधवार को कर्नाटक में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। चुनावी जनसभाओं में प्रधानमंत्री मोदी को सुनने के लिए भारी जनसैलाब उमड़ा था। बंगारपेट में अपनी पहली रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रधानमंत्री पद वाले बयान पर कहा कि यह बयान राहुल का अहंकार दर्शाता है, आखिर कोई खुद को पीएम पद का उम्मीदवार कैसे घोषित कर सकता है। श्री मोदी ने कहा कि उन्हें लगता है कि प्रधानमंत्री पद की कुर्सी एक परिवार के लिए रिजर्व है, उसमें कोई और आकर बैठ नहीं सकता है, यह उनका पैतृक हक है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या ऐसे ‘immature नामदार’ को देश की जनता स्वीकार करेगी?

कांग्रेस ने कर्नाटक की इज्जत को मिट्टी में मिलाया
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कर्नाटक प्रदेश हिन्दुस्तान की आन, बान और शान है। यहां के बेंगलुरु, कोलार, मंगलुरु की दुनिया में चर्चा है, लेकिन पांच साल के अंदर राज्य की कांग्रेस सरकार ने कर्नाटक की इज्जत को मिट्टी में मिला दिया। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस की छह बीमारियां 6-C कह कर गिनाया। उन्होंने कहा कि Congress Culture, Communalism, Casteism, Crime, Corruption, Contract System कांग्रेस पार्टी की 6 बीमारियां है। कांग्रेस को जब सरकार में आने का मौका मिलता है तो वह ये मानकर चलती है कि देश की जनता ने उन्हें करप्शन-बेईमानी और भाई-भतीजावाद करने का कॉन्ट्रैक्ट दे दिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मनमोहन सिंह जब 10 वर्षों तक प्रधानमंत्री थे, तो रिमोट कंट्रोल 10 जनपथ में होता था। भाजपा की सरकार का भी रिमोट कंट्रोल है लेकिन इसका रिमोट कंट्रोल सवा सौ करोड़ हिन्दुस्तानी हैं, यही भाजपा का हाईकमान है और ये हाईकमान जैसा कहेगा वैसा ही किया जाएगा क्योंकि लोकतंत्र में जनता जनार्दन ही हाईकमान है।

प्रधानमंत्री कुर्सी पर पैतृक हक समझता है एक परिवार
श्री मोदी ने कहा कि आज पूरा देश कांग्रेस के कल्चर, उसके कारनामे और उसकी नीयत को भलीभांति पहचान गया है। कांग्रेस के कारनामों का पता चलने के साथ देश भर में लोग गाजे-बाजे के साथ उसे विदाई देने में लगे हैं और अब विदाई देने की बारी कर्नाटक की आई है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि खुद को प्रधानमंत्री घोषित करने वाला कांग्रेस नेता का बयान कांग्रेस के आंतरिक लोकतंत्र की पोल खोलने वाला है। उन्होंने पूछा कि मोदी को हटाने के लिए गठबंधन की मीटिगें चल रही हैं, बड़े बड़े दिग्गजों के पैर पकड़े जा रहे हैं, लेकिन इन सारे दिग्गजों को अंधेरे में रखकर खुद को प्रधानमंत्री घोषित कर देना गठबंधन में अविश्वास है कि नहीं? उन्होंने पूछा कि क्या ऐसे ‘immature नामदार’ को देश की जनता स्वीकार करेगी? श्री मोदी ने कहा कि उन्हें लगता है कि प्रधानमंत्री पद की कुर्सी एक परिवार के लिए रिजर्व है, उसमें कोई और आकर बैठ नहीं सकता है, यह उनका पैतृक हक है।

लोगों को बांटने का पाप कर रही है कांग्रेस
चिकमंगलूर की जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कर्नाटक एकता, समरसता और अद्वैत का सिंद्धांत देने वाली धरती है, लेकिन कांग्रेस पार्टी यहां जाति, भाषा, संप्रदाय के नाम पर बांटने का पाप कर रही है। श्री मोदी ने कहा कि इस परिवार का दूर-दूर तक लोकतंत्र से कोई लेनादेना नहीं है, इसलिए ये लोकतंत्र की हर बात को नकारने का मौका ढूंढते रहते हैं।

ईवीएम, EC, CBI, ED, आर्मी सब Wrong सिर्फ कांग्रेस Right
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले कई चुनावों से कांग्रेस लगातार हार रही है और चुनाव में पराजय के तुरंत बाद कांग्रेस ईवीएम को दोषी ठहराने के लिए जोर-जोर से झूठ बोलती है। इलेक्शन कमीशन जैसी महान संस्था को भी बदनाम करने में जुटी हुई है। सीएजी ने घोटालों का खुलासा किया तो कांग्रेस का पूरा इकोसिस्टम सीएजी को बदनाम करने में लग गया। जब देश की आर्मी कांग्रेस सरकारों के बोफोर्स जैसे कुकर्मों में साथ देने से मना करती है तो कांग्रेस आर्मी और आर्मी चीफ को बदनाम करने में लग जाती है। जब भारत की सेना सर्जिकल स्ट्राइक करती है तो कांग्रेस बेशर्मी से आर्मी को गलत करने का दुस्साहस करती है। जब देश में चुने हुए उपराष्ट्रपति अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी निभाते हैं और कांग्रेस के गलत कामों में अपने आपको नहीं जोड़ते हैं तो वे अब उपराष्ट्रपति को भी गालियां देने लगे हैं।

श्री मोदी ने कहा कि जब हमारे सुरक्षा बल, पुलिस आतंकियों को मारते हैं, माओवादियों को मारते हैं तो कांग्रेस वाले सुरक्षाबलों का मनोबल तोड़ने के लिए उन पर भी सवालिया निशान पैदा करते हैं। जब वर्ल्ड बैंक ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में 42 अंक का सुधार होने पर भारत का गुणगान करती है तो कांग्रेस वाले उस पर भी शक करते हैं। जब क्रेडिट रेटिंग एजेंसियां, वर्ल्ड बैंक, आईएमएफ, मूडीज भारत के लिए अच्छी बात बताते हैं ये कह देते हैं कि मोदी ने दुनिया की सारी एजेंसियों को खरीद लिया है। श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस की पूर्व प्रमुख मां और उनका बेटा जब से 5 हजार करोड़ के घोटाले में जमानत पर छूटे हैं, तब से उन्होंने देश की न्यायपालिका पर हमला बोल दिया है।

फर्जी वोटर कार्ड और पर्चियों का जिक्र किया
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कर्नाटक में हजारों की संख्या में मिए फर्जी वोटर आई कार्ड और लाखों फर्जी चुनाव पर्चियों को जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी भी तरह से चुनाव जीतना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का हमेशा यह रवैया रहा है, उसे लोकतंत्र में कतई विश्वास नहीं है। श्री मोदी ने पिछले दिनों कर्नाटक में अलग-अलग जगहों पर 130 करोड़ रुपये की नगदी और सोने के बिस्किट मिलने का भी जिक्र किया है और कहा कि कांग्रेस के लोग चुनाव को प्रभावित करने के लिए धनबल का उपयोग कर रहे हैं। लेकिन कर्नाटक की जनता इसबार कांग्रेस पार्टी को सबक सिखाकर रहेगी। श्री मोदी ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव सिर्फ इसके लिए नहीं है कि कौन सी पार्टी जीतती है और कौन सी हारती है, बल्कि यह चुनाव कर्नाटक के अगले पांच सालों के भविष्य का फैसला करने के लिए है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव फैसला करेगा कि कर्नाटक के नौजवानों का भाग्य कैसा बनेगा।

किसानों का कल्याण प्राथमिकता
प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि बागवानों, किसानों को मूल्य वृद्धि का अवसर मिले, इसके लिए किसान संपदा योजना के तहत केंद्र सरकार ने हॉर्टिकल्चर को बढ़ावा देने का बीड़ा उठाया है। इसके साथ ही एक लाख करोड़ रुपये से बंद पड़ी पानी की योजनाओं को प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत शुरू किया जा रहा है। इसके तहत कर्नाटक में भी 4,000 करोड़ रुपये की लागत से पांच सिंचाई प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है, जिनमें से एक परियोजना का काम पूरा हो चुका है। श्री मोदी ने कहा कि कोलार में आम के बगीचे हैं, रास्ते अच्छे नहीं होने से मंडी तक पहुंचने से पहले ही आम खराब हो जाता है, इसके लिए केंद्र सरकार ने रोड और रेल सुविधाओं को बढ़ाने पर बल दिया है।

मेनिफेस्टो के एक-एक वादे को लागू किया जाएगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक की कॉफी अच्छे-अच्छों की थकान उतार देती है, लेकिन ये कॉफी बोर्ड अब तक राजकीय खेल का मैदान बना था, पहली बार भाजपा की सरकार बनने के बाद कॉफी बोर्ड का चेरमैन एक किसान को बनाया है। श्री मोदी ने कहा कि भाजपा ने अपने मेनिफेस्टो में वादा किया है कि कॉफी, सुपारी, गन्ना, धान पैदा करने वाले किसानों के लिए सीएम दफ्तर में एक रायता विभाग शुरू करेंगे और किसानों की चिंताओं को दूर करेंगे। उन्होंने कहा कि कर्नाटक के समुद्री तट का विकास, सागरमाला प्रोजेक्ट, ब्लू इकोनॉमी का रिवोल्यूशन भारत सरकार के एजेंड में है और कर्नाटक में भाजपा के एजेंडे में भी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कर्नाटक के कोस्टल इलाके में 8 पोर्ट का कैपेसिटी एक्सपेंशन, करीब 3 हजार करोड़ रुपये की लागत से 300 लाख टन की क्षमता का निर्माण करने कि दिशा काम कर रही है। बेलीकेरी में एक नया पोर्ट बनाने का भी हमारा फैसला है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक का संपूर्ण विकास हो इसके लिए भाजपा वचन लेकर आई है और समय सीमा में उन्हें पूरा भी करेंगे। प्रधानमंत्री ने स्वच्छ, सुंदर और सुरक्षित कर्नाटक के लिए भाजपा के पक्ष में वोट देने की अपील की।

LEAVE A REPLY