Home समाचार मास ट्रांसपोर्टेशन, रैपिड ट्रांसपोर्टेशन, मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्टेशन समय की मांग – प्रधानमंत्री मोदी

मास ट्रांसपोर्टेशन, रैपिड ट्रांसपोर्टेशन, मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्टेशन समय की मांग – प्रधानमंत्री मोदी

261
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आज के युग में कनेक्टिविटी के बिना जिंदगी ठहर जाती है। यूपी के नोएडा में बोटेनिकल गार्डन से दिल्ली के कालिका मंदिर मजेंटा मेट्रो लाइन के लोकार्पण के अवसर पर उन्होंने ये बातें कही हैं। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्थाएं दूरगामी होती हैं। आने वाले 100 सालों तक या कई पीढ़ियों तक इसका आम नागरिक को लाभ मिलने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कनेक्टिविटी की ये व्यवस्थाएं सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय होते हैं। प्रधानमंत्री ने अपने यूपी आगमन पर कहा कि इस राज्य ने मुझे गोद लेकर मेरा लालन पालन किया है, शिक्षा दीक्षा की है और नई जिम्मेदारियों के लिए ढाला है।

मेट्रो ट्रैवलिंग प्रतिष्ठा का विषय बनना चाहिए- प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री ने मास ट्रैवलिंग की जरूरत पर जोर देते हुए कहा है कि पेट्रोलियम की खरीदारी में देश का बहुत सारा धन लग रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार इस प्रयास में लगी है कि 2022 तक पेट्रोलियम आयात का खर्च कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मेट्रो का बहुत लाभ मिलेगा। बोटेनिकल गार्डन-कालकाजी मेट्रो लाइन के बारे में उन्होंने कहा कि इससे 2 MW सोलर बिजली उत्पादित होगी, जिससे मेट्रो का खर्च कम होगा और पर्यावरण को भी फायदा होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे चाहते हैं कि मेट्रो से यात्रा करना प्रतिष्ठा का विषय बन जाय। इसके लिए मानसिकता में बदलाव लाना होगा। उन्होंने कहा कि इससे देश को कई समस्याओं को बचा सकते हैं। इस मौके पर उन्होंने मास ट्रांस्पोर्टेशन, रैपिड ट्रांस्पोर्टेशन और मल्टीमॉडल ट्रांस्पोर्टेशन को समय की मांग बताया। 

मेट्रो में बड़े उद्योगपति नहीं, आम लोग यात्रा करते हैं- प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि हमारे लिए गर्व की बात है कि 24 दिसंबर, 2002 को पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी इस देश के सबसे पहले मेट्रो पैसेंजर बने थे। 15 साल बाद यहां 100 किमी से भी ज्यादा मेट्रो नेटवर्क फैल चुका है और वह दिन दूर नहीं जब दुनिया के 5 बड़े नेटवर्क में यह मेट्रो भी शामिल होगा। यह देशवासियों के लिए गौरव की बात है कि आने वाले समय में देश के 50 से अधिक शहरों में मेट्रो का नेटवर्क होगा। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि मेट्रो में देश के टॉप 10 उद्योगपति नहीं आम नागरिक यात्रा करते हैं और वे भी यहां जनता के लिए ही आए हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री खुद एक बार फिर से मेट्रो में सफर करना भी नहीं भूले।

विज्ञान एवं तकनीक के युग में अंधश्रद्धा के लिए जगह नहीं- प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अंधविश्वास को तोड़कर नोएडा पहुंचने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि योगी जी उत्तर प्रदेश को गुड गवर्नेंस के जरिए उत्तम तरीके से आगे बढ़ा रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि उनके कपड़ों को लेकर जो भ्रम फैलाया गया, योगी जी ने अपने आचरण से उन्हें गलत सिद्ध कर दिया। दरअसल, इससे पहले यूपी के कोई सीएम इसलिए नोएडा नहीं आते थे, क्योंकि ऐसी मान्यता फैलायी गई थी कि ऐसा करने वालों की कुर्सी चली जाती है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि जो सीएम कुर्सी जाने के भय से कहीं जाने से बचते हैं उन्हें सीएम पद पर रहने का हक नहीं है। क्योंकि मान्यताओं में कैद होकर समाज कभी प्रगति नहीं कर सकता। इस मौके पर उन्होंने गुजरात में मुख्यमंत्री रहते अपने कार्यकाल के बारे में भी बताया कि किस तरह से उन्होंने इन मिथकों को तोड़ा और वहां सबसे अधिक कार्यकाल तक सीएम रहने का गौरव प्राप्त किया। मोदी जी के अनुसार श्रद्धा का अपना स्थान है, लेकिन अंधश्रद्धा का विज्ञान और तकनीक के इस युग में कहीं जगह नहीं है।

इस अवसर पर उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी के जन्मदिन पर उनको याद करते हुए उनके गुड गवर्नेंस का जिक्र भी किया। उन्होंने अटल जी द्वारा शुरू किए गए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और स्वर्णिम चतुर्भुज सड़क योजना का विशेष रूप से हवाला दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह देश गरीब नहीं है, यह देश संपन्न और समृद्ध है, जिससे जनता को अलग रखा गया है। दरअसल समस्याओं का एक महत्वपूर्ण कारण है सुशासन का अभाव। उन्होंने कहा कि हर बात में राजनीति नहीं होनी चाहिए, क्योंकि इससे देश का नुकसान होता है। उन्होंने विकासोन्मुख सुशासन पर जोर देते हुए कहा कि, विकास सर्व समावेशक हो, विकास सर्वस्पर्शी हो,विकास सार्वदेशिक हो। यह सबका साथ, सबका विकास, सबकी भागीदारी के साथ आने वाले भविष्य को ध्यान में रखकर होना चाहिए। इस अवसर उन्होंने देश को सुशासन के पथ पर अग्रसर करने के लिए अटल जी को ‘भारत मार्ग विधाता’ कह कर सम्मानित किया।

प्रधानमंत्री के इस कार्यक्रम से जुड़ी बाकी तस्वीरें देखिए-

LEAVE A REPLY