Home चार साल बेमिसाल साईं की नगरी से पीएम का महाराष्ट्र के 2.5 लाख परिवारों को...

साईं की नगरी से पीएम का महाराष्ट्र के 2.5 लाख परिवारों को पक्के मकान का तोहफा

187
SHARE

साईं की समाधि के शताब्दी वर्ष समारोह के समापन के मौके पर महाराष्ट्र के शिरडी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के 2.5 लाख गरीब परिवारों को पक्के मकान का तोहफा दिया। प्रधानमंत्री ने साईं मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद यहां नए भवन, 159 करोड़ रुपये की लागत से विशाल शैक्षणिक भवन, प्लेनेटेरियम, वैक्स म्यूजियम, साईं उद्यान, 10 मेगावाट की सोलर पावर यूनिट और थीम पार्क समेत कई परियोजनाओं का लोकार्पण करने के साथ ही भूमि-पूजन भी किया। उन्होंने कहा कि “शिरडी तात्या पाटील, माधवराव देशपांडे और तुकाराम जैसे महापुरुषों की धरती है और मैं इन्हें नमन करता हूं।”

‘शिरडी के कण-कण में साईं का मंत्र’
पीएम मोदी ने अपना भाषण ओम साईं नाथ कह कर शुरू किया। उसके पश्चात महाराष्ट्र समेत पूरे देश और जन-जन को विजयादशमी की शुभकामनाएं दी। विजयादशमी की बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि “जैसे सब अपनों के साथ त्योहार मनाना चाहते हैं, वैसे ही मेरा प्रयास रहता है कि हर त्योहार देशवासियों के बीच जाकर मनाऊं। आपका अपनत्व ही मेरी सामर्थ्य है और आपका प्यार मुझे शक्ति देता है।”
इस मौके पर पीएम ने कहा कि- “पूज्य साईं बाबा का दर्शन करता हूं तो जनसेवा की भावना जगती है, नया उत्साह इस भूमि पर से मिलता है।” उन्होंने कहा कि “शिरडी के कण-कण में साईं का मंत्र है, सबका मालिक एक। साईं समाज के थे समाज साईं का था।”

महाराष्ट्र सरकार को पीएम ने दी बधाई
जनकल्याण के कई प्रोजेक्ट्स का डिजिटल अनावरण करने के बाद पीएम ने कहा कि- “मैं महाराष्ट्र सरकार को बधाई देता हूं। गरीबों के कल्याण की इतनी बड़ी योजना के लिए इससे बढ़कर कोई जगह नहीं हो सकती। साईं के चरणों में बैठकर गरीबों के लिए काम करना, इससे बड़ी धन्यता क्या हो सकती है। इसलिए महाराष्ट्र सरकार बधाई की पात्र है।”

पीएम ने अपने हाथों से सौंपी चाबी
बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक दशहरा के पावन अवसर पर प्रधानमंत्री ने शिरडी में ही कई गरीब लाभार्थियों को अपने कर कमलों से मकान की चाबी सौंपी। उसके बाद पीएम डिजिटल माध्यम से महाराष्ट्र के नंदुरबार, सोलापुर, नागपुर, ठाणे, सातारा और लातूर के लाभार्थियों से सीधे संपर्क किया और उनसे उनकी राय जानी कि पक्के मकान मिलने के बाद उन्हें कैसा महसूस हो रहा है।

पीएम ने पूछा, रिश्वत तो नहीं देनी पड़ी
नंदूरबार की एक लाभार्थी महिला से तो पीएम ने सीधे ये पूछ लिया कि मकान की चाबी मिलने की पूरी प्रक्रिया में क्या किसी को एक रुपये की भी रिश्वत देनी पड़ी? जवाब नहीं में मिला तो पीएम मोदी ने कहा कि- “मुझे खुशी है कि आज देश में ऐसा वातावरण बना है कि बिचौलिए खत्म हो रहे हैं इसलिए वे परेशान भी हैं।”

नाम लिए बगैर कांग्रेस पर निशाना
पीएम ने कहा कि “कोशिशें पहले भी हुईं हैं लेकिन दुर्भाग्य से उनका लक्ष्य गरीबों को घर देकर उन्हें सशक्त करने की बजाए एक विशेष परिवार के नाम का प्रचार करना था। यही उनका मकसद था, वोट बैंक तैयार करना।” प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि “पिछली सरकार ने आखिरी 4 साल में केवल 25 लाख घर बनाए थे जबकि हमारी सरकार ने पहले चार सालों में 1 करोड़ 25 लाख घर बनाए हैं। अगर वही सरकार होती तो इतने घर बनाने में 20 साल लग जाते।” पीएम ने ये भी कहा कि पहले की सरकार में एक घर बनाने में 18 महीने का समय लगता था जबकि इस सरकार में 1 साल से भी कम समय लगता है।

आयुष्मान भारत का भी किया जिक्र
नागपुर जिले के लाभार्थियों से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना का जिक्र किया और पूछा कि मेरी भेजी हुई चिट्ठी आपको मिली है या नहीं। पीएम ने कहा कि अगर नहीं मिली है तो मिल जाएगी और स्वयं ही उन्हें ये समझाया कि कैसे इस योजना का लाभ गरीब परिवारों को मिल रहा है और आगे भी मिलेगा।

अपने संबोधन के आखिर में पीएम ने कहा कि “तोड़ना आसान होता है जोड़ना बहुत मुश्किल होता है। हमें जोड़ने वाली शक्ति को सशक्त करना है तोड़ने वाली ताकतों को परास्त करना है। सबका साथ सबका विकास और एक श्रेष्ठ भारत का यही संकल्प इस विजयादशमी को हमें लेना है।“

LEAVE A REPLY