Home नरेंद्र मोदी विशेष 2022 के लिए हर नागरिक एक संकल्प लें – प्रधानमंत्री मोदी

2022 के लिए हर नागरिक एक संकल्प लें – प्रधानमंत्री मोदी

387
SHARE

इलाहाबाद हाईकोर्ट के 150वें समापन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने न्यायिक व्यवस्था से जुड़े लोगों से देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर संकल्प लेने का आह्वान किया। और कहा कि 2022 में देश को इलाहाबाद से कोई प्रेरणा मिल सकेगी। साथ ही पीएम ने कानूनी प्रक्रिया को डिजिटल बनाने पर भी जोर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के 150 साल पूरे होने पर कहा कि इलाहाबाद न्याय विश्व का एक तीर्थ स्थल है और नए भारत के सपने को पूरा करने की एक बहुत बड़ी ताकत बन सकता है। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर स्वर्गीय सर्वपल्ली राधाकृष्ण का जिक्र करते हुए कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के 100 साल पूरे होने पर जो कहा था वो आज भी प्रासंगिक है कि कानून एक ऐसी पीठ है जो लगातार बदलती रहती है और कानून लोगों के स्वभाव और पारंपरिक मूल्यों के अनुरूप होना चाहिए, साथ ही कानून का लक्ष्य सभी लोगों का कल्याण होना चाहिए न सिर्फ अमीर लोगों का कल्याण नहीं। देश के हर नागरिक का कल्याण और इसे पूरा किए जाने का प्रयास किया जाना चाहिए।

इस मौके पर गांधी जी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि क्या सही है कि गलत है इसकी कसौटी क्या है, इसके लिए गांधी जी ने सरकार के लिए कहा था कि अगर हिंदुस्तान के आखिरी क्षोर पर बैठे नागरिक पर आपके फैसले का गलत असर नहीं पड़ता तो आप आगे बढ़ सकते है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से गांधी जी ने हर हिंदुस्तानी का जज्बा जगाया था क्या, जब देश 2022 में आजादी के 75 साल पूरे करेगा तो इलाहाबाद से देश को प्रेरणा मिल सकती है।

प्रधानमंत्री ने देश के नागरिकों से अपील की कि जो जहां है वो वहां ही 2022 का अपना कोई रोडमेप यानि संकल्प तय कर ले तो परिणाम निश्चित ही देश हित में होंगे।साथ ही प्रधानमंत्री ने देश की कानून व्यवस्था में तेजी लाने के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ने का भी आह्वान किया।

LEAVE A REPLY